/>

Breaking

Showing posts with label Haryana Blletin News. Show all posts
Showing posts with label Haryana Blletin News. Show all posts

Thursday, November 11, 2021

November 11, 2021

बीजेपी-जेजेपी पार्टी के दिन अब लद चुके हैं : कमांडो रामेश्वर श्योराण

बीजेपी-जेजेपी पार्टी के दिन अब लद चुके हैं : कमांडो रामेश्वर श्योराण
जींद : ( संजय कुमार ) ÷आम आदमी पार्टी कि जिले की पांचों विधानसभा क्षेत्रों के पदाधिकारियों की मीटिंग बुधवार को सफीदों रोड स्थित एक निजी स्कूल में हुई। मुख्य अतिथि संयोजक पश्चिमी जोन एवं राष्ट्रीय सदस्य लक्ष्य गर्ग,  संगठन मंत्री रामेश्वर श्योराण कमांडो पश्चिमी जोन विशेष अतिथि के रूप में मौजूद थे। जिला प्रधान लाभ सिंह सिद्धू ने बैठक की अध्यक्षता करते हुए बैठक की शोभा बढ़ाई।पार्टी के पश्चिमी जोन संयोजक लक्ष्य गर्ग ने कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों को का आह्वान करते हुए कहा संगठन को मजबूत बनाएं और उन्होंने संगठन को मजबूत बनाने की दिशा निर्देश दिए वार्ड स्तर व पंचायत स्तर पर संगठन को मजबूत बनाकर लोगों के दुख दर्द लोगों की समस्याएं दूर करवाने का काम करें। चाहे इसके लिए कितना ही संघर्ष करना पड़े कितने ही आंदोलन करने पड़े। प्रेस प्रवक्ता डॉक्टर गणेश कौशिक ने जानकारी देते हुए बताया की  विशेष अतिथि के रूप में विराजमान कमांडो रामेश्वर श्योराण ने कहा की बीजेपी सरकार के दिन अब लद चुके हैं। दिनों दिन बढ़ती महगाई किसानों की समस्या की तरफ हरियाणा सरकार बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे रही है। सरकार बिल्कुल भी जनता की समस्याओं के प्रति गंभीर नहीं है। आने वाले समय में आम आदमी पार्टी की सरकार बनेगी।    
जिला प्रधान लाभ सिंह सिद्धू ने कहां की उन्होंने जींद जिले में संगठन की एक मजबूत टीम तैयार कर दी है और जींद जिले के समस्याओं के लिए लड़ेंगे तथा संघर्ष करेंगे। उन्होंने संगठन को जींद जिले में और मजबूत बनाने का कार्यकर्ताओं से आह्वान किया। 
जींद विधानसभा महिला अध्यक्ष डॉ रजनीश जैन ने कहा कि उन्होंने महिलाओं की जींद में एक सशक्त टीम खड़ी कर दी है तथा वे दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक की तर्ज पर मेडिकल कैंप नि:शुल्क लगाती हैं। इस अवसर पर पांचों विधानसभा क्षेत्रों के अध्यक्ष व संगठन मंत्री मौजूद थे। विशेष रुप से जींद विधानसभा के अध्यक्ष तरसेम गोयल भी उपस्थित थे। अन्य उपस्थित होने वालों में संगठन मंत्री आईडी गोयल अध्यक्ष, वीरेंद्र आर्य उचाना अध्यक्ष, अनिल सुद्कैन, युवा अध्यक्ष विक्रम चहल, अध्यक्ष वेद प्रकाश बेनीवाल , सुधीर गर्गज़ राजेश यादव, पाला रामज़ महावीर शर्मा आदि उपस्थित थे।

