/>

Breaking

Friday, September 18, 2020

कृषि अध्यादेश पर सियासत:हरसिमरत कौर बादल के केंद्रीय मंत्री पद से इस्तीफे के बाद जजपा पर बढ़ा दबाव, सुरजेवाला ने डिप्टी सीएम दुष्यंत से पूछा- पद प्यारा है, किसान प्यारे क्यों नहीं?

कृषि अध्यादेश पर सियासत:हरसिमरत कौर बादल के केंद्रीय मंत्री पद से इस्तीफे के बाद जजपा पर बढ़ा दबाव, सुरजेवाला ने डिप्टी सीएम दुष्यंत से पूछा- पद प्यारा है, किसान प्यारे क्यों नहीं?

चंडीगढ़ : संसद में कृषि अध्यादेश के पारित हो जाने के बाद शिरोमणि अकाली दल की नेता व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल द्वारा इस्तीफा दे दिए जाने के बाद हरियाणा में भाजपा की सहयोगी जजपा पर भी दबाव आ गया है। किसानों की राजनीति से जुड़ी पार्टी जजपा का अगला फैसला क्या होगा, यह देखने लायक होगा क्योंकि कांग्रेस के नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने उन्हें कटघरे में खड़ा कर दिया है। सुरजेवाला ने ट्वीट कर डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला पर निशाना साधते हुए कहा कि दुष्यंत, हरसिमरत के इस्तीफे के नाटक को ही दोहरा कर छोटे सीएम के पद से इस्तीफा दे देते। पद प्यारा है, किसान प्यारे क्यों नहीं? कुछ तो राज है, किसान माफ नहीं करेंगे। जजपा सरकार की पिछलग्गू बन किसान की खेती-रोटी छिनने के जुर्म की भागीदार है।

एक दिन पहले डिप्टी सीएम के भाई दिग्विजय चौटाला साफ कर चुके हैं पार्टी का स्टैंड

एक दिन पहले यानि गुरुवार को चंडीगढ़ में जननायक जनता पार्टी की आधिकारिक प्रेसवार्ता करते हुए डिप्टी सीएम के भाई व जजपा नेता दिग्विजय चौटाला ने कृषि अध्यादेश के सवाल पर कहा था कि हम एमएसपी के मुद्दे पर अडिग है। किसान को एमएसपी मिलना ही चाहिए। इस बात पर देश के कृषि मंत्री साफ तौर पर कह चुके हैं कि एमएसपी खत्म नहीं होगा। वैसे भी कृषि अध्यादेश से जुड़ा मामला केंद्र का है, राज्य सरकार का इससे कोई लेना देना नहीं है। दिग्विजय चौटाला ने कहा कि कुछ लोग बेवजह डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला को इस मुद्दे पर टारगेट कर रहे हैं। कृषि अध्यादेश पर दिग्विजय ने कहा कि हमें देश के प्रधानमंत्री की बात पर विश्वास करना चाहिए।

किसानों के लाठीचार्ज पर ये कहा था दिग्विजय चौटाला ने

दिग्विजय चौटाला ने 10 सितंबर को पिपली में किसानों पर हुए लाठीचार्ज को गलत बताया था। उन्होंने कहा कि लाठीचार्ज दुष्यंत चौटाला ने नहीं करवाया। जिसने भी यह किया, उसके खिलाफ जांच होनी चाहिए। किसी भी किसान को यदि लाठी लगी है तो हम उसके लिए माफी मांगते हैं।
कांग्रेस इस मुद्दे को भुनाने में जुटी
कांग्रेस के छोटे से बड़े नेता तक इस मुद्दे को भुनाने में जुटे हुए हैं। पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा, प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा, नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला लगातार सीधे जनता के बीच जा रहे हैं। वे किसानों से मिलकर उनके साथ होने का आश्वासन दे रहे हैं।

No comments:

Post a Comment