/>

Breaking

Monday, November 9, 2020

मुख्यालय ने मांगी इन्हांसमेंट रिकेलकुलेशन प्रक्रिया पूरी हुई सेक्टरों की फाइनल रिपोर्ट

मुख्यालय ने मांगी इन्हांसमेंट रिकेलकुलेशन प्रक्रिया पूरी हुई सेक्टरों की फाइनल रिपोर्ट

हिसार : एचएसवीपी मुख्यालय ने इनहांसमेंट रिकेलकुलेशन प्रकिया पूर्ण कर चुके सेक्टरों की फाइनल  रिपोर्ट मांगी है। इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री जल्द ही ऑल सेक्टर रेजिडेनटस वेलफेयर एसोसिएशन से बैठक करेंगे।
एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप वत्स ने बताया कि एचएसवीपी मुख्यालय ने पाचों जोनल एडमिनिस्ट्रेटर कार्यालयों से रिकेलकुलेशन प्रकिया पूर्ण कर चुके सभी सेकटरों की रिकार्ड क्रास वेरिफिकेशन के बाद फाइनल रिपोर्ट मांगी है। सभी जोनल कार्यालयों को 9 नवम्बर तक सेकटरों की फाइनल रिपोर्ट भेजनी है।
यदि जोनल स्तर पर रिकार्ड क्रास चेक के बाद कोई त्रुटि नहीं मिली तो जो सीटें जोनल कमेटी व सीए फर्म की स्वीकृति के बाद एचएसवीपी मुख्यालय पहुंची हुई हैं। उन्हे अन्तिम माना जाएगा। हिसार जोन के सेकटरों की रिकेलकुलेशन प्रकिया मार्च माह में पूर्ण हो चूकी है।

वत्स ने बताया कि एसोसिएशन व एचएसवीपी के बीच ब्याज दरों को लेकर विवाद है। उन्होंने कहा कि नियमानुसार रिकेलकुलेशन प्रकिया के दौरान का ब्याज नहीं लगना चाहिए लेकिन एचएसवीपी नियमों का सरे-आम उल्लंघन कर रिकेलकुलेशन प्रकिया के दौरान का 15 प्रतिशत ब्याज सेकटरवासियों से वसूलना चाहता है। इसी विवाद के कारण दो अक्टूबर को राशि अपडेट का कार्यक्रम स्थगित करना पड़ा।
हालांकि बाद दो व तीन अक्टूबर को सीएम के प्रिंसिपल सेक्रेटरी की अध्यक्षता में हुई बैठक में रिकेलकुलेशन प्रकिया के दौरान का ब्याज नहीं लगाने की सहमति बनी थी। लेकिन एचएसवीपी द्वारा पुन: ब्याज दरों को लागू कर फाइल सीएम की स्वीकृति के लिए भेजी है।
एसोसिएशन के ऐतराज के बाद सीएम ने इस फाइल को स्वीकृति नहीं दी है। जल्द इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री इस मुद्दे पर बैठक करेंगे। वत्स ने बताया कि मुख्यमंत्री से इस मुद्दे पर पिछले तीन वर्ष में सात बैठकें हो चुकी है तथा नोटिफिकेशन जारी होने से लेकर रिकेलकुलेशन प्रकिया अब अन्तिम चरण में पहुंची है। उम्मीद है कि लम्बे समय से संघर्षरत सेक्टरवासियों को जल्द न्याय मिलेगा।

No comments:

Post a Comment