/>

Breaking

Sunday, September 20, 2020

मांग:किसानों ने मांगा खराब फसलों का मुआवजा

मांग:किसानों ने मांगा खराब फसलों का मुआवजा

सिरसा :   फसलों के खराबे का उचित मुआवजा की मांग को लेकर लघु सचिवालय में किसानों का धरना शनिवार को 13वें दिन भी जारी रहा। जिसकी अध्यक्षता किसान नेता जगदीश सिंवर ने की। सिंवर ने कहा कि केंद्र सरकार आपदा को अवसर बनाते हुए खेती किसानी को खत्म करने पर तुली है। अगर सरकार की नीयत वास्तव में किसान हितैषी थी, तो तीनों अध्यादेश लाए जाने से पहले किसानों की राय लेती।

सरकार ने तानाशाह रवैया से किसानों पर लाठीचार्ज करते हुए इन्हें लागू करना चाहती है। जिसको देश का किसान किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं करेगा। अखिल भारतीय स्वामी नाथन संषर्घ समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष विकल पचार ने कहा कि किसानों की फसलें पूरी तरह से नष्ट हो चुकी हैं। लेकिन सरकार धरनारत किसानों की मांगों पर ध्यान देने को तैयार नहीं है।मांगों पर सरकार ने 29 सितंबर तक मुहर नहीं लगाई, तो 30 सितंबर को किसान बड़ा आंदोलन करने को मजबूर हो जाएंगे।

धरनारत किसानों व समिति पदाधिकारियों की ओर से जिलाभर में सभी जलघर की टंकियों पर चढ़ने के लिए किसानों की सूची बना ली गई है। इसलिए सरकार के पास 10 दिन का समय है। जिसमें किसानों की तीन मुख्य मांगों पर गौर फरमाते हुए फसलों का मुआवजा देने की घोषणा करे, ताकि किसानों को ऐसे हालात में थोड़ी राहत मिले।

No comments:

Post a Comment