Monday, September 6, 2021

September 06, 2021

छेड़छाड़ का आरोपी सरकारी डॉक्टर गिरफ्तार

छेड़छाड़ का आरोपी सरकारी डॉक्टर गिरफ्तार:सरकारी महिला डॉक्टर बोली- हर दूसरे दिन आकर करता है गलत इशारे, करनाल से 35 किमी दूर तबादले के बावजूद नहीं छोड़ा पीछा
करनाल : हरियाणा के करनाल में पुलिस ने सरकारी महिला डॉक्टर से छेड़छाड़ करने के आरोपी सरकारी डॉक्टर को गिरफ्तार किया है। आरोपी 35 किलोमीटर दूर तबादला किए जाने के बावजूद अपनी हरकतों से बाज नहीं आया। वह हर दूसरे दिन अस्पताल पहुंच जाता और महिला डॉक्टर से छेड़छाड़ करता। पीड़िता ने परेशान होकर आरोपी डॉक्टर के खिलाफ शिकायत दी, जिसके बाद पुलिस ने उसे पकड़ लिया।
पुलिस के अनुसार, इन्द्री सिविल अस्पताल में तैनात एक महिला डॉक्टर ने शिकायत दी कि डॉक्टर विजय कुमार उसका पीछा करता है और गलत इशारे करता है। वह कई बार उससे छेड़छाड़ कर चुका है। महिला डॉक्टर के अनुसार, आरोपी विजय कुमार ने पहले भी एक बार उससे छेड़छाड़ की थी। तब उसने सिविल सर्जन को शिकायत दी थी जिसके बाद आरोपी डॉक्टर विजय कुमार ने उससे माफी मांगकर मामला खत्म करवा लिया था। अब दोबारा वह पुरानी हरकतें करने लगा जिससे वह मानसिक रूप से परेशान हो गई है।
महिला डॉक्टर के अनुसार, उसकी पहली शिकायत के बाद स्वास्थ्य विभाग ने आरोपी डॉक्टर विजय कुमार का तबादला इन्द्री से 35 किलोमीटर दूर निगदू में कर दिया था, लेकिन डॉक्टर ने वहां आकर भी छेड़छाड़ करना जारी रखा। तंग आकर उसे पुलिस को शिकायत देनी पड़ी। इसके बाद पुलिस ने डॉक्टर को पकड़ लिया। पुलिस का कहना है कि आरोपी डॉक्टर से पूछताछ चल रही है। इस संदर्भ में सिविल सर्जन को सूचित कर दिया गया है।
*डेपुटेशन पर भेजा था दूर*
सिविल सर्जन डॉ योगेश शर्मा ने महिला डॉक्टर की शिकायत के बाद आरोपी डॉक्टर विजय कुमार को सबक सिखाने के लिए डेपुटेशन पर निगदू भेजा था। इसके बावजूद आरोपी ने इन्द्री जाकर महिला डॉक्टर को परेशान करना जारी रखा।
*स्टाफ की खींचतान आती रहती है सामने*
बताया जा रहा है कि करनाल सिविल सर्जन ऑफिस में इस तरह के कई विवाद चल रहे हैं। सिविल सर्जन भी विवादों में है। स्टाफ की खींचतान के चलते एक दूसरे की लापरवाही सामने आ रही है।
*जांच जारी है*

इंद्री थाना प्रभारी सचिन का कहना है कि सरकारी महिला डॉक्टर की शिकायत पर आरोपी डॉक्टर विजय कुमार को छेड़छाड़ समेत अन्य आरोपों के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले की जांच पड़ताल जारी है।

