/>

Breaking

Tuesday, June 22, 2021

प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह चरमराई-डॉ अशोक तंवर

प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह चरमराई-डॉ अशोक तंवर
बोले, सरकार व प्रशासन को जागना चाहिए
जींद, 22 जून ( संजय कुमार ) अपना भारत मोर्चा के राष्ट्रीयध्यक्ष एवं पूर्व सांसद अशोक तंवर ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह चरमरा चुकी है। सरकार कानून व्यवस्था को बनाए रखने में पूरी तरह से नाकाम साबित हो रही है। इसी का नतीजा है कि अपराधियों के हौंसलें बुलंद हैं और वो खुले आम वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। इसी के चलते 14 जून को अलेवा निवासी सुरेश की हत्या कर दी गई और पुलिस आजतक भी हत्यारोपितों को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। पहले बेटे और अब पिता की हत्या की गई। अब सरकार को जाग जाना चाहिए वरना प्रदेश की जनता सोई सरकार को जगाने का प्रयास करेगी। 
पूर्व सांसद डा. अशोक तंवर मंगलवार को अर्बन इस्टेट स्थित सुभाष कौशिक के आवास पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। इससे पहले वो मृतक सुरेश के जींद आवास पर पहुंचे और परिजनों को ढांढस बंधाया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार महापूंजीपतियों की सरकार है। इस सरकार में काला धन वापस आने की बजाए डबल हुआ है। सरकार को केवल महापूंजीपतियों चिंता सता रही है और उन्हीं के लिए नीतियां बना कर देश को बर्बाद करने में जुटी है। सीबीआई से चार्जशीट अधिकारियों को पावर में बैठाया जा रहा है जबकि र्ईमानदार अधिकारियों को खुड्डे लाइन लगाया जा रहा है। भ्रष्टाचार चरम पर है और वैक्सीन का सबसे बड़ा घोटाला इसका उदाहरण है। पहले सरकार ने मुफ्त वैक्सीन के बड़े-बड़े दावे किए वहीं अब पैसे देकर वैक्सीन लगवाने की बात कह रही है। उन्होंने कहा कि राम मंदिर घोटाले की सच्चाई देश की जनता के सामने आ चुकी है। अब एक-एक कर कई बड़े घोटाले जनता के सामने आएंगे। जिससे देश व प्रदेश की जनता को पता चल जाएगा कि ईमानदार कहने वाली सरकार खुर्द कितनी भ्रष्टाचार में डूबी हुई थी। 
उन्होंने आरोप लगाया कि किसान आंदोलन में दिल्ली बॉर्डर की घटनाओं को सरकार की ओर से राजनीतिक रंग दिया जा रहा है। सरकार आंदोलन को समाप्त करवाने के लिए ओच्छे हथकंडे अपना रही है। सरकार को चाहिए कि किसानों की मांगों को माने और तुरंत प्रभाव से इन कानूनों को रद्द करे। 
उन्होंने कहा कि अब जो सरकार है वो अराजकता फैलाने वाली, गुंडागर्दी फैलाने वाली सरकार है। सात साल बीतने के बाद भी इन्हें यह नहीं समझ आया है कि सरकार कैसे चलाएं। सरकार होते हुए भी विपक्ष वाला व्यवहार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि देशभर में कोविड की तीसरी लहर का अंदेशा जताया जा रहा है मगर सरकार की इस लहर से निपटने के लिए कोई तैयारी नजर नहीं आ रही है। पहले ही सरकार की लापरवाही से कोरोना संक्रमण के चलते लाखों लोग मारे जा चुके हैं पर सरकार पर इसका कोई असर नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार से हर वर्ग दुखी है। उद्योग धंधे बंद पड़े हैं। अब देश को बचाना है तो सभी को साथ मिल कर आवाज उठानी होगी। आने वाले समय में गैर भाजपा, गैर कांग्रेस मजबूत विकल्प उभर कर सामने आएंगे और जनता को इनका साथ देना होगा। 
इस मौके पर सुल्तान मास्टर सुभाष चोपड़ा, वंदना बाल्मीकि जसवंत सिंधु, जयपाल मुंडे, संदीप एडवोकेट, संदीप 
एडवोकेट, नितिन मलिक एडवोकेट, सुशील खटक एडवोकेट समेत अनेक लोग मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment