/>

Breaking

Tuesday, November 3, 2020

सड़क की दुर्दशा को लेकर पांच नवंबर को बंद रहेगा रोहतक रोड

सड़क की दुर्दशा को लेकर पांच नवंबर को बंद रहेगा रोहतक रोड उड़ती धूल को लेकर दुकानदार जताएंगे रोष

जींद: फर्नीचर एसोसिएशन व जींद विकास संगठन ने अन्य संस्थाओं के सहयोग से पांच नवंबर को रोहतक रोड बन्द करने का फैसला लिया है। इस दिन इस रोड के दुकानदार रोष प्रकट करने के लिए अपनी-अपनी दुकानें बंद रखेंगे और रोहतक रोड़ बाईपास से लेकर चौधरी देवीलाल चौक तक प्रदर्शन करेंगे। 
सोमवार को दुकानदारों की एक बैठक सम्पन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता जीन्द विकास संगठन के अध्यक्ष राजकुमार गोयल व फर्नीचर एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश सिंघल ने की। बैठक में रामधन, विजय सैनी, अमित जैन, राजू सैनी, अंकित, सुरेन्द्र गर्ग, जसवंत लाठर, आशु सिंगला, मनीष गर्ग, सतीश शर्मा, रोहित, पवन गर्ग, धर्मपाल, संजय गर्ग, लाजपत, मुकेश गोयल इत्यादि प्रमुख रूप से उपस्थित थे। 
बैठक को सम्बोधित करते हुए राजकुमार गोयल ने कहा कि बाईपास से लेकर चौधरी देवीलाल चौक तक रोहतक रोड पूरी तरह से बदहाल है। पूरी सड़क टूट कर उबड़-खाबड़ हो चुकी है। यहां रेत के गुब्बार है। पूरा रोड़ रेगिस्तान बन चुका है। 24 घण्टे रेत के गुब्बार उड़ते रहते है जिसके चलते लोगों का जीना दुश्वार हो गया है। यहां के लोग नरक की जिन्दगी जी रहे है। दो साल से यहां के वाशिंदे करीबन 2 किलोमीटर लम्बी इस सड़क की दुर्दशा से परेशान है। लेकिन प्रशासन कोई सुनवाई नहीं कर रहा है। 
राकेश सिंघल ने कहा कि जीन्द विधानसभा उपचुनाव के दौरान फर्नीचर एसोसिएशन ने इस बदहाल के चलते किसी भी पार्टी को वोट न देने का फैसला किया था। उस समय मुख्यमन्त्री ने आश्वासन दिया था कि चुनाव खत्म होते ही सड़क बनवा दी जाएगी, लेकिन यह वायदा भी वायदा ही रहा। इस बदहाल सड़क की वजह से दर्जनों सड़क दुर्घटनाएं हो चुकी है। कईं लोग जान गवां चुके है। हर रोज यहां वाहन धंस रहे है। उड़ रहे रेत को रोकने के लिए प्रशासन ने कोई प्रयास नहीं किए है, जिसके चलते यहां के लोगो को आंखो और सांस की बिमारी होने लगी है। दो साल से न तो प्रशासन और न ही सरकार के जूं तक रेंग रही।
राजकुमार गोयल ने कहा कि प्रशासन और सरकार कुम्भकर्ण की नींद सोए हुए है। उन्हें नींद से जगाने के लिए 5 नवंबर को रोहतक रोड बंद का ऐलान किया गया है। 5 नवम्बर को सभी दुकानें बंद रखी जाएंगी।

No comments:

Post a Comment