/>

Breaking

Wednesday, September 23, 2020

हांसी में डीएसपी और चेयरमैन भिड़े:चेयरमैन बोले- डीएसपी ने गाली दी, एफआईआर की धमकी भी, डीएसपी ने अभद्र भाषा बोलने की शिकायत दी

हांसी में डीएसपी और चेयरमैन भिड़े:चेयरमैन बोले- डीएसपी ने गाली दी, एफआईआर की धमकी भी, डीएसपी ने अभद्र भाषा बोलने की शिकायत दी

हांसी : नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में स्टेटस रिपोर्ट लेने के लिए आए विमुक्त घुमंतू जाति विकास बोर्ड के चेयरमैन डॉ. बलवान सिंह ने डीएसपी धर्मबीर सिंह पर गाली-गलौज व जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है। चेयरमैन का कहना है कि जब उन्होंने डीएसपी से कहा जब उन्होंने मामले की स्टेटस रिपोर्ट जाननी चाही तो डीएसपी धर्मबीर सिंह ने उनके साथ गाली-गलौज की और केस दर्ज करने की धमकी दी। वहीं, डीएसपी का कहना है कि चेयरमैन ने उन्हें धमकी दी व गलत भाषा का प्रयोग किया।
मामले के बाद विमुक्त घुमंतु जाति विकास बोर्ड के चेयरमैन बलवान सिंह ने रेस्ट हाउस में पत्रकार वार्ता की। उन्होंने कहा कि वह शहर की एक काॅलोनी में 14 वर्षीय नाबालिग से दुष्कर्म मामले में जानकारी लेने के लिए आए थे। दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने 1 महीना पहले मामला दर्ज किया था। इसमें अभी तक गिरफ्तारी नहीं हुई। 5 आदमी नामजद हैं और मामला महिला थाना में दर्ज है। वह मामले में स्टेट्स रिपोर्ट लेने के लिए आए थे व डीएसपी धर्मबीर से मिले। चेयरमैन के अनुसार डीएसपी ने उन्हें कहा कि डीएनए टेस्ट की रिपोर्ट आएगी तो गिरफ्तारी करेंगे, उससे पहले किसी को गिरफ्तारी नहीं करेंगे।
उन्होंने कहा कि डीएसपी से मामले में गिरफ्तारी की रिक्वेस्ट की और कहा कि सभी की बेटी बराबर होती है कल को ऐसा किसी की बेटी के साथ भी हो सकता है। उन्होंने बताया कि इस बात पर डीएसपी भड़क गए और उन्हें धमकी देने लगे। उनके साथ गाली-गलौज किया और कहा कि वह उन पर मुकदमा दर्ज करवा देंगे।
उन्हें ऑफिस से जाने के लिए कहा। चेयरमैन ने कहा कि जब ऑफिस से बाहर आए तो 3-4 पुलिसकर्मी उनके पास आए और उन लोगों ने भी धमकी दी। चेयरमैन बलवान सिंह ने कहा कि वह इस मामले में गृह मंत्री अनिल विज से मिलेंगे और आईजी से मिलेंगे। उनकी मांग है कि डीएसपी धर्मबीर के खिलाफ मामला दर्ज किया जाए और उन्हें सस्पेंड किया जाए। डीएसपी ऑफिस के बाहर जिन पुलिसकर्मियों ने उन्हें धमकी दी, उन पर भी कार्रवाई हो। नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी हो।

महिला आयोग तक भी पहुंच चुका है मामला

शहर की एक काॅलोनी में 14 वर्षीय नाबालिग के साथ उसकी बुआ के बेटे व अन्य ने दुष्कर्म किया। वह कई दिनों तक उसके साथ दुष्कर्म करता रहा व जान से मारने की दी। जब नाबालिग को पेट में दर्द हुआ तो परिजन उपचार के लिए अस्पताल में लेकर गए। जहां चिकित्सकों ने उन्हें बताया कि नाबालिग गर्भवती है। 8 महीने की गर्भवती होने पर परिजनों को इसका पता चला। मामले में पंचायत हुई तो नाबालिग के फूफा ने कहा कि वह अपने बेटे के साथ विवाह करवा देगा। बाद में मना कर दिया। जिस पर पुलिस में शिकायत दी गई। पुलिस ने मामले में नाबालिग की मां की शिकायत पर उसके फूफा, फूफा के बेटे व बेटी व अन्य के पिछले महीने खिलाफ विभिन्न धाराओं और पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया। मामला महिला आयोग तक भी पहुंच चुका है। महिला आयोग ने मामले में जांच जल्द करने के लिए कहा था। इसको लेकर परिजनों द्वारा पुलिस पर पहले भी ढीली कार्रवाई का आरोप लगाया गया।

आठ माह की गर्भवती है नाबालिग

पीड़ित नाबालिग गर्भवती है। उसकी डिलीवरी का समय नजदीक है। नाबालिग अस्पताल में दाखिल है। चेयरमैन बलवान सिंह का कहना है कि परिजनों द्वारा उसे अपने स्तर पर दाखिल करवाया गया है। पुलिस प्रशासन की तरफ से कोई मदद नहीं मिल रही। उन्होंने ऑनर किलिंग होने का अंदेशा भी जताया।
डीएसपी ने दी है शिकायत : एसपी
डीएसपी धर्मबीर सिंह ने चेयरमैन बलवान सिंह के खिलाफ शिकायत दी है। शिकायत में उन्होंने चेयरमैन पर बदतमीजी करने और आपत्तिजनक शब्द प्रयाेग करने की बात कही है। चेयरमैन की तरफ से कोई शिकायत नहीं आई है। -लोकेंद्र सिंह, एसपी, हांसी।

No comments:

Post a Comment