Thursday, June 3, 2021

June 03, 2021

खिलाडी पदक लाओ, सरकार देगी प्रोत्साहन राशि : गजेंद्र फौगाट

खिलाडी पदक लाओ, सरकार देगी  प्रोत्साहन राशि : गजेंद्र फौगाट
’मनोहर लाल ने दिए सभी  ओलंपियन को पांच-पांच  लाख
-मुख्यमंत्री के आदेश पर ओलंपिक परिवारों से मिलने पहुंचे सरकार के ओएसडी फौगाट
जींद : ( संजय कुमार ) हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक विजेताओं को  6 करोड  रुपये देने की घोषण की है।
ये बात प्रदेश सरकार के ओएसडी गजेंद्र फौगाट ने कही । वे आज जींद के गांव निडानी पहुंचे और ओलंपियन कुश्ती की खिलाडी अंशु मालिक  के घर जाकर उनके परिवार से मिले और उनको बधाई दी। ये एक शिष्टाचार भेंट थी। इस अवसर पर भारतीय कुश्ती दल के चीफ  कोच व ओलम्पियन पहलवानों को ट्रेनिंग दे रहे कुलदीप मलिक भी उनके साथ उपस्थित थे
इस दौरान उन्होंने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेश के सभी ओलंपियन खिलाडियों को बधाई दी। उसी कडी में मुझे आज उनके घरद्वार  जाकर उनके परिवारों से मिलने का मौका मिला है। 
इस अवसर पर फौगाट ने ’खेल निदेशक पंकज नैन आईपीएस से दूरभाष पर अंशु मालिक व उनके पिता की बात भी करवाई।  खेल निदेशक से अंशु के पिता धर्मवीर मालिक ने बात की और विजेता खिलाडियों के लिए  प्रोत्साहन के रूप में दी गई 5 लाख रुपयं की अग्रिम राशि के लिए खेल विभाग के निदेशक व मुख्यमंत्री का आभार जताया।
 गजेंद्र फौगाट ने इस अवसर पर जानकारी देते हुए बताया की  प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेताओं को 6 करोड रुपए इनाम राशि देने की घोषणा की है, जिससे सभी ओलंपियन व उनके परिवार उत्साहित हैं। उन्होंने कहा कि सभी ओलंपिक परिवारों ने इस बात के लिए प्रदेश सरकार की खेल नीति की सराहना की व कहा कि हरियाणा प्रदेश की इस खेल नीति को भारत के अन्य प्रदेशों को भी अपनाना चाहिए ताकि उन प्रदेशों के खिलाड़ी भी उत्साहित होकर भारतवर्ष के लिए मेडल ला सकें।
फौगाट ने अंशु को खेल मंत्री द्वारा भेजा प्रशस्ति पत्र भेंट करते हुए कहा कि हरियाणा प्रदेश का युवा आज गांव गांव में उत्साह से खेल की तैयारी में लगा हुआ है । इस कड़ी में इसी वर्ष होने वाले ओलंपिक व खेलो इंडिया के आयोजन से भी युवाओं के उत्साह में अजाफा होगा।
उन्होंने कहा कि इस बार खेलो इंडिया की हरियाणा प्रदेश मेजबानी करेगा व इसमे देश के होनहार 8 हजार खिलाडी भाग लेंगे।
 इस अवसर पर टीम के डोपिंग टेस्ट एक्सपर्ट किम जोंग, खेल विशेषज्ञ राजनारायण, जगदीप शर्मा, विशेष सचिव नवीन लाम्बा समेत अनेकों गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।
June 03, 2021

सचिव के दिल्ली बुलावे पर मोदी-ममता में ठनी

मुख्य सचिव के दिल्ली बुलावे पर मोदी-ममता में ठनी, केजरीवाल बोले- लड़ने के बजाय राज्यों की मदद करे केंद्र
नई दिल्ली : पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय के पीएम मोदी द्वारा की गई समीक्षा बैठक में देर से पहुंचने के बाद केंद्र सरकार द्वारा उन पर बड़ी कार्रवाई की गई है। केंद्र सरकार ने पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अलपन बंधोपाध्याय को दिल्ली वापस बुला लिया है।
लेकिन पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री और केंद्र सरकार अलपन बंदोपाध्याय को लेकर एक बार फिर आमने सामने आ चुके हैं।
केंद्र सरकार के आदेश के मुताबिक, पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय को सोमवार 10 बजे दिल्ली आकर रिपोर्ट करना था। लेकिन उनको सरकार ने उन्हें रिलीव नहीं किया।
बल्कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस संदर्भ में पीएम मोदी को पत्र लिखकर उनके फैसले पर दोबारा विचार करने के लिए कहा है।
ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को लिखे पत्र में कहा है कि वह केंद्र सरकार के इस फैसले से स्तब्ध और हैरान है। यह आदेश एकतरफा और असंवेधानिक है।
राज्य में चल रहे कोरोना महासंकट जैसे हालात में उन्होंने मुख्य सचिव अल्पना बंदोपाध्याय को रिलीव करने से मना कर दिया है। उन्होंने कहा है कि वे केंद्र सरकार के आगे नहीं झुकेंगी।
केंद्र सरकार और ममता बनर्जी के बीच इस मुद्दे पर चल रही तनातनी के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है।
उन्होंने फेसबुक पर एक पोस्ट कर लिखा है कि “ये समय राज्य सरकारों से लड़ने का नहीं है, सबके साथ मिलकर करोना से लड़ने का है। ये समय राज्य सरकारों की मदद करने का है, उन्हें वैक्सीन उपलब्ध करवाने का है।
सभी राज्य सरकारों को साथ लेकर एक होकर टीम इंडिया बनकर काम करने का है। लड़ाई झगड़े और राजनीति करने को पूरी ज़िंदगी पड़ी है।”
आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अलपन बंधोपाध्याय को केंद्र सरकार के आदेश के मुताबिक दिल्ली रिपोर्ट करने से पहले तकनीकी रूप से ममता सरकार द्वारा कार्यमुक्त होना जरूरी है। लेकिन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस ट्रांसफर को मंजूरी नहीं दी है।

