/>

Breaking

Friday, August 28, 2020

सेक्टरों के हालात:आधी सड़क तक फैली रहती निर्माण सामग्री, होते रहते हैं हादसेे,

सेक्टरों के हालात:आधी सड़क तक फैली रहती निर्माण सामग्री, होते रहते हैं हादसेे, इधर नगर परिषद क्षेत्र में बिना अनुमति हो रहे हैं अवैध निर्माण, अब नोटिस की तैयारी

जीन्द : ( गौतम सत्यराज )सेक्टरों में सड़कों पर निर्माण सामग्री डालने वालों ने 12 फीट की सड़कें छह फीट बना दिया है। आए दिन कहीं न कहीं वाहन सवार विशेषकर बाइक सवार हादसा ग्रस्त होते हैं, लेकिन जिम्मेदार विभाग इसपर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। जबकि हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण नक्शा पास करते समय ही मलबा डालने के नाम पर 5 से 50 हजार चार्ज वसूलता है। नियमानुसार मलबा केवल सड़क के साथ लगते बर्म पर डाला जा सकता है। लेकिन उसके अधिकारी कभी इसकी जांच करने नहीं जाते।

कार्रवाई करना तो दूर किसी के खिलाफ एक नोटिस तक जारी नहीं हो रही है। सेक्टर 6,7, 8 व 9 में ऐसी कोई सड़क नहीं है जिस पर निर्माण सामग्री या मलबा ना पड़ा हो। पिछले दिनों अर्बन एस्टेट में डीएवी स्कूल के पास सड़क पर पड़ी निर्माण सामग्री के कारण एक कार पलट गई थी। सेक्टरों में मकान बनाने के लिए हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण में नक्शा व अन्य दस्तावेजों को जमा कराया जाता है, उसी समय अन्य फीस के साथ ही प्लाॅट के साइज के हिसाब से मलबा चार्ज भी वसूल लेता है।

नियम बने हैं लेकिन किताबों में हैं

हरियाणा नगरपालिका अधिनियम 1973 के तहत निर्माण कार्य करने से पहले नगर परिषद से मंजूरी लेनी होती है। बिना अनुमति निर्माण करने पर बिल्डिंग प्लान अधिनियम की धारा 208 हरियाणा नगरपालिका अधिनियम 1973 के तहत निर्माण करने बंद करवाया जा सकता है? 7 दिनों में दस्तावेज उपलब्ध नहीं करवाने पर निर्माण गिराया भी जा सकता है।

सर्वे कर दिए जाएंगे नोटिस

नगर परिषद में बिल्डिंग इंसपेक्टर का पद खाली था अभी नियुक्ति हुई है। बिना अनुमति निर्माण करने वालों का सर्वे कर उन्हें नोटिस दिए जाएंगे। पालिका बाजार में हो रहे निर्माण पर सामग्री रोड पर रखकर जाम लगा हुआ था। जेई को सामान जब्त करने के निर्देश दिए गए हैं। -डॉ. सुशील कुमार, जिला नगर आयुक्त, जींद

दिए जाते हैं नोटिस : सर्वेयर

जो लोग मलबा चार्ज जमा करवाते हैं, वह बिना गली अवरुद्ध किये अपने घर या दुकान के आगे समान रख सकते हैं। गली या सड़क के बीच मे सामान रखने वालों को नोटिस भी दिए जाते हैं। -सतबीर, सर्वेयर, हुडा, जींद

No comments:

Post a Comment