/>

Breaking

Monday, September 6, 2021

छेड़छाड़ का आरोपी सरकारी डॉक्टर गिरफ्तार

छेड़छाड़ का आरोपी सरकारी डॉक्टर गिरफ्तार:सरकारी महिला डॉक्टर बोली- हर दूसरे दिन आकर करता है गलत इशारे, करनाल से 35 किमी दूर तबादले के बावजूद नहीं छोड़ा पीछा
करनाल : हरियाणा के करनाल में पुलिस ने सरकारी महिला डॉक्टर से छेड़छाड़ करने के आरोपी सरकारी डॉक्टर को गिरफ्तार किया है। आरोपी 35 किलोमीटर दूर तबादला किए जाने के बावजूद अपनी हरकतों से बाज नहीं आया। वह हर दूसरे दिन अस्पताल पहुंच जाता और महिला डॉक्टर से छेड़छाड़ करता। पीड़िता ने परेशान होकर आरोपी डॉक्टर के खिलाफ शिकायत दी, जिसके बाद पुलिस ने उसे पकड़ लिया।
पुलिस के अनुसार, इन्द्री सिविल अस्पताल में तैनात एक महिला डॉक्टर ने शिकायत दी कि डॉक्टर विजय कुमार उसका पीछा करता है और गलत इशारे करता है। वह कई बार उससे छेड़छाड़ कर चुका है। महिला डॉक्टर के अनुसार, आरोपी विजय कुमार ने पहले भी एक बार उससे छेड़छाड़ की थी। तब उसने सिविल सर्जन को शिकायत दी थी जिसके बाद आरोपी डॉक्टर विजय कुमार ने उससे माफी मांगकर मामला खत्म करवा लिया था। अब दोबारा वह पुरानी हरकतें करने लगा जिससे वह मानसिक रूप से परेशान हो गई है।
महिला डॉक्टर के अनुसार, उसकी पहली शिकायत के बाद स्वास्थ्य विभाग ने आरोपी डॉक्टर विजय कुमार का तबादला इन्द्री से 35 किलोमीटर दूर निगदू में कर दिया था, लेकिन डॉक्टर ने वहां आकर भी छेड़छाड़ करना जारी रखा। तंग आकर उसे पुलिस को शिकायत देनी पड़ी। इसके बाद पुलिस ने डॉक्टर को पकड़ लिया। पुलिस का कहना है कि आरोपी डॉक्टर से पूछताछ चल रही है। इस संदर्भ में सिविल सर्जन को सूचित कर दिया गया है।
*डेपुटेशन पर भेजा था दूर*
सिविल सर्जन डॉ योगेश शर्मा ने महिला डॉक्टर की शिकायत के बाद आरोपी डॉक्टर विजय कुमार को सबक सिखाने के लिए डेपुटेशन पर निगदू भेजा था। इसके बावजूद आरोपी ने इन्द्री जाकर महिला डॉक्टर को परेशान करना जारी रखा।
*स्टाफ की खींचतान आती रहती है सामने*
बताया जा रहा है कि करनाल सिविल सर्जन ऑफिस में इस तरह के कई विवाद चल रहे हैं। सिविल सर्जन भी विवादों में है। स्टाफ की खींचतान के चलते एक दूसरे की लापरवाही सामने आ रही है।
*जांच जारी है*

इंद्री थाना प्रभारी सचिन का कहना है कि सरकारी महिला डॉक्टर की शिकायत पर आरोपी डॉक्टर विजय कुमार को छेड़छाड़ समेत अन्य आरोपों के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले की जांच पड़ताल जारी है।

No comments:

Post a Comment