Monday, September 21, 2020

September 21, 2020

बहादुरगढ़ : अब बच्चों को स्कूल भेजने को लेकर असमंजस में अभिभावक

बहादुरगढ़ : अब बच्चों को स्कूल भेजने को लेकर असमंजस में अभिभावक

बहादुरगढ़ : सरकार के नौवीं से 12वीं कक्षा तक के स्कूली बच्चों के लिए स्कूल खोलने  के फैसले के बाद अब अपने बच्चों को स्कूल भेजने को लेकर अभिभावक असमंजस में हैं। परिजन दुविधा में हैं कि कोरोना  के बढ़ते संक्रमण के मामलों को देखते हुए वे अपने बच्चों को स्कूल भेजें या न भेजें।
हरिभूमि प्रतिनिधि रवींद्र राठी से विशेष बातचीत में मौजूदा स्थिति को देखते हुए बच्चों को स्कूल भेजने के पक्ष में बहुत कम अभिभावक मिले। बता दें कि केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार सोमवार (आज) से छात्र अभिभावकों की अंडरटेकिंग के बाद शिक्षक से समय लेकर स्कूल जा सकते हैं।

स्कूल भेजना सुरक्षित नहीं
श्री रामा भारती पब्लिक स्कूल में 10वीं कक्षा के छात्र दीपांशु राठी के पिता प्रवीण कुमार का कहना है कि बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए बच्चे को स्कूल भेजना सुरक्षित नहीं है। बस से सफर करने और पूरा दिन क्लॉस में अन्य बच्चों के साथ बैठने से संक्रमण फैलने का खतरा रहेगा। बच्चे की जिंदगी पहले है, इसीलिए वे अपने बेटे को स्कूल नहीं भेजेंगे।
कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच स्कूल कैसे भेज सकते हैं
स्कॉलर्स ग्लोबल में 10वीं कक्षा की छात्रा लतिका के पिता अशोक राठी ने कहा कि बेटी को कोरोना के बढ़़ते मामलों के बीच स्कूल कैसे भेज सकते हैं। बच्चे की पढ़ाई और उसके स्वास्थ्य दोनों की चिंता है। लेकिन बच्चे की जिंदगी को खतरे में नहीं डाला जा सकता। स्कूल में एक बच्चे से दूसरे को संक्रमण फैलने का खतरा रहेगा। ऑनलाइन पढ़ाई ठीक है, कम से कम बच्चे तो सुरक्षित हैं।

 बच्चों को स्कूल भेजकर जान जोखिम में नहीं डाल सकते

बाल भारती स्कूल में 12वीं कक्षा की छात्रा जाह्नवी के पिता वीरेंद्र वत्स कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में बच्चों को स्कूल भेजकर जान जोखिम में नहीं डाल सकते। यह साल जान बचाने का है, क्यों बच्चों की जिंदगी से खिलवाड़ करें। इस कोरोना महामारी को लेकर पहले कभी अनुभव नहीं रहा है। किशोरों द्वारा कोरोना से बचाव के नियमों के पालन को लेकर संशय है।
बच्चों को स्कूल नहीं भेजना चाहते
सेंच्युरी स्कूल में 12वीं की छात्रा मेघना व हरदयाल स्कूल में 11वीं के छात्र उपांशु के पिता बिजेंद्र राठी का कहना है कि हम अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेजना चाहते। एक बच्चे को भी अगर कोरोना होगा, तो वह सभी बच्चों तक फैल जाएगा। हम बच्चों को कहां तक देखेंगे। प्रतिदिन बढ़ रहे संक्रमण के प्रकोप के बीच हमें अपने बच्चों को स्कूल भेजने में डर लग रहा है।
बच्चों की शंका दूर करने की हर संभव कोशिश की जाएगी
डीपीएस स्कूल की कोऑर्डिनेटर दिव्या राठी का कहना है कि केंद्र सरकार के निर्देश के अनुसार स्कूल आने वाले बच्चों की शंका दूर करने की हर संभव कोशिश की जाएगी। अभिभावकों की लिखित अनुमति के बिना किसी विद्यार्थी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। अभी सीमित मात्रा में ही छात्रों को स्कूल आने की अनुमति प्रदान की जाएगी। शिक्षक स्कूल से ही नियमित ऑनलाइन क्लॉस ले रहे हैं।

