/>

Breaking

Friday, September 25, 2020

जागरूकता:रेड जोन वाले गांव दयोहरा में किसानों को फसल अवशेष न जलाने बारे में किया जागरूक

जागरूकता:रेड जोन वाले गांव दयोहरा में किसानों को फसल अवशेष न जलाने बारे में किया जागरूक

कैथल :-  कृषि एवं किसान कल्याण विभाग कैथल की ओर से गुरुवार को गांव दयोहरा में किसान जागरुकता शिविर का आयोजन किया गया। इसमें किसानों को धान अवशेषों में आग न लगाने व धान अवशेष का सही प्रबंध करने वाले प्रेरित किया गया। शिविर में राजस्व विभाग से तहसीलदार के निर्देशानुसार पटवारी सुखविंदर सिंह ने शिरकत की। सरपंच सुनील कुमार विशेष रूप से उपस्थित रहे।

एडीओ राजबीर सिंह ने कहा की किसान पराली न जलाएं। गांव में कृषि विभाग की ओर से 8 सीएससी अलॉट किए गए हैं। सभी कस्टम हायरिंग सेंटर संचालक गांव में किसानों की धान अवशेष प्रबंधन करने में अहम रोल निभाएं। किसान इन यंत्रों से गेहूं की बिजाई करें। धान अवशेष खाद का काम करेंगे। पटवारी सुखविंदर सिंह ने कहा कि कैथल ब्लॉक के 16 गांव को रेड जोन घोषित किया गया है जिनमें दयोहरा गांव भी शामिल हैं। इस सीजन में कोई भी किसान धान की फसल के अवशेष न जलाएं।

अगर कोई पराली के अवशेषों में आग लगाएगा तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई होगी। इसके लिए डीसी साहब के दिशा-निर्देश में टीमें गठित की गई हैं। इसी के साथ गांव सरपंच-पंच वह नंबरदार का भी फर्ज बनता है कि वह धान अवशेष जलाने से रोकने में पूर्ण सहयोग करें। कृषि विभाग की ओर से किसानों के सवालों का जवाब दिए गए और उन्हें कस्टम हायरिंग सेंटर के जरिए अवशेषों के बंडल बनाकर व्यवस्था करने बारे प्रेरित किया। सरपंच सुनील कुमार ने आश्वस्त किया कि वे प्रशासन को उचित प्रबंधन में हरसंभव सहयोग करेंगे।

इस मौके पर कृषि विभाग से सुपरवाइजर, किसान रोशन लाल चंद्रभान, मघर, सतपाल, बलबीर व नंबरदार गुलाब समेत भारी संख्या में किसान मौजूद थे। कृषि विभाग की ओर से किसानों को पराली न जलाने का संदेश देने के लिए मास्क भी बांटे गए। गांव में मुनादी कराई गई और प्रचार वैन ने भी गांव में लोगों को जागरूक किया।

No comments:

Post a Comment