/>

Breaking

Friday, July 9, 2021

जींद में रस्सी से खींचे ट्रैक्टर व सिर पर खाली एलपीजी सिलेंडर रख जताया विरोध

जींद में रस्सी से खींचे ट्रैक्टर व सिर पर खाली एलपीजी सिलेंडर रख जताया विरोध
-बढ़ती महंगाई को लेकर बिफरे जींद के किसान-मजदूर
-केंद्र व प्रदेश सरकारों के खिलाफ नारेबाजी
जींद, 8 जुलाई ( संजय कुमार ) पेट्रोलियम पदार्थों, रसोई गैस आदि की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ वीरवार को जिले भर में किसानों ने प्रदर्शन किए। नरवाना, जुलाना, उचाना व सफीदों में भी बढ़ती महंगाई को लेकर विरोध जताया गया।
जींद में लघु सचिवालय पर प्रदर्शन के दौरान किसान-मजदूरों ने ट्रैक्टर को रस्सी से खींचकर तथा महिलाओं ने खाली रसोई गैस के सिलेंडरों को सिर पर रखकर विरोध जताया। 
इससे पहले किसान, मजदूर, नौजवान व महिलाएं लघु सचिवालय के बाहर धरने पर बैठे। धरने की अध्यक्षता सयुंक्त रूप से किसान सभा के जिला प्रधान रोहताश नगूरां व भारतीय किसान यूनियन (रत्न मान) के प्रवक्ता राम राजजी ढुल ने किया। धरने को किसान सभा के राज्य अध्यक्ष फूल सिंह श्योकन्द, सीटू के राज्य उपाध्यक्ष कॉमरेड रमेश चन्द्र,  एसकेएस के जिला प्रधान रामफल दलाल, किसान नेता रामफल कंडेला, छाजू राम कंडेला, पूनम रेढू ने सम्बोधित किया।
 इन्होंने बताया कि देश में पेट्रोलियम पदार्थों के रेट लगातार आसमान छू रहे हैं। भारत में आज डीजल और पेट्रोल की कीमत लगभग 100 रुपये प्रति लीटर है। ज्ञात हो कि आम नागरिकों द्वारा भुगतान किए जा रहे ईंधन की कीमतों का 65% कर के रूप में सरकार को जाता है। भारत में ईंधन की कीमतें अभी श्रीलंका, बांग्लादेश और नेपाल जैसे हमारे पड़ोसी देशों सहित अन्य देशों की तुलना में काफी अधिक हैं। सच्चाई यह है कि विमानन ईंधन उस ईंधन से सस्ता है, जिसका उपयोग किसानों जैसे आम उपभोक्ता करता है। नागरिक इस बोझ को सहन करना जारी नहीं रख सकते हैं और इस संदर्भ में आज जींद में महंगाई के विरोध में प्रदर्शन किए जा रहे हैं। दूसरी तरफ रसोई गैस, सरसों के तेल, खाद्य पदार्थ, खाद, बीज, दवाई आदि महंगे होते जा रहे हैं और आम आदमी का गुजारा चलाना नामुमकिन होता जा रहा है।
आज के इस प्रदर्शन में मुख्य रूप उपरोक्त के इलावा किसान सभा के राजेन्द्र निडाना, शमशेर निडाना, सीटू नेता संदीप जाजवान, राजेश कुमार, पवन कुमार, संदीप दालमवाला, महाबीर, संजीव ढांडा, धर्मबीर घनघस, युवाओं साथी दीपक संगतपुरा, अनीश, सन्नी, काली, नारीशक्ति रतनी देवी, पताशो, शांति आदि मुख्य रूल से शामिल हुए।
प्रदर्शन के बाद संगतपुरा गांव के किसान, महिलाएं व नौजवान बिजली की समस्या व पानी की समस्या की लेकर सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों से मिले व अपनी समस्याओं के ज्ञापन दिए।
खटकड़ टोल प्लाजा पर किसानों ने अपने वाहन एक ओर खड़े कर विरोध जताया। इस दौरान केंद्र व प्रदेश सरकार के खिलाफ भारी नारेबाजी भी की गई।
नरवाना में बद्दोवाल टोल प्लाजा से लेकर शहर के बीचों बीच लघु सचिवालय तक प्रदर्शन किया और अपनी मांगों को ज्ञापन एसडीएम सुरेन्द्र सिंह को सौंपा। यह प्रदर्शन बदोवाल टोल प्लाजा से पतराम नगर, रेलवे रोड़, भगत ङ्क्षसह चौक, विश्वकर्मा चौंक से लघु सचिवालय तक किया गया। किसान नेता मास्टर बलबीर सिंह ने बताया कि सरकार द्वारा हर उस वस्तु को आए दिन महंगा किया जा रहा है। जिसकी आम आदमी को हर रोज जरूरत पड़ती है। इसमें पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस व बिजली मुख्य है।

No comments:

Post a Comment