Tuesday, August 25, 2020

August 25, 2020

विदाई के समय दुल्हन का अपहरण:फिल्मी कहानी की तरह पिस्टल तानकर दुल्हन को उठा ले गया युवक, मदद के लिए साथ लाया था 5-6 दोस्त

विदाई के समय दुल्हन का अपहरण:फिल्मी कहानी की तरह पिस्टल तानकर दुल्हन को उठा ले गया युवक


रोहतक : मोखरा गांव में 2 माह पहले यदि समाज की पंचायत और पुलिस एक सिरफिरे युवक पर सख्त कार्रवाई करती तो शायद दुल्हन का अपहरण होने से बच जाता। गांव की एक दुल्हन का फिल्मी तर्ज पर सोमवार दोपहर बाद करीब साढ़े 4 बजे अपहरण कर लिया गया। लड़की शादी के बाद अपने पति, भाई व अन्य रिश्तेदारों के साथ सफारी गाड़ी में अपनी ससुराल भिवानी जा रही थी।
मोखरा मोड़ पर ड्रेन के पास उसके ही पड़ोसी युवक ने 5-6 साथियों के साथ गाड़ी को रुकवाया और पिस्तौल व डंडों के दम पर अपहरण कर लिया। आरोपी दूल्हे की गाड़ी भी लेकर फरार हो गए। पुलिस ने अपहरण, लूट, स्नेचिंग, एससीएसटी एक्ट व अन्य धाराओं में केस दर्ज कर दुल्हन की तलाश शुरू कर दी। 2 घंटे बाद मुख्य आरोपी माेहित अपनी बुआ के घर साेनीपत के खिजरपुर जट माजरा में लड़की काे छाेड़कर फरार हो गया।
मोहाना थाना पुलिस लड़की को अपने साथ ले आई, जहां से उसे रोहतक ले जाया गया। रात करीब 11 बजे उसका सिविल अस्पताल में मेडिकल करवाया गया। लड़की के बालिग होने यानी 18 वर्ष की होने पर भी संशय है। इसकी जांच होगी। लड़की अनुसूचित जाति से है। सवर्ण जाति से संबंधित करीब 26 वर्षीय पड़ोसी मोहित के बारे में कई बार दोनों पक्षों की गांव में पंचायत हो चुकी है।
पुलिस में शिकायत भी दी जा चुकी थी। लड़की के परिजनों का कहना है कि युवक से परेशान होकर उन्होंने जल्दबाजी में लड़की की शादी की। वहीं, लड़की के बयान इस केस में अहम साबित हो सकते हैं। मजिस्ट्रेट के सामने बयान और काउंसिलिंग के बाद ही सच सामने आएगा।
दूल्हे ने कहा- पिस्तौल और लाठी-डंडे दिखाकर मेरी दुल्हन को ले गए
दूल्हे सोमबीर ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह शादी के बाद अपनी दुल्हन, साले, फूफा, फोटोग्राफर व अन्य के साथ सफारी गाड़ी में वापस अपने घर आ रहा था। करीब साढ़े 4 बजे मोखरा मोड़ ड्रेन के पास कलानौर पहुंचे तो एक लड़के ने रुकने का इशारा किया। उसने पिस्तौल निकालकर ड्राइवर पर तान दी। इसी वक्त 5-6 लड़के आ गए।
एक बदमाश ने पिस्तौल मेरी कनपटी पर रख दी। मुझे और परिवार के अन्य सदस्यों को धक्का देकर गाड़ी से उतार दिया। उसके बाद हमारी ही सफारी गाड़ी में मेरी दुल्हन को लेकर आरोपी युवक फरार हो गए। मेरे साले ने दो युवकों को पहचान लिया। इसमें मोखरा गांव का मोहित और साहिल शामिल थे। इसके बाद लड़की के घर वालों की इसकी सूचना दी गई और सभी कलानौर थाने में पहुंचकर शिकायत दी गई।
मां बोली- डर के मारे केवल पांच बाराती बुलाकर की थी शादी, लेकिन नहीं माना आरोपी : लड़की की मां ने आरोप लगाया कि युवक मोहित उनकी बेटी को 3 माह से परेशान कर रहा था। स्कूल जाते हुए भी पिस्तौल दिखाकर परेशान करता था। एक दिन तो वह घर में घुस आया। हमने उसे पकड़ भी लिया। इस बारे में पुलिस को शिकायत दी गई, लेकिन आश्वासन दे दिया गया।
इस बारे में दो माह पहले पंचायत भी हुई थी, जिसमें आश्वासन दिया गया था कि वह परेशान नहीं करेगा। इसके बाद भी जब हालात नहीं सुधरे। अब हमने डर के मारे बारात में चुपचाप केवल पांच लोग बुलाए। इसके बावजूद उसे भनक लग गई। उसने ही हमारी बेटी का अपहरण किया है। पुलिस यदि समय पर कार्रवाई करती तो यह नौबत नहीं आती।

