/>

Breaking

Saturday, October 24, 2020

अवैध कब्जा:प्राचीन किले की जमीन पर 270 परिवारों का कब्जा, कमिश्नर ने दिए निशानदेही के आदेश

अवैध कब्जा:प्राचीन किले की जमीन पर 270 परिवारों का कब्जा, कमिश्नर ने दिए निशानदेही के आदेश

जींद : प्राचीन किले की लगभग 61 मरले 1 कनाल जमीन पर सालों से लोगों ने कब्जा किया हुआ है। कई लोगों ने पक्के मकान भी बना लिए हैं। इन कब्जों को हटवाने के लिए एक बार फिर नगर परिषद प्रशासन गंभीरता से विचार कर रहा है। इस मामले में हिसार रेंज के कमिश्नर की तरफ से किले पर कब्जा किए गए जमीन की निशानदेही करवाने के आदेश दिए हैं और जल्द रिपोर्ट करने को कहा है ताकि पीपी एक्ट के तहत दोबारा से केस दायर कर जमीन कब्जे से वापस ली जा सके।
आदेश मिलने के बाद तहसीलदार जींद की तरफ से निशानदेही का काम करवाया जा रहा है। किले की 61 मरले 1 कनाल पर जमीन पर लगभग 270 मकान बने हुए हैं। नगर परिषद का कहना है कि यह जमीन उनके अधीन है जबकि लोग इसे अपनी बताते आ रहे हैं। अब निशानदेही का काम पूरा होने के बाद इस मामले को एसडीएम कोर्ट में पीपी एक्ट के तहत दायर करने की तैयारी की जा रही है ताकि कब्जे को हटाकर जमीन नगर परिषद के अधीन ली जा सके।
यहां बता दे कि यह किले की जमीन पहले नगर सुधार मंडल के अधीन आती थी। नगर सुधार मंडल के भंग होने के बाद मंडल के अधीन आने वाली सभी जमीनों को नगर परिषद के अधीन कर दिया गया। 2016-17 में यह जमीनें नगर परिषद के अधीन आई थी। उसके बाद 2017-18 में नगर परिषद ने इस जगह निशानदेही करवाई थी। निशानदेही के बाद नगर परिषद ने एसडीएम कोर्ट में पीपी एक्ट के तहत केस दायर किए थे, लेकिन सुनवाई के दौरान कई लोगों ने रजिस्ट्री व मलकीयत के सबूत सौंप दिए। इसके बाद एसडीएम ने सभी केस वापस नगर परिषद को भेज दिए थे। इस मामले में अब हिसार कमिश्नर ने दोबारा निशानदेही करवाकर रिपोर्ट के आदेश दिए हुए हैं।

2.5 एकड़ में कब्जा छुड़वा बनाया पार्क

नगर परिषद ने 2017-18 में इस पूरे एरिया की निशानदेही करवाई थी। तब लगभग 2.5 एकड़ में नगर परिषद ने कब्जा हटवाया था। उसके बाद इस एरिया में पार्क निर्माण की घोषणा सीएम ने की थी। यहां पर महात्मा ज्योतिबा फुले पार्क का निर्माण लगभग डेढ़ साल से किया जा रहा है। अधिकतर पार्क का काम हो चुका है और इस समय पौधे लगाने का काम किया जा रहा है।

नगर सुधार मंडल ने भी दिए थे नोटिस

लंबे समय से कब्जाधारियों को नगर सुधार मंडल ने नोटिस जारी कर जमीन खाली करने के निर्देश दिए थे, लेकिन लोगों ने जमीन खाली नहीं की।
*कानूनगों को निर्देश देकर रिपोर्ट मांगी है : मनोज*
किले की जमीन की निशानदेही के निर्देश आए थे। उसके बाद कानूनगो को निर्देश देकर रिपोर्ट मांगी गई है। अब तक कानूनगो की तरफ से रिपोर्ट नहीं मिली है। -मनोज अहलावत, तहसीलदार, जींद

No comments:

Post a Comment