/>

Breaking

Friday, September 25, 2020

नारनौल:मिर्च झोंक बैंककर्मियों को लूटने का प्रयास करने वाला हिस्ट्रीशीटर लूट की बाइक समेत गिरफ्तार

नारनौल:मिर्च झोंक बैंककर्मियों को लूटने का प्रयास करने वाला हिस्ट्रीशीटर लूट की बाइक समेत गिरफ्तार

नारनौल : अपराधियों पर शिकंजा कसने के लिए जिला पुलिस अब एक्शन मोड में आ गई है। अन्ना गैंग के बाद अब पुलिस ने राजस्थान के हिस्ट्रीशीटर व उसके साथी को लूट की बाइक के साथ गिरफ्तार किया है। बायल गांव के निकट 8 दिन पहले इन्होंने नारनौल के एक प्राइवेट बैंक के मैनेजर व फील्ड अधिकारी की बाइक के आगे अपनी मोटर साईकिल लगा उनकी आंखों में मिर्च पाउडर डाल पैसे लूटने का प्रयास किया था।
आरोपियों की पहचान राजस्थान के हिस्ट्री शीटर सतेंद्र उर्फ लीलू पुत्र नौरंग वासी डूंगा नांगल थाना पाटन व शक्ति उर्फ जनार्धन पुत्र रघुबीर वासी रावत की ढाणी के रूप में हुई है। सीआईए ने बुधवार शाम को इन्हें नारनौल के निजामपुर टी प्वाइंट के पास से लूटी गई बाइक सहित गिरफ्तार किया है। सीआईए ने गुरुवार को दोनों आरोपियों को नारनौल अदालत में पेश किया। अदालत ने इस मामले में सुनवाई करते हुए दोनों आरोपियों को न्यायिक हिरासत में नसीबपुर जेल भेज दिया है।

लूट में करते मिर्च पाउडर का इस्तेमाल

पुलिस प्रवक्ता नरेश कुमार ने बताया कि 16 सितंबर को नारनौल के एक प्राइवेट बैंक का मैनेजर राजेश व फील्ड ऑफिसर रामपाल बाइक से बैंक की किश्त लेने फील्ड में गए थे। दोपहर करीब 11 बजे दोनों कर्मचारी किश्त के पैसे लेकर बाइक से वापस नारनौल आ रहे थे। इस दौरान रावता की ढाणी व बायल के बीच राजस्थान के हिस्ट्री शीटर सतेंद्र उर्फ लीलू ने अपने तीन साथियों विकास, नवीन व मनोज को साथ लेकर दो बाइकों पर सवार होकर वहां पहुंचे तथा बैंक कर्मचारियों के आगे अपनी बाइक लगा कर उन्हें रोक उनकी आंखों में मिर्च पाउडर फेंका, परंतु मिर्च पाउडर ठीक से बैंक कर्मचारियों की आंखों में नहीं गिरा।
तभी बैंक कर्मचारियों ने उनकी मंशा को भांपते हुए अपनी बाइक को वहीं छोड़ पैसे के बैग को लेकर वहां से भाग गए। इस दौरान आरोपियों ने पीछा भी किया, लेकिन दोनों कर्मचारी उनके पकड़ने से पहले ही नजदीक स्थित क्रेशर जा पहुंचे थे तथा वहां मौजूद लोगों को इसकी जानकारी दी। इसके बाद आरोपी वहां छोड़ी गई बैंक कर्मचारियों की मोटर साइकिल लेकर भाग गए थे। बैंक कर्मचारियों के अनुसार उनके पास बैग में 40 हजार रुपए थे।

बाइक को बेचने नारनौल आ रहे थे आरोपी

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि आरोपियों ने पूछताछ के दौरान बताया कि यह नारनौल के बैंक कर्मचारियों द्वारा घटनास्थल पर छोड़ी गई बाइक है। वे इस बाइक को बेचने के लिए नारनौल आ रहे थे। पूछताछ के बाद पुलिस ने गुरुवार को दोनों आरोपियों को नारनौल अदालत में पेश किया। अदालत ने इस मामले में सुनवाई करते हुए दोनों आरोपियों को न्यायिक हिरासत में नसीबपुर जेल भेज दिया।

नांगल चौधरी एरिया में सक्रिय रहकर लूटपाट करने की थी योजना

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि आरोपी सतेंद्र उर्फ लीलू राजस्थान के गांव डूंगा नांगल का रहने वाला है। इस आरोपी के खिलाफ राजस्थान में से ज्यादा मुकदमे लूट व डकैती चोरी के दर्ज हैं। राजस्थान पुलिस ने आरोपी को हिस्ट्रीशीटर बनाया हुआ है। ज्यादा मुकदमे पाटन थाना में दर्ज हैं। कई मुकदमों में आरोपी को राजस्थान कोर्ट ने पीओ घोषित किया हुआ है। इस आरोपी के साथ भी एक इसका भांजा शक्ति उर्फ जनार्धन व इसके तीन साथी विकास, नवींन व मनोज सभी राजस्थान के हैं, जो तीनों आरोपी अभी फरार हैं। ये सभी मिलकर अन्ना की तरह ही एक गैंग के रूप में कार्य करने की योजना पर काम कर रहे थे। जो पहली ही वारदात में पुलिस ने इनको पकड़ लिया बाकी आरोपियों को भी जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

No comments:

Post a Comment