/>

Breaking

Saturday, June 26, 2021

पानीपत पहुंचे डिप्टी CM को दिखाए काले झंडे

पानीपत पहुंचे डिप्टी CM को दिखाए काले झंडे, दुष्यंत चौटाला बोले- पीसफुल प्रोटेस्ट सभी का अधिकार, विपक्ष में हमने भी किए हैं
पानीपत : डिप्टी CM दुष्यंत चौटाला के बुधवार को पानीपत पहुंचने पर विरोध में काले झंडे दिखाए गए। लघु सचिवालय में जिला कष्ट निवारण समिति की बैठक में शामिल होने जा रहे डिप्टी CM के काफिले को किसानों ने काले झंडे दिखाकर विरोध किया। इसपर डिप्टी CM ने कहा कि पीसफुल प्रोटेस्ट सभी का अधिकार है। मीटिंग के दौरान उन्होंने कुल 31 लोगों की समस्याएं सुनकर संबंधित अधिकारियों को निवारण के आदेश दिए हैं। सबसे अधिक मामले पुलिस महकमे से जुड़े हुए आए।

लघु सचिवालय में कष्ट निवारण समिति की बैठक में समस्या सुनते डिप्टी CM
पानीपत में एक साल बाद बुधवार को जिला कष्ट निवारण की मीटिंग आयोजित की गई। डिप्टी CM दुष्यंत चौटाला ने मीटिंग की अध्यक्षता की। 11:22 बजे डिप्टी CM का हेलीकॉप्टर आर्य कॉलेज के मैदान पर उतरा। यहां पहले से ही DC धर्मेंद्र सिंह, SP शशांक कुमार सावन, जजपा जिलाध्यक्ष सुरेश काला, पूर्व जजपा प्रत्याशी देवेंद्र कादियान समेत अन्य समर्थकों ने उनका स्वागत किया। यहां से डिप्टी CM का काफिला लघु सचिवालय की ओर बढ़ा।
लघु सचिवालय के सामने फ्लाईओवर के नीचे भारतीय किसान यूनियन और काले झंडे लिए पहले से खड़े किसानों ने उन्हें काले झंडे दिखाए। हालांकि काफी संख्या में मौजूद पुलिस बल ने किसानों को हाईवे पर नहीं आने दिया। मीटिंग से लौटने के दौरान भी किसानों ने काले झंडे दिखाकर विरोध दर्ज किया।

पीसफुल प्रोटेस्ट सभी का अधिकार
मीटिंग के बाद डिप्टी CM से किसानों की नाराजगी और काले झंडे दिखाने के संबंध में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि पीसफुल प्रोटेस्ट सभी का अधिकार है। कहा कि विपक्ष में रहने के दौरान उन्होंने भी प्रोटेस्ट किए हैं।
पंजाब जैसी घटना हमारे प्रदेश में होती तो देशभर में कड़ा संदेश दिया जाता
पंजाब में भाजपा विधायक के साथ मारपीट और कपड़े फाड़ने पर बोले कि इस प्रकार की घटना हरियाणा में हुई होती तो कार्रवाई से पूरे देश में कड़ा संदेश दिया जाता। इस घटना को उन्होंने पंजाब सरकार और पंजाब पुलिस का फेलियर बताया।

कहां गए 40 नेता?
डिप्टी CM ने कहा कि 40 नेताओं ने हजारों किसानों को विरोध के लिए उकसाया है। अब उन 40 नेताओं का कहीं अता-पता नहीं है। उन्होंने कहा कि किसानों का यह मुद्दा केवल चर्चा से हल होगा और केंद्र सरकार चर्चा के लिए तैयार है, लेकिन 40 नेताओं का पता नहीं लग रहा।

फसल का एक-एक दाना खरीदा जाएगा
डिप्टी CM ने कहा कि सरसों और गेहूं की खरीद एक अप्रैल से शुरू होगी। किसानों की फसल का एक-एक दाना खरीदा जाएगा और जे फार्म एक्सेप्ट होने के 24 घंटे के अंदर किसानों के खातों में भुगतान किया जाएगा। भुगतान में 48 से 72 घंटे होने पर 9% के ब्याज के साथ भुगतान होगा।

*कष्ट निवारण मीटिंग में सुनी 31 समस्याएं*
कष्ट निवारण समिति की मीटिंग में भावुक होकर समस्या सुनाता पीड़ित।
कष्ट निवारण समिति की मीटिंग में भावुक होकर समस्या सुनाता पीड़ित।
करीब दो घंटे चली कष्ट निवारण समिति कर मीटिंग में डिप्टी CM ने कुल 31 लोगों की समस्याएं सुनी। इनमें पहले से प्रस्तावित 7 नई, 6 लंबित और 3 CM विंडो से प्राप्त शिकायतें थीं। इनके अलावा लोगों ने व्यक्तिगत रूप से भी CM को समस्याओं से अवगत कराया। सबसे अधिक मामले पुलिस महकमे से जुड़े रहे। डिप्टी CM ने सभी शिकायतों के निस्तारण के लिए संबंधित अधिकारियों की समिति बनाकर जल्द निपटारे के आदेश दिए हैं।

*रोजगार मांगने पहुंचे युवक को मुद्रा लोन*
कष्ट निवारण समिति की मीटिंग में ITI पास एक युवक रोजगार मांगने पहुंचा। युवक ने खुद को इलेक्ट्रिशियन से पास आउट बताया तो डिप्टी CM ने रोजगार के स्थान पर स्वरोजगार की सलाह दी और संबंधित अधिकारी से युवक को मुद्रा लोन देने के आदेश दिए।​​​​​​

*विरोध के चलते तीन बार रद्द हो चुकी थी मीटिंग*
कष्ट निवारण समिति की मीटिंग करीब एक साल बाद हुई है। किसानों के विरोध को देखते हुए हाल ही में तीन बाद मीटिंग को रद्द करना पड़ा।​ बीती 26 मार्च को भी मीटिंग निर्धारित थी, लेकिन भारत बंद और किसानों के विरोध के कारण मीटिंग रद्द कर दी गई थी।

No comments:

Post a Comment