/>

Breaking

Friday, October 16, 2020

प्राचीन भूतेश्वर मंदिर प्रबंधक सीमिति ने सीएम के नाम विधायक कृष्ण मिड्डा को सौंपा ज्ञापन

प्राचीन भूतेश्वर मंदिर प्रबंधक सीमिति ने सीएम के नाम विधायक कृष्ण मिड्डा को सौंपा ज्ञापन

मंदिर के लिए नहीं मिली दो करोड़ रुपए की ग्रांट

-क्षुब्ध प्राचीन भूतेश्वर मंदिर प्रबंधक सीमिति ने सीएम के नाम विधायक कृष्ण मिड्डा को सौंपा ज्ञापन

-रानी तालाब स्थित मंदिर के नाम पर भी उठाए सवाल, दुरुस्त करने की मांग

जींद, 16 अक्टूबर ( संजय तिरँगाधारी )

पूरे दो साल बीत जाने के बाद भी सीएम मनोहर लाल द्वारा घोषित दो करोड़ रुपए की अनुदान राशि न मिलने व रानी तालाब मंदिर का नाम दुरुस्त करने की मांग को लेकर सफीदों गेट स्थित प्राचीन भूतेश्वर मंदिर की प्रबंधक सीमिति श्री शिव प्राचीन महादेव ट्रस्ट के प्रतिनिधिमंडल ने स्थानीय विधायक डॉ कृष्ण मिड्डा को सीएम के नाम ज्ञापन सौंपा।ज्ञापन की प्रतियां महामहिम राज्यपाल, कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के कार्यकारी अधिकारी व डीसी जींद को भी प्रेषित की गई है।गुरुवार देर रात प्राचीन भूतेश्वर मंदिर की प्रबंधक सीमिति श्री शिव प्राचीन महादेव ट्रस्ट का प्रतिनिधिमंडल प्रधान देसराज अरोड़ा की अगुआई में भाजपा के स्थानीय विधायक डॉ कृष्ण मिड्डा के निवास पर ज्ञापन देने पहुंचा। प्रतिनिधिमंडल में ट्रस्ट के महासचिव रमेश सैनी, कोषाध्यक्ष पुरुषोत्तम शर्मा, मांगे राम प्रजापत, लाखन मल्होत्रा, बलराम, पंडित शिव कुमार, अनमोल गर्ग, भव्य सैनी, तरुण शर्मा, सोनू सैनी, योगेश सैनी, राहुल सैनी आदि शामिल थे।
सीएम मनोहर लाल के नाम विधायक को सौंपे ज्ञापन में कहा गया कि 13 अक्टूबर 2018 को सीएम मनोहर लाल ने कुरूक्षेत्र की 48 कोस की परिधि में जिले में स्थित प्राचीन तीर्थों के जीर्णोद्धार के उद्देश्य से दौरा किया था। इस दौरान वे पुराणों में वर्णित शहर के प्राचीन भूतेश्वर तीर्थ पर भी पहुंचे थे। उन्होंने इस प्राचीन तीर्थ के जीर्णोद्धार के लिए 2 करोड़ रूपए की ग्रांट जारी करने की घोषणा की थी। दो साल बीत जाने के बाद भी जीर्णोद्धार के लिए एक रुपया भी सरकार की ओर से जारी नहीं किया गया है। इससे मंदिर प्रबंधक सीमिति व श्रद्धालुओं में रोष है। ज्ञापन में घोषित ग्रांट राशि शीघ्र जारी करने की मांग की गई।

*-रानी तालाब मंदिर के नाम पर भी उठाया सवाल*

ज्ञापन में शहर के बीचोंबीच स्थित रानी तालाब मंदिर के नाम पर भी सवाल उठाते हुए दुरुस्त करने की मांग उठाई गई। कहा गया कि रानी तालाब मंदिर का नाम राजस्व रिकार्ड में हरी कैलाश दर्ज है, मगर जिला प्रशासन उसे भूतेश्वर मंदिर के नाम से प्रचारित कर रहा है। करीब 25 साल पहले कांग्रेस शासन में दिवंगत मांगे राम गुप्ता के शहरी निकाय मंत्री रहते हुए जीर्णोद्धार के दौरान रानी तालाब मंदिर का नाम हरि कैलाश मिटाकर मुख्य द्वार पर भूतेश्वर लिख दिया गया था। आजकल रानी तालाब के जीर्णोद्धार का कार्य फिर से चल रहा है तो इस मंदिर का नाम दुरुस्त किया जाए। यह तर्क भी दिया गया कि रानी तालाब और इसमें स्थापित मंदिर का निर्माण करीब 150-55 साल पहले जींद के महाराजा रघुबीर सिंह ने अमृतसर के स्वर्ण मंदिर की तर्ज पर कराया था। उस समय न तो वेद पुराण का समय था और न ही महाभारत काल या उससे पहले का समय था। पुराणों में शहर के जिन चार तीर्थों का उल्लेख है उनमें शामिल सफीदों गेट का प्राचीन भूतेश्वर मंदिर ही है।

-जब ग्रांट जारी नहीं करनी थी तो घोषणा ही क्यों की-रमेश सैनी

ज्ञापन देने के बाद श्री शिव प्राचीन महादे ट्रस्ट के महासचिव रमेश सैनी ने आश्चर्य व्यक्त किया कि यदि ग्रांट जारी ही नही करनी थी तो घोषणा ही क्यों की गई। आश्चर्य जाहिर करते हुए कहा गया कि दो साल बीत गए हैं एक रुपया भी मंदिर के जीर्णोद्धार के लिए नहीं मिला है। जबकि उस समय श्रद्धालुओं ने एक-एक पैसा एकत्रित कर लाखों रुपए सीएम मनोहर लाल के स्वागत पर खर्च किया था। जिसमे सभी वर्गों के व विभिन्न राजनीतिक दलों से जुड़े श्रद्धालु शामिल थे। 
रानी तालाब मंदिर के संबंध में कहा कि राजस्व रिकॉर्ड में इसका नाम हरि कैलाश मंदिर है, जो कांग्रेस शासन में मुख्य द्वार से मिटा दिया था। यह नई पीढ़ियों के साथ धोखा है और ऐतिहासिक इमारतों के मूल स्वरूप को बिगाड़ने की साजिश है। कहा कि रानी तालाब व इसमें स्थापित मंदिर शहर की शान है, जिसका समय-समय पर जीर्णोद्धार होना चाहिए, मगर ऐतिहासिक तत्थों से छेड़छाड़ कर नहीं। कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड ने उन तीर्थों को अपने तहत शामिल किया है, जो महाभारत कालीन त उससे पहले के है। जींद के रानी तालाब उस कसौटी पर खरा नहीं उतर रहा है। उन्होंने मांग की कि रानी तालाब मंदिर का नाम हरि कैलाश मंदिर दुरुस्त किया जाए, ताकि आने वाली नई पीढ़ियों को सही जानकारी मिल सके।

*-बड़ौदा उपचुनाव के बाद मामले का हल निकाला जाएगा-मिड्डा*

प्राचीन भूतेश्वर मंदिर प्रबंधक सीमिति के प्रतिनिधिमंडल को विधायक डॉ कृष्ण मिड्डा ने आश्वासन दिया कि ज्ञापन सीएम को भेज दिया जाएगा और बड़ौदा उपचुनाव के बाद इस मसले को अर्बन लोकल बॉडी मंत्रालय संभाल रहे अनिल विज से मुलाकात कर मामले का हल कराया जाएगा। जिला प्रशासन से भी इस सिलसिले में बात की जाएगी

No comments:

Post a Comment