/>

Breaking

Sunday, August 30, 2020

एमडीयू यूनिवर्सिटी:यूजी स्टूडेंट्स को 1:45 घंटे में हल करने होंगे बहु विकल्पीय प्रश्न, पीजी को देने होंगे 3 प्रश्नों के विस्तृत उत्तर

एमडीयू यूनिवर्सिटी:यूजी स्टूडेंट्स को 1:45 घंटे में हल करने होंगे बहु विकल्पीय प्रश्न, पीजी को देने होंगे 3 प्रश्नों के विस्तृत उत्तर

एमडीयू में 11 सितंबर से ऑफलाइन और ऑनलाइन होगी परीक्षा, दोनों मोड में परीक्षा करवाने के लिए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर बनाई गई।

रोहतक : केयू और दूसरी विवि के बाद एमडीयू ने भी फाइनल की परीक्षा कराने का प्लान तैयार किया है। एमडीयू प्रदेश के 1.36 लाख छात्रों की ऑनलाइन व ऑफलाइन परीक्षा लेगा। यह परीक्षाएं 11 सितंबर से 30 तक होंगी। डेटशीट बनाई जाना बाकी है। दोनों मोड में परीक्षा करवाने के लिए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर (एसओपी) बनाई है। ऑफलाइन के लिए विवि के विभागों व कॉलेज में केंद्र बनाए जाएंगे। परीक्षार्थियों को सोशल डिस्टेंसिंग के लिए एक बेंच छोड़कर बैठाया जाएगा। बेंचों के बीच में 2 गज की दूरी बनाई जाएगी। जो स्टूडेंट्स ऑनलाइन चुनेगा, उसे ऑनलाइन तरीके से ही परीक्षा दिलवाई जाएगी और ऑफलाइन वालों के लिए परीक्षा केंद्र में व्यवस्था की जाएगी। वहीं, जिन्होंने कोई भी विकल्प नहीं चुना या सर्वे में भाग नहीं लिया है तो उन्हें ऑफलाइन में ही गिना जाएगा।

यूजी के इन काेर्स में होंगे बहुविकल्पीय प्रश्न

यूजी कोर्स के छठे सेमेस्टर, दूरस्थ शिक्षा एनुअल स्कीम के बीए, बीकाम के थर्ड ईयर, बीएड सेकेंड ईयर की परीक्षा मल्टीपल च्वाइस क्वेश्चन यानी बहु विकल्पीय प्रश्नों के आधार पर होगी। परीक्षा दो शिफ्ट में होगी। ऑफलाइन मोड में सुबह 10 बजे से 11:45 बजे तक समय रहेगा। शाम को 2 बजे से 3:45 बजे तक होगा। ऑनलाइन परीक्षा के लिए शिफ्ट के समय में 15 मिनट अतिरिक्त मिलेंगे, ताकि पीडीएफ अपलोड कर सकें। इस बार एक ही विषय के दो या तीन अलग-अलग पेपर नहीं होंगे। एक ही विषय का एक ही पेपर होगा। एक पेपर में 50 प्रश्न होंगे।

पीजी में 3 विवरणात्मक प्रश्नाें का देना हाेगा उत्तर

पीजी फाइनल सेमेस्टर व वर्ष की 11 सितंबर से सभी कोर्स की परीक्षा होगी। इसमें पीजी कोर्स, बीबीए, बीसीए, ऑनर्स कोर्स, एमबीए की परीक्षा करवाई जाएगी। इसके लिए विवरणात्मक प्रश्नों काे हल करना हाेगा। कुल 8 या 9 प्रश्नों में से 3 प्रश्न अनिवार्य होंगे। ऑफलाइन परीक्षा के लिए 1:45 घंटे का समय होगा। ऑफलाइन में केंद्र पर उत्तरपुस्तिका मिलेगी। एक सितंबर से 10 सितंबर तक प्रैक्टिकल एग्जाम होंगे। 7 से पीएचडी व एमफिल कोर्स वर्क के पेपर होंगे।

ऑफलाइन के लिए यह होगी एसओपी


स्टूडेंट्स को मास्क लगाकर परीक्षा देनी होगी।

खुद की सैनिटाइजर बोतल साथ लानी होगी।

पीने के पानी की बोतल भी अपनी ही लेकर जाएंगे।

अन्य स्टेशनरी सामान भी अपना ही लाना होगा, किसी से कुछ लेने की छूट नहीं होगी।

ऑनलाइन में यह लागू हाेगी गाइडलाइन

स्टूडेंट्स को सुनिश्चित करना होगा कि उनके लैपटॉप, कंप्यूटर, एंड्राइड मोबाइल फोन पर सुचारु रूप से काम कर रहा कैमरा उपलब्ध हो।

कैमरे पर अपना सरकारी पहचान प्रमाण-पत्र दिखाना होगा।

सभी स्टूडेंट परीक्षा के दौरान कैमरे की निगरानी में रहेंगे।

कैमरा के जरिए निगरानी में यदि कोई स्टूडेंट्स किसी अनुचित कार्रवाई में लिप्त मिला तो उसकी परीक्षा रद्द कर दी जाएगी।

एक समय पर स्क्रीन पर एक ही बहुविकल्पीय प्रश्न उपलब्ध होगा। हालांकि, किसी प्रश्न से आगे बढ़ना और पिछले प्रश्न पर वापस आने की सुविधा स्टूडेंट्स को होगी।

रायशुमारी जानकर लिया गया है फैसला

एमडीयू फाइनल ईयर व सेमेस्टर की दोनों मोड में परीक्षाएं करवाएगा। परीक्षा का मोड जानने के लिए पहली बार एमडीयू ने ही स्टूडेंट्स से रायशुमारी की। छात्र को विकल्प खुद चुनना होगा। -डॉ. बीएस सिंधु, परीक्षा नियंत्रक, एमडीयू।

No comments:

Post a Comment