रात 11 बजे लड़की का करवाया मेडिकल

लगभग साढ़े 6 बजे आरोपी मोहित अपनी बुआ के घर सोनीपत के गांव खिजरपुर जट माजरा में लड़की को छोड़ने पहुंचा। यहां पर उसे अपनी बुआ नहीं मिली। उसकी बुआ ने आने पर पुलिस को शिकायत दी। मोहाना थाना पुलिस लड़की को अपने साथ ले आई। बाद में रोहतक पुलिस लगभग साढ़े 10 बजे लड़की को सोनीपत से लेकर रोहतक के सिविल अस्पताल में पहुंची। यहां पर उसका मेडिकल करवाया गया। मंगलवार को उसके बयान हो सकते हैं।
आरोपियों को पकड़ने काे मार रहे छापे
मामले की जांच डीएसपी महम शमशेर सिंह दहिया को सौंपी गई है। आरोपियों की तलाश में पुलिस की कई टीम छापेमारी कर रही है। देररात तक आरोपियों और लूटी गई गाड़ी का कोई सुराग हाथ नहीं लगा था।
लड़की के घर पर पीसीआर तैनात
मोखरा गांव में लड़की के घर पर सुरक्षा की दृष्टि से पीसीआर तैनात कर दी गई है। घटना को लेकर पुलिस के प्रति भी परिजनों में रोष है। गांव में शराब ठेके को लेकर भी विरोध जताया जा रहा है। इस ठेके का आरोपी से संबंध बताया जा रहा है। वहीं, कलानौर थाने में वर व वधु पक्ष देर रात तक मौजूद रहा। कई बार थाने में विवाद की स्थिति बनी रही। इस बारे में मौजिज ग्रामीणों ने बीच-बचाव किया।

Sunday, August 2, 2020

August 02, 2020

दीपक कौशिक ने बनाया भव्य श्रीराम चित्र

दीपक कौशिक ने बनाया भव्य श्रीराम चित्र


जींद, 2 अगस्त। हिंदुओं के आराध्य भगवान श्री राम की जन्म स्थली अयोध्या में कई वर्षों पुरानी मन्नत 5 अगस्त को राम मंदिर भूमि पूजन से पूर्ण हो जाएंगी और वहां भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर का निर्माण होगा इस उत्सव पर हम कोविड-19 के कारण वहां नहीं जा सकते पर अपनी आस्था श्रद्धा के दीप जलाकर भगवान श्री राम की आराधना कर सकते हैं देश में लाखों रामभक्त अपने अपने माध्यम से इस भव्य नजारे को और सुंदर बनाने में लगे हैं जीन्द के युवा चित्रकार एवं संस्कार भारती हरियाणा के प्रांत चित्रकला प्रमुख दीपक कौशिक ने अनूठे रुप से भगवान राम को श्रद्धा सुमन अर्पित किए भगवान राम का 24 फुट का विशाल चित्र बनाया है उन्होंने बताया कि कलाकार होने के नाते रंगों के माध्यम से राम का चित्र इस पावन अवसर पर बनाना सुखद अनुभूति प्रदान कर रहा है संस्कार भारती हरियाणा प्रांत में अनेक स्थानों पर भव्य रंगोली, चित्र, दीप मालाओं से कलाकार अपनी अभिव्यक्ति जाहिर करेंगे।