/>

Breaking

Saturday, June 19, 2021

भूपेंद्र हुड्डा का सीएम को जवाब : आप जिसे मेरी राजनीतिक पीड़ा बता रहे, वो हर प्रदेशवासी का दर्द

भूपेंद्र हुड्डा का सीएम को जवाब : आप जिसे मेरी राजनीतिक पीड़ा बता रहे, वो हर प्रदेशवासी का दर्द 
चंडीगढ़ : पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र हुड्डा ने मुख्यमंत्री के बयान पर प्रतिक्रिया दी और कहा कि मुख्यमंत्री खट्टर जिसे मेरी राजनीतिक पीड़ा बता रहे हैं, वो हर हरियाणवी की मानवीय पीड़ा है। हुड्डा ने कहा कि उन्हें इस बात की पीड़ा है कि जिस हरियाणा को हमने साढ़े नौ साल की कड़ी मेहनत से देश का नंबर वन राज्य बनाया था, उसे बीजेपी के कुशासन ने देश के फिसड्डी राज्यों की श्रेणी में लाकर खड़ा कर दिया। हुड्डा ने कहा कि भाजपा और बीजेपी-जेजेपी सरकार में हुए इस नकारात्मक विकास पर हर प्रदेशवासी को पीड़ा महसूस हो रही है। बहरहाल हरियाणावासी भी आपकी तरह एक-एक दिन गिनकर निकाल रहे। लेकिन, हैरानी की बात ये है कि सत्ता में बैठे हुए लोगों को प्रदेश के ये हालात देखकर पीड़ा नहीं होती। भूपेंद्र हुड्डा ने कहा कि उन्हें प्रदेश के किसानों की हालत देखकर पीड़ा होती है। क्योंकि वो 7 महीने से अपनी जायज मांगों को लेकर सड़कों पर संघर्ष कर रहे हैं। नवंबर-दिसंबर की कड़कड़ाती ठंड झेलने के बाद किसान जून की चिलचिलाती गर्मी झेलने को मजबूर हैं। यह पूरे देश के लिए पीड़ादायक है। उन्हें इस बात की पीड़ा है कि आज हरियाणा के युवाओं को रोजगार नहीं मिल पा रहा है।

 https://twitter.com/BhupinderSHooda/status/1405870986948276226?s=19

 देश में सबसे ज्यादा बेरोजगारी झेल रहा है और अपराध व नशे के चंगुल में फंस रहा है। जो राज्य कभी दूसरे प्रदेशों के लोगों को भी रोजगार देने में सक्षम था, वो आज खुद के युवाओं को रोजगार नहीं दे पा रहा है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सरकार भले ही आंखें मूंदकर बैठी हो। लेकिन एक हरियाणवी, एक राजनीतिज्ञ, जिम्मेदार विपक्ष और एक इंसान होने के नाते उन्हें रोज-रोज होने वाली हत्या, बलात्कार, लूट, डकैती, फिरौती, चोरी और अपहरण की वारदातों को देखकर पीड़ा होती है। CM जिसे मेरी राजनीतिक पीड़ा बता रहे हैं, वो हर हरियाणवी की मानवीय पीड़ा है। जिस हरियाणा को 9.5 साल की कड़ी मेहनत से देश का No.1 राज्य बनाया, उसे BJP के कुशासन ने फिसड्डी राज्यों की श्रेणी में लाकर खड़ा कर दिया। क्या सत्ता में बैठे लोगों को प्रदेश के हालात देखकर पीड़ा नहीं होती? — Bhupinder S 
Hooda (@BhupinderSHooda) June 18, 2021 
https://twitter.com/BhupinderSHooda/status/1405870986948276226?s=19

No comments:

Post a Comment