/>

Breaking

Monday, November 9, 2020

6 जिलों को लाभ:हांसी ब्रांच नहर का 100 करोड़ से 18 किमी तक होगा पुनर्निर्माण, 6 से 8 हजार क्यूसिक हो जाएगी क्षमता

6 जिलों को लाभ:हांसी ब्रांच नहर का 100 करोड़ से 18 किमी तक होगा पुनर्निर्माण, 6 से 8 हजार क्यूसिक हो जाएगी क्षमता

 जींद : ( संजय तिरँगाधारी ) समेत प्रदेश के कई जिलों के लोगों के लिए अच्छी खबर है। कई दशक पहले बनी हांसी ब्रांच नहर में पानी की क्षमता बढ़ाने के लिए नहर का अब फिर से र्निमाण होगा। इस प्रोजेक्ट पर 100 करोड़ रुपए की राशि खर्च की जाएगी। इसके बाद इसकी क्षमता 6 हजार क्यूसिक से बढ़कर 8 हजार क्यूसिक पानी की हो जाएगी। इससे जींद सहित प्रदेश के 6 जिलों के किसानों व लोगों को पहले से ज्यादा मात्रा में पानी की सप्लाई हो सकेगी।
इस दौरान करनाल जिला के मूणक हेड से लेकर जींद जिला के अंटा गांव तक 18 किमी लंबी नहर का पुनर्निर्माण होगा। पानी की क्षमता बढ़ाने के लिए नहर को चौड़ा किया जाएगा और नए सिरे से बैड (तलहटी) तैयार की जाएगी। सिंचाई विभाग ने नहर के पुनर्निर्माण कार्य की प्रक्रिया शुरू कर टेंडर जारी कर दिया गया है। नवंबर के अंत में यह टेंडर ओपन होगा। यह निर्माण दो साल में पूरा होना है।

इसलिए पड़ी पुनर्निर्माण की जरूरत

माॅनसून सीजन में पानी की मात्रा बढ़ने के कारण मूनक हेड से लेकर अंटा तक हेड तक हांसी ब्रांच नहर में ज्यादा पानी नहीं छोड़ा जा सकता था। नहर की क्षमता 6 हजार क्यूसिक होने और काफी पुरानी नहर होने के कारण ज्यादा पानी छोड़े जाने से इसके टूटने का खतरा बना रहता था। इसके चलते सिंचाई विभाग ने हांसी ब्रांच नहर के पुनर्निर्माण का फैसला लिया।
इधर, रजबाहा नंबर 4 की भी बढ़ेगी क्षमता, कई गांवों को होगा फायदा सिंचाई विभाग ने जिला के रजबाहा नंबर 4 में पानी की क्षमता बढ़ाने का फैसला लिया है। इसके लिए रजबाहा नंबर 4 का पुनर्निर्माण कार्य होगा और इस पर 12 करोड़ रुपए की राशि खर्च की जाएगी। रजबाहे के पुनर्निर्माण के बाद इसमें पानी की क्षमता 79 क्यूसिक से बढ़कर 100 क्यूसिक हो जाएगी।

इन 6 जिलों को होगा फायदा

इसके पुनर्निर्माण से जींदी, सोनीपत, रोहतक, झज्जर, भिवानी और हिसार को लाभ होगा। इसके अलावा जींद के रजबाहा नंबर-4 की भी बढ़ेगी क्षमता। इसमें पानी की क्षमता 79 क्यूसिक से बढ़कर 100 क्यूसिक हो जाएगी। इससे सफीदों, जुलाना व जींद हलके के कई गांवों के किसानों को फायदा होगा।

किसानों को पहुंचेगा लाभ: गर्ग

मूनक हेड से अंटा हेड तक 18 किलोमीटर लंबी हांसी ब्रांच नहर में पानी की क्षमता बढ़ाने के लिए 100 करोड़ रुपए खर्च होंगे। इसके पूरा होने के बाद नहर में पानी की क्षमता 6 हजार क्यूसिक से बढ़कर 8 हजार क्यूसिक हो जाएगी। इससे 6 जिलों काे लाभा होगा।
-मंगतराम गर्ग, एसई सिंचाई विभाग जींद।

No comments:

Post a Comment