/>

Breaking

Tuesday, October 6, 2020

भर्ती को लेकर सीआरएसयू में मचा बवाल,डीन ऑफ एकेडमिक सस्पेंड

भर्ती को लेकर सीआरएसयू में मचा बवाल,डीन ऑफ एकेडमिक सस्पेंड

जींद : ( संजय तिरँगाधारी ) सीआरएसयू के असिस्टेंट प्रोफेसर व एसोसिएट प्रोफेसर भर्ती धांधली आरोपों के चलते विश्वविद्यालय के डीन ऑफ एकेडमिक संदीप बेरवाल ने विश्वविद्यालय में धरना शुरू कर दिया था। जिसको लेकर न केवल टीचिंग स्टाफ की लिस्ट जारी कर दी गई ,बल्कि सीआरएसयू के डीन आफ अकादमी डा. संदीप बेरवाल को तुरंत प्रभाव से निंलबित कर दिया गया है। बतादे कि सीआरएसयू में दो दिन से चल रही शारीरिक शिक्षा के असिस्टेंट प्रोफेसर व एसोसिएट प्रोफेसर के साक्षात्कार मामले में गड़बड़ी के आरोप लगाकर विश्वविद्यालय के डीन ऑफ एकेडमिक संदीप बेरवाल ने विश्वविद्यालय में धरना शुरू कर दिया था । जानकारी के लिए चौधरी रणबीर सिंह विश्वविद्यालय में पूर्व रजिस्ट्रार पर रिकार्ड गायब होने का भी आरोप लगा है। इसके अलावा कुछ अन्य भर्तियों पर भी सवाल उठ चुके थे। बताना लाजमी है कि सीआरएसयू प्रशासनिक खंड के बाहर धरने पर बैठे डीन आफ अकादमी डा. संदीप बेरवाल ने आरोप लगाया कि रात को वीसी तथा रजिस्ट्रार के इशारे पर डीएसपी साधुराम तथा सदर थाना प्रभारी संजय ने उन्हें जबरदस्ती कांफे्रंस हाल से घसीटते हुए बाहर निकाल दिया। इस दौरान उसके साथ दुव्र्यवहार किया गया और प्रशासनिक खंड के गेट को बंद कर दिया गया। जिसके चलते उन्हें बाहर धरना शुरु कर दिया। उन्होंने भर्ती में वीसी, रजिस्ट्रार व सलैक्शन कमेटी के सदस्यों पर धांधली बरतने के आरोपों को दोहराया। उन्होंने कहा कि उन्हें ईसी की बैठक में भी नहीं बुलाया गया, जिसके बारे में उन्होंने वीसी को मैसेज भी भेजा लेकिन उन्होंने कोई उत्तर नहीं दिया। जिसको लेकर उनके खिलाफ चार प्रोफेसरों के नेतृत्व में जांच कमेटी को बैठा दिया गया है। जिनकी रिपोर्ट के आधार पर उनके खिलाफ आगामी कार्रवाई की जाएगी। वहीं, डा. संदीप बेरवाल का धरना सीआरएसयू प्रशासनिक खंड के सामने जारी रहा। वहीं, सफीदों के विधायक सुभाष देशवाल भी सीआरएसयू पहुंचे लेकिन वीसी उनसे नहीं मिले। उन्होंने चल रही भर्ती पर रोक लगाने और भर्ती की जांच सीटिंग जज से करवाने की मांग की। वहीं, सीआरएसयू प्रशासनिक खंड के साथ मुख्य गेट को बंद कर दिया गया और पुलिस बल को तैनात कर दिया गया।

No comments:

Post a Comment