/>

Breaking

Wednesday, June 23, 2021

रोहतक पीजीआई में ओपीडी शुरू करने की तैयारी

रोहतक पीजीआई में ओपीडी शुरू करने की तैयारी
रोहतक :  दो महीने बाद पीजीआई में सोमवार से ओपीडी शुरू करने की तैयारी है। रविवार को लॉकडाउन में छूट के बाद ओपीडी चलाने की गाइड लाइन तय कर ली जाएंगी। हर विभाग की ओपीडी में कार्ड बनाने की संख्या दोबारा निर्धारित होगी। 20 अप्रैल से 50 प्रतिशत क्षमता के साथ ही ओपीडी में कार्ड बन रहे थे। ओपीडी में करीब 5-6 हजार मरीज रोज आते हैं, दो महीने से 2400 मरीजों के ही कार्ड बनाए जा रहे थे। 16 विभाग ऐसे हैं, जिनमें सिर्फ 50-50 कार्ड बनाने की अनुमति है। 4 विभागों में 150-150 कार्ड बनाए जा रहे हैं। अब भी जनरल मेडीसन में सबसे ज्यादा 300 कार्ड बनाने की मंजूरी है। सोमवार से ओपीडी शुरू होने के बाद मरीजों को सबसे बड़ी राहत मिलेगी। फिलहाल तैयारी शुरू कर दी है और नए नियम बनाए जा रहे हैं।

*अधिकारिक घोषणा नहीं* कुलपति ओपीडी शुरू करने की आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है, लेकिन हेल्थ यूनिवर्सिटी के कुलपति का कहना है कि सोमवार से शुरू करने की तैयारी है। अभी तो सरकार ने लोकडाउन भी नहीं हटाया। जल्दी ही ओपीडी के बारे में सभी को बता दिया जाएगा। इलेक्टिव ऑपरेशन में राहत की उम्मीद इस साल जैसे ही जैसे ही कोरोना बेकाबू हुआ तो सभी विभागों के इलेक्टिव ऑपरेशन पर रोक लगा दी गई। इलेक्टिव यानी ऐसे ऑपरेशन जो कुछ दिन बाद भी किए जा सकते हैं, उन्हें होल्ड पर रख दिया गया। इमरजेंसी ऑपरेशन कोविड के दौरान भी चलते रहे। सोमवार से ओपीडी खुली तो उम्मीद है कि इलेक्टिव ऑपरेशन करने की मंजूरी भी दे दी जाएगी। स्टाफ संक्रमित रहा महामारी बढ़ी तो जरनल ओपीडी पर रोक लगा दी गई थी। सिर्फ गंभीर मरीज ही देखे जा रहे थे। यहां डॉक्टर से लेकर हर ग्रुप के कर्मचारी संक्रमित हुए। स्टाफ की कमी के कारण ओपीडी बंद करने का निर्णय भी लिया गया। इलेक्टिव यानी ऐसे ऑपरेशन जो कुछ दिन बाद भी किए जा सकते हैं। नई गाइडलाइन तैयार की जाएंगी ओपीडी सोमवार से शुरू करने की तैयारी है। अभी नई गाइडलाइन तैयार की जाएंगी। लॉकडाउन में छूट नहीं मिली है। रविवार को कितनी छूट मिलेगी इसके बाद नियम बनेंगे।* डॉ. ओपी कालरा, कुलपति, हेल्थ यूनिवर्सिटी*

No comments:

Post a Comment