/>

Breaking

Wednesday, September 2, 2020

सैंपलिंग में संकट:पहली बार आए 1 दिन में 100 केस, किट न होने से जांच के लिए अधिकारियों से लगाते रहे गुहार, 258 की ही सैंपलिंग

सैंपलिंग में संकट:पहली बार आए 1 दिन में 100 केस, किट न होने से जांच के लिए अधिकारियों से लगाते रहे गुहार, 258 की ही सैंपलिंग

सैंपलों की जांच की दिक्कत, एंटीजन किट की शार्टेज, उचाना में इमरजेंसी के लिए थी 5 एंटीजन किट सिविल अस्पताल में न मरीज सोशल डिस्टेंसिंग रख रहे हैं न जिम्मेदारों ने व्यवस्था की है

जींद : ( गौतम सत्यराज ) एक तरफ कोराना का संक्रमण बढ़ रहा है तो सैंपलों की जांच, एंटीजन किट की दिक्कत हो गई है। पिछले 2 दिनों से लोगों को सैंपलिंग और एंटीजन किट से जांच के लिए स्वास्थ्य अधिकारियों के पास गुहार लगानी पड़ रही है। मंगलवार को भी जिले के लोग अस्पतालों में कोरोना टेस्ट कराने के लिए पहुंचे लेकिन उनके टेस्ट नहीं हो पाए। 14 लाख से अधिक की आबादी के जिले में 258 लोगों के ही कोरोना टेस्ट हो पाए।
एंटीजन किट न होने से मंगलवार को डेड बॉडी का कोरोना टेस्ट करने के लिए भी डॉक्टरों को लंबा इंतजार करना पड़ा। बाद में पता चला कि उचाना अस्पताल में 5 एंटीजन किट इमरजेंसी के लिए उपलब्ध हैं। इसके बाद एक व्यक्ति को किट लेने के लिए उचाना भेजा गया। यहां से किट आने के बाद डेडबॉडी का कोरोना टेस्ट किया गया। इस दौरान बची 4 एंटीजन किट से टेस्ट कराने के लिए स्वास्थ्य अधिकारियों के पास लोगों के बार-बार फोन आते रहे। इस दौरान लोगों द्वारा सिफारिश भी करवाई गई। लेकिन उनके कोरोना टेस्ट नहीं हो पाए।

साहब व्यवस्था कीजिए : लगातार दूसरे दिन सैंपलिंग में गिरावट

दूसरे दिन भी सैंपलिंग कम हुई। मंगलवार को 258 लोगों के ही आरटीपीसीआर सैंपल हो पाए। खानपुर पीजीआई लैब द्वारा बुधवार को भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा सैंपल न भेजने के आदेश दिए हुए हैं। इसी तरह से एंटीजन किट के भी अगले दो-तीन दिन तक जिले में पहुंचने की संभावना है। इससे साफ है कि जिले में आने वाले दिनों में भी कोरोना सैंपलिंग सीमित संख्या में ही हो पाएगी। एसएमओ डाॅ. गोपाल गोयल का कहना है कि हर डेडबॉडी का पोस्टमार्टम से पहले कोरोना टेस्ट किया जाना जरूरी है। लेकिन एंटीजन किट के उपलब्ध न होने के कारण अब दिक्कतों का सामना करना पड़ रह है। इमरजेंसी के लिए रखी गई एंटीजन किट भी अब खत्म हो गई है।
3 डिटेक्टिव स्टॉफ व धरने पर बैठे मजदूर नेता पॉजिटिव, कुल संक्रमितों की संख्या हुई 874
जिले में कम सैंपलिंग के बाद भी कोरोना संक्रमितों की संख्या में इजाफा हो रहा है। इससे साफ है कि जिले में कोरोना संक्रमण अब काफी बढ़ चुका है। मंगलवार को जिले में 100 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए। इनमें डिटेक्टिव स्टॉफ के 3 पुलिसकर्मी व एक कर्मचारी नेता शामिल हैं। मंगलवार को 791 सैंपल की रिपोर्ट आई। जिले के लोगों के अब 530 सैंपल की रिपोर्ट आना बाकी है। एक ही दिन में इससे पहले जिले में कभी भी 100 पॉजिटिव केस नहीं आए थे। अब तक एक ही दिन में 65 संक्रमित आने का रिकाॅर्ड था। जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या अब बढ़कर 874 हो गई है। जबकि एक्टिव केसों की संख्या 416 पहुंच गई है। जिले में लगातार कोरोना संक्रमितों की संख्या में इजाफा हो रहा है लेकिन सैंपलिंग बढ़ाने के तमाम प्रयास होने के बाद भी यह कम होती जा रही है।

पॉजिटिव आने से पहले धरने पर बैठा था कर्मचारी नेता

लघु सचिवालय के पास धरना देर रहे मजदूरों को एक नेता कुछ दिन पहले कोरोना सैंपल देकर आया था। मंगलवार को पीजीआई लैब से उसकी रिपोर्ट आई तो उस समय भी वह धरने पर बैठा था। इससे साफ है कि उसके संपर्क में काफी संख्या में मजदूर आए। इसी तरह से डिटेक्टिव स्टाफ के 3 पुलिस कर्मी भी मंगलवार को कोरोना संक्रमित पाए गए। इसी तरह से मंगलवार को भी सफीदों शहर के 8 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। सफीदों कस्बे में लगातार संक्रमितों की संख्या बढ़ती जा रही है। जींद शहर में तांगा चौंक, पटियाला चौंक पर 4-4 व्यक्ति कोरोना संक्रमित मिले।

एक्टिव केसों की संख्या हुई 416

एंटीजन किट की सप्लाई अभी तक नहीं पहुंची है। खानपुर लैब में बुधवार को भी जिला के सैंपल नहीं लिए जाएंगे। मंगलवार को 100 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए। अब जिले में एक्टिव केसों की संख्या 416 पहुंच गई है। डाॅ. पालेराम कटारिया, डिप्टी सिविल सर्जन जींद।

No comments:

Post a Comment