/>

Breaking

Tuesday, May 4, 2021

निजी अस्पताल से जब्त किए 5 ऑक्सीजन सिलेंडर

निजी अस्पताल से जब्त किए 5 ऑक्सीजन सिलेंडर,अस्पताल के रिकॉर्ड को भी अधिकारियों ने खंगाला

जींद /सफीदों ; प्रशासन के अधिकारियों ने सोमवार को नगर के एक निजी अस्पताल में चैकिंग करके वहां पर कोटे से अधिक रखें 5 सिलेंडरों को जब्त कर लिया। इस कार्रवाई के दौरान प्रशासन ने अस्पताल रिकॉर्ड को भी खंगाला। मिली जानकारी के अनुसार सोमवार को प्रशासन को गुप्त सूचना मिली थी कि अस्पताल में ऑक्सीजन के सिलेंडर कोटे से अधिक रखे हुए हैं। गुप्त सूचना के आधार पर एसडीएम मनदीप कुमार,  एएसपी नीतीश अग्रवाल, जिला कोरोना नोडल अधिकारी विजेंद्र हुड्डा व नागरिक हस्पताल सफीदों के स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. विकास गुप्ता अस्पताल पहुंचे। अधिकारियों ने अस्पताल के रिकॉर्ड को चेक किया। चैकिंग के दौरान वहां पर ऑक्सीजन के 5 सिलेंडर कोटे से अधिक मिले, जिन्हें अधिकारियों ने अपने कब्जे में ले लिया। इसके अलावा अधिकारियों में वहां पर दाखिल मरीजों व उनके तीमारदारों से भी बातचीत की। 
 *-एसडीएम ने यह बताया-*
एसडीएम मनदीप कुमार ने बताया कि ऑक्सीजन की कमी की शिकायतें आ रही थी। सफीदों के ज्ञानी राम अस्पताल से 5 सिलेंडर मिले हैं, जिन्हें लेकर जींद जिला मुख्यालय पर भिजवाया गया है। 
*- एएसपी ने ये कहा-*
एएसपी नीतीश अग्रवाल ने कहा कि अस्पतालों में कोरोना के इलाज के लिए सरकार द्वारा रेट फिक्स किए गए हैं। अगर किसी अस्पताल की तय राशी से अधिक चार्ज करने की शिकायत प्राप्त हुई तो निश्चित तौर पर उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि धारा 144 लगी हुई है और कोई भी नागरिक इसकी उल्लंघना ना करें अन्यथा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 
*-यह कहते हैं स्वास्थ्य अधिकारी-*
सफीदों नागरिक अस्पताल के स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. विकास गुप्ता ने बताया कि अस्पताल प्रशासन कोरोना को लेकर पूरी तरह से सजग है। अस्पताल में 6 बेड का कोरोना वार्ड बनाया गया है और इमरजेंसी वार्ड में ऑक्सीजन की सुविधा सुचारू रखी गई है। उन्होंने बताया कि अस्पताल में इस वक्त 8 कोरोना मरीज दाखिल हैं, जिनको समुचित इलाज दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी को बढ़ते देख सफीदों में 60 बेड का कोविड सेंटर बनाने के लिए एसडीएम से बातचीत जारी है। इस सेंटर में देरी इसलिए हो रही है क्योंकि अस्पताल प्रशासन का 50 प्रतिशत स्टाफ कोरोना की चपेट में है।

No comments:

Post a Comment