/>

Breaking

Thursday, October 8, 2020

बरोदा उपचुनाव:रिश्तेदारियों में वोट खोजेगी भाजपा, बरोदा से सटे 4 जिलों के वर्करों से रिश्तेदारों का ब्योरा मांगा

बरोदा उपचुनाव:रिश्तेदारियों में वोट खोजेगी भाजपा, बरोदा से सटे 4 जिलों के वर्करों से रिश्तेदारों का ब्योरा मांगा

रोहतक : सत्ता पक्ष के लिए बरोदा उपचुनाव नाक का सवाल बनता जा रहा है। जीत के लिए भाजपा जातिगत समीकरणों के साथ वर्करों की रिश्तेदारियां खोज रही है। जींद उपचुनाव की तर्ज पर कार्यकर्ता बरोदा में रिश्तेदारियों के जरिए तैयारी में जुट गए हैं। वर्करों को रिश्तेदारी में जाकर अपने पक्ष में वोट डालने के लिए प्रेरित करने का पाठ पढ़ाया है।
वर्करों से पूछा जा रहा है कि उसकी रिश्तेदारी में कितने वोट हैं और कौन रिश्तेदार लगता है। इसका ब्योरा तैयार किया जाए। रिश्तेदारों के पड़ोसियों तक की सूची तैयार की जाए। रोहतक में बुधवार को भाजपा ने मंडल और जिला के प्रमुख कार्यकर्ताओं की बैठक ली। धनखड़ ने लिखित में वोट डलवाने के लिए सूची तैयार करने को कहा है।
जो वर्कर 100 वोट, 50 वोट, 25 वोट, 10 वोट या 5 वोट तक डलवाने की ताकत रखता हो, उसकी सूची हाईकमान को चाहिए। बरोदा से सटे 4 जिलों में सोनीपत, जींद, रोहतक शामिल हैं। अब रोहतक में बैठक के साथ कार्यक्रम पूरे कर लिए हैं। अब भाजपा 10 अक्टूबर को डीघल से सांपला तक किसान कानून को लेकर ट्रैक्टर रैली के बाद सीधे बरोदा उपचुनाव पर फोकस होगा।
नाराज सास की बहू की तरह मनोव्वल करनी होगी: धनखड़
रिश्तेदारियों की अहमियत बताते हुए धनखड़ ने कहा कि जब सास रुठी हो तो बहू की ओर से की जाने वाली मान-मनोव्वल ही सास के दुख को हर सकती है। रिश्तेदारियों के जरिए जितनी ताकत लगानी है लगा लियो, फिर दिल पर बोझ सहा नहीं जाएगा।

No comments:

Post a Comment