/>

Breaking

Thursday, September 24, 2020

पार्षद और मेयर हुए एकजुट:1 घंटा चला मंथन, मीटिंग में बाेले- जिस अधिकारी ने एंट्री बैन की वो माफी मांगे

पार्षद और मेयर हुए एकजुट:1 घंटा चला मंथन, मीटिंग में बाेले- जिस अधिकारी ने एंट्री बैन की वो माफी मांगे

  HISAR ; टैक्स ब्रांच पर अंदर से ताला लगाकर बैठे कर्मचारियाें का विराेध करने वाले दाेनाें पार्षदाें पर नगर निगम के ईओ द्वारा एफआईआर के लिए पुलिस काे लिखे जाने के मामले में पार्षद व मेयर एकजुट हाे गए हैं। उन्हाेंने जनता व जनप्रतिनिधियाें के साथ हाे रहे दुर्व्यवहार पर कहा कि अधिकारियाें व कर्मचारियाें ने उनके मान सम्मान काे ठेस पहुंचाई है ऊपर से पुलिस काे कार्रवाई के लिए लिखा जाना निंदनीय है।

मेयर गाैतम सरदाना की अध्यक्षता में बुधवार शाम काे हुई मीटिंग में फैसला हुआ कि अगर एंट्री बैन करने वाले अधिकारी ने गलती नहीं मानी ताे अब आर-पास की लड़ाई हाेगी। वे इस मामले काे लेकर मंत्री अनिल विज के पास जाएंगे। सभी पार्षदाें ने एकजुट हाेकर कहा कि मेयर पूरे मामले का प्रतिनिधित्व करेंगे और सभी तरह के अधिकार उनके पास हैं।

पार्षद, अधिकारी एवं सभी कर्मचारी जनता की सेवा के लिए नगर निगम में आते हैं, सभी का कर्तव्य हो जाता है जनता की सभी समस्या का समाधान करें। पार्षदों की एंट्री बैन का आदेश देना गलत निर्णय है। इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। पार्षद जनता का चुना हुआ प्रतिनिधि होता है। जनता के कार्य के लिए ही निगम में आता है। पार्षद सभी ब्रांचों में जनता के काम के लिए जा सकते हैं। कमिश्नर से मिलकर मामला सुलझाया जाएगा। -गाैतम सरदाना, मेयर।

इधर पुलिस पहुंची निगम कर्मचारी के बयान दर्ज किए


एचएयू चाैकी पुलिस ने निगम कार्यालय पहुंचकर कर्मचारियाें के बयान दर्ज किए हैं। कर्मचारियाें ने इस मामले में पार्षदाें के खिलाफ बयान दिए हैं। ईओ कार्यालय में बैठकर कर्मचारियाें ने पुलिस काे लिखित बयान दिए हैं। नगर पालिका कर्मचारी यूनियन के प्रधान प्रवीन कुमार ने कहा है कि अब पुलिस कार्रवाई कर रही है जिससे कर्मचारी संतुष्ट हैं। ऐसे में 24 सितंबर काे स्ट्राइक नहीं की जाएगी।

No comments:

Post a Comment