/>

Breaking

Saturday, August 29, 2020

कोरोना काल में केयू का कुटा चुनाव:केयू शिक्षक संघ की कार्यकारिणी परिषद में कुटा चुनाव 19 को कराने का लिया फैसला

कोरोना काल में केयू का कुटा चुनाव:केयू शिक्षक संघ की कार्यकारिणी परिषद में कुटा चुनाव 19 को कराने का लिया फैसला

कोरोना महामारी दिनोंदिन बढ़ती जा रही है। ऐसे में कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी में केयू शिक्षक संघ कुटा के चुनाव की डुगडुगी बज गई है। केयू शिक्षक संघ कुटा की कार्यकारिणी परिषद में कई सदस्यों ने सितंबर में चुनाव करवाने को लेकर बात रखी। इस पर कार्यकारिणी की ओर से प्रशासन को कुटा का चुनाव करवाने को लेकर पत्र लिखा गया है। जिसमें सितंबर में चुनाव करवाने की अनुमति मांगी गई है। वहीं केयू शिक्षक संघ कुटा के प्रधान डॉ. संजीव शर्मा ने केयू की कार्यवाहक कुलपति डॉ. नीता खन्ना को पत्र लिखकर प्रशासन पर चुनाव करवाने या न करवाने का निर्णय छोड़ दिया है। अब केयू प्रशासन को तय करना है कि कोरोना महामारी के बढ़ते दायरे के बीच कुटा के चुनाव सितंबर में कैसे करवाए जाएंगे।

जिले में रोजाना आ रहे 50 से अधिक केस| अगस्त का महीना शुरू होने के बाद से जिलेभर में कोरोना के रोजाना औसतन 50 केस आ रहे हैं। ऐसे में कोरोना का पीक जिले में अब शुरू हुआ है। वहीं कोरोना 30 लोगों की जिंदगी भी निगल चुका है। कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी में 360 शिक्षक हैं। ऐसे में चुनाव के दौरान चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों को सभी शिक्षकों से मिलना भी होगा। कोरोना के दौर में चुनाव के चलते नजदीकी खतरनाक साबित हो सकती है।
मार्च में होना था कुटा चुनाव| केयू शिक्षक संघ कुटा की वर्तमान कार्यकारिणी का कार्यकाल मार्च तक था। मार्च के महीने में कोरोना के कारण लॉकडाउन लग गया। जिसके चलते कुटा के चुनाव टल गए थे।
अंतिम फैसला प्रशासन पर है - शर्मा | केयू शिक्षक संघ के प्रधान डॉ. संजीव शर्मा ने कहा कि कुटा ईसी की बैठक में सदस्यों की ओर से चुनाव करवाने की बात रखी गई थी। प्रशासन पर चुनाव करवाने का जिम्मा छोड़ा गया है। उन्होंने माना कि कोरोना महामारी लगातार बढ़ रही है। इसके चलते कई शिक्षक कोरोना की स्थिति ठीक होने के बाद चुनाव करवाने के पक्ष में हैं। इसलिए चुनाव कैसे करवाए जाएं इसे लेकर अंतिम फैसला प्रशासन पर छोड़ा गया है।

No comments:

Post a Comment