/>

Breaking

Friday, October 9, 2020

ट्रैक्टर-कार की भिड़ंत:सोनीपत जिले में खानपुर-ककाना रोड पर दर्दनाक हादसा, ट्रैक्टर ने सामने से मारी टक्कर, कार में ही तीन लोग जिंदा जले

ट्रैक्टर-कार की भिड़ंत:सोनीपत जिले में खानपुर-ककाना रोड पर दर्दनाक हादसा, ट्रैक्टर ने सामने से मारी टक्कर, कार में ही तीन लोग जिंदा जले

गोहाना : खानपुर कलां-ककाना संपर्क रोड पर गुरुवार शाम को दर्दनाक हादसा हुआ। टक्कर लगने के बाद कार में आग लग गई। आग की पलटें दूर से दिखाई दे रही थी। घटनास्थल के आसपास खेतों में काम कर रहे किसान भी गाड़ी की तरफ दौड़े, लेकिन जब तक आग काफी अधिक बढ़ चुकी थी। किसानों ने आग पर काबू पाने का प्रयास भी किया, लेकिन आग पर काबू नहीं पा सके। तीनों ने बाहर निकलने का प्रयास भी किया, लेकिन कामयाब नहीं हो पाए। एक शव ड्राइवर सीट तो दूसरा आगे वाली सीट पर था।

इन दोनों के बीच में तीसरे व्यक्ति का शव पड़ा मिला। कौन कहां पर बैठा था, शव पूरी तरह से जलने के कारण इसका भी पता नहीं चल पाया। सूचना के बाद दमकन केंद्र से गाड़ी घटनास्थल पर पहुंची और फायरमैन ने आग पर काबू पाया। जब तक तीनों के शव पूरी तरह से जल चुके थे। शामड़ी निवासी कप्तान और राजू आपस में पड़ोसी है। दोनों ही खेती करते हैं। जानकारी के अनुसार दोनों ही किसी काम से कुतुबगढ़ जाना था। उन्होंने टैक्सी हायर करने के लिए बजाना कलां गांव निवासी सुरेंद्र को फोन किया। सुरेंद्र गुरुग्राम में अपनी गाड़ी को टैक्सी के रूप में चलाता था।
पिछले कई दिनों से अपने घर पर आया हुआ था। काम निपटाने के बाद वे सुरेंद्र के साथ गांव आ रहे थे। खानपुर कलां-ककाना संपर्क रोड पर हादसा हो गया। जिसमें तीनों ही जिंदा जल गए। सूचना के बाद सदर थाना गोहाना के प्रभारी कर्मजीत टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए। वहीं, दर्दनाक हादसे की सूचना के बाद शामड़ी और बजाना कलां गांव में शोक की लहर दौड़ गई।
शादीशुदा थे कप्तान और राजू
बजाना निवासी सुरेंद्र अविवाहित था। सुरेंद्र की पांच बहने और दो भाई हैं। जबकि कप्तान और राजू शादीशुदा थे। कप्तान के पास करीब डेढ़ वर्ष का एक लड़का है। जबकि राजू के पास एक लड़का और एक लड़की हैं। हादसे की सूचना मिलने के बाद परिवार के सदस्यों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। ग्रामीण और परिजन रात को ही घटनास्थल और मेडिकल कॉलेज, खानपुर कलां में पहुंच गए।

तीन साल पहले ही सुरेंद्र ने खरीदी थी गाड़ी

बजाना निवासी सुरेंद्र ने पहले प्राइवेट गाड़ी चलाता था। करीब तीन साल पहले ही उसने नई गाड़ी खरीदी थी। इस गाड़ी को टैक्सी के रूप में ग्रुरुग्राम में चलाता था। सुरेंद्र गुरुग्राम में ही रहता था। ग्रामीणों का कहना है कि सुरेंद्र काफी मिलनसार था। हमेशा बड़ों का सम्मान करता था। दर्दनाक हादसे की सूचना के बाद शामड़ी और बजाना कलां गांव में शोक की लहर दौड़ गई।

एक साल में कार में जिंदा जलने की चौथी घटना

जिला में कार में जिंदा व्यक्ति के जलने की यह चौथी घटना है। पिछले वर्ष सोनीपत के सेक्टर-सात और सेक्टर-23 में कार में आग लगने से एक व्यक्ति जिंदा जल गया था। पिछले कुछ माह पहले लड़सौली गांव के पास कार में आग लग गई थी। उसमें सवार एक व्यक्ति जिंदा जल गया था।
हादसे की मृतक के परिजनों को सूचना दे दी
सूचना मिली थी कि खानपुर कलां-ककाना रोड पर ट्रैक्टर-कार की टक्कर से कार में आग लग गई। चालक सहित 3 व्यक्ति की मौत हो गई। सूचना मिलने पर टीम के साथ पहुंचा। मृतक की पहचान करके उनके परिजनों को सूचना दे दी है। कर्मजीत सिंह, प्रभारी, सदर थाना, गोहाना।

No comments:

Post a Comment