/>

Breaking

Saturday, February 13, 2021

जींद के नागरिक अस्पतालों को मिलेंगे 15 और वेंटिलेटर, डिप्टी सीएम ने की घोषणा

जींद के नागरिक अस्पतालों को मिलेंगे 15 और वेंटिलेटर, डिप्टी सीएम ने की घोषणा 


















जींद :  जींद वासियों के लिए राहत भरी खबर हैं कि उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने जिले को 15 वेंटिलेटर उपलब्ध कराने की घोषणा की है। दावा किया जा रहा है कि अब जिले के नागरिक अस्पताल के साथ-साथ सीएचसी स्तर पर भी मरीजों को वेंटिलेटर की सुविधा मुहैया करवाई जाएगी। जिला अस्पताल को करीब छह महीने पहले छह वेंटिलेटर मिले थे। लेकिन निर्माणाधीन आईसीयू के कारण वे आज तक धूल फांक रहे हैं। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग के लिए सीएचसी स्तर पर वेंटिलेटर की सुविधा मुहैया कराना चुनौती से कम न होगा। यह वेंटिलेटर कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (सीएसआर) योजना के तहत उपलब्ध करवाए जाएंगे।


वेंटिलेटर लगाने के लिए आईसीयू की जरूरत है। इसमें तीन लगातार दरवाजे बंद होने चाहिए, उसके बाद ही अंदर वेंटिलेटर का प्रयोग किया जाता है। वेंटिलेटर के लिए एनेस्थीसिया (बेहोशी) चिकित्सक की आवश्यकता होती है। बिना एनेस्थीसिया चिकित्सक के वेंटिलेटर नहीं लगाया जा सकता। जिले में तीन एनेस्थीसिया चिकित्सक हैं। डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के अनुसार नागरिक अस्पताल में दो, नागरिक अस्पताल सफीदों व नरवाना में दो-दो, उचाना में चार, जुलाना में दो, सीएचसी मुआना, अलेवा व कालवा में एक-एक वेंटिलेटर लगाया जाएगा। 


नागरिक अस्पताल के एक वरिष्ठ चिकित्सक ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि यह संभव ही नहीं कि सीएचसी स्तर पर वेंटिलेटर लगाए जा सकें। इसके लिए आईसीयू की जरूरत पड़ेगी। इसके अलावा वेंटिलेटर चलाने के लिए एनेस्थीसिया चिकित्सक की जरूरत पड़ती है। नागरिक अस्पताल में छह वेंटिलेटर छह महीने पहले आए थे लेकिन आज तक उनको लगाने की सुविधा ही नहीं मिली है। सीएचसी स्तर पर वेंटिलेटर की सुविधा उपलब्ध करवाना चुनौती होगा। इससे तो अच्छा यह होता कि जिले में चिकित्सकों की संख्या बढ़ाई जाए, जिसका लाभ लोगों को मिल सके ताकि गंभीर मरीजों को रोहतक पीजीआई रेफर करने से छुटकारा मिल जाए।

जींद के सिविल सर्जन डॉ. मनजीत सिंह ने कहा किजिन मरीजों के फेफड़े काम करना बंद कर दें और उन्हें सांस लेने में दिक्कत होती हो, उनको वेंटिलेटर की जरूरत पड़ती है। वेंटिलेटर फेफड़ों को ठीक नहीं करता बल्कि फेफड़ों को ठीक होने के लिए समय देता है। वेंटिलेटर से मरीज को सांस लेने में सुविधा होती है और उसके फेफड़ों को ठीक होने के लिए समय मिल जाता है।  उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने जिले को 15 वेंटिलेटर देने की घोषणा की है। जिले के लिए यह बहुत अच्छी बात है। सरकार ने जिले को वेंटिलेटर की सुविधा दी है तो इनको लगाने के लिए सभी प्रकार की सुविधाएं भी मिल जाएंगी। जिले के लोगों को इससे लाभ होगा।

No comments:

Post a Comment