Breaking

Showing posts with label Fatehabad News. Show all posts
Showing posts with label Fatehabad News. Show all posts

Sunday, October 18, 2020

October 18, 2020

शर्मनाक:कोरोना से व्यक्ति की मौत, बिल न देने पर निजी अस्पताल ने 10 घंटे तक नहीं दिया शव

शर्मनाक:कोरोना से व्यक्ति की मौत, बिल न देने पर निजी अस्पताल ने 10 घंटे तक नहीं दिया शव

फतेहाबाद / रतिया : शनिवार को जिले में कोरोना संक्रमण से 50वीं मौत हो गई। हिसार के एक प्राइवेट अस्पताल में उपचाराधीन रतिया उपमंडल के गांव महमड़ा के 45 वर्षीय व्यक्ति ने दम तोड़ दिया। लेकिन परिजनों द्वारा प्राइवेट अस्पताल का भारी भरकंप बिल नहीं दे पाने पर अस्पताल प्रशासन ने परिजनों को मृतक का शव देने से इनकार कर दिया। मृतक के बेटे अमरजीत सिंह, सुरजीत सिंह, मंजीत सिंह का आरोप है कि वे शुगर की बीमारी का इलाज करवाने के लिए मरीज को लेकर गए थे।
उसे कोरोना पॉजिटिव बताकर अस्पताल प्रशासन ने केवल कोरोना का ही इलाज शुरू कर दिया जिसके चलते उसकी मौत हो गई। इतना ही नहीं आरोप है कि बार-बार छुट्टी देने काे कहने के बाद भी डाक्टरों ने मरीज को डिस्चार्ज नहीं किया तथा 3 लाख 24 हजार बिल बना दिया।
परिजनों के अनुसार जब उन्होंने इतने रुपये देने से असमर्थता जताई तो डॉक्टरों ने 1 लाख रुपये देने की बात कही। इसके बाद वे 70 हजार रुपये लेने पर अड़े रहे तथा शव नहीं दिया। इसके बाद जब परिजनों ने विरोध किया तो हिसार प्रशासन के दखल के बाद अस्पताल प्रशासन ने 10 घंटे बाद फतेहाबाद स्वास्थ्य विभाग को मृतक का शव सौंप दिया। यहां बता दें कि 30 सितंबर को घबराहट होने पर मृतक को हिसार के निजी अस्पताल में एडमिट किया गया था। मृतक शुगर की बीमारी से ग्रस्त था।

अक्टूबर में अब तक 13 लोगों की मौत

जिले में अक्टूबर महीने में अब तक 13 कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी है। मरने वालों में अधिकतर गंभीर बीमारियों से ग्रस्त थे। इससे पहले जिले में अगस्त व सितंबर महीने में 29 लोगों की मौत हुई थी।

23 पॉजिटिव मिले, 15 को किया डिस्चार्ज

शनिवार को जिले में 23 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं ठीक होने पर 15 लोगों को डिस्चार्ज किया गया। अब जिले में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 2692 हो गई है। इनमें से 2409 लोग ठीक हो चुके हैं। अब जिले में 233 एक्टिव केस हैं।

शाम 5 बजे दिया था शव : डिप्टी सीएमओ

हमने एंबुलेंस भेजने के आदेश दिए थे। लेकिन बिल नहीं देने की बात के चलते एंबुलेंस देरी से भेजी गई थी। हिसार प्रशासन के लेवल पर मृतक का शव देने का निर्णय हुआ हमें शव शाम 5 बजे मिला। -डॉ. हनुमान, डिप्टी सीमएओ।

Friday, September 18, 2020

September 18, 2020

समीक्षा बैठक:800 से कम लिंगानुपात वाले गांवों में विशेष रूप से जागरूकता अभियान चलाएं

समीक्षा बैठक:800 से कम लिंगानुपात वाले गांवों में विशेष रूप से जागरूकता अभियान चलाएं

कन्या भ्रूण हत्या करना व करवाना महापाप है तथा जघन्य अपराध है। इसके साथ-साथ यह एक कानूनी अपराध भी है। जिला में कन्या भ्रूण हत्या की पूर्ण रोकथाम के लिए हम सभी को अथक प्रयास करने होंगे और धार्मिक-सामाजिक संस्थाओं तथा जन प्रतिनिधियों का सहयोग जरूरी है। यह बात डीसी डॉ. नरहरि सिंह बांगड़ ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान, पीएनडीटी एक्ट, पोक्सो एक्ट सहित विभिन्न महत्वाकांक्षी अभियानों के तहत आयोजित समीक्षा बैठकों की अध्यक्षता करते हुए कहीं।

उपायुक्त डॉ. बांगड़ ने संबंधित विभाग के अधिकारियों से कहा कि वे समय-समय पर कन्या भ्रूण हत्या की रोकथाम के लिए छापामार कार्यवाही करें और जिला के जिन गांवों में 800 से कम लिंगानुपात है, उन गांवों में अधिकारी विशेष रूप से जागरूकता अभियान चलाएं।

उपायुक्त ने संबंधित विभाग के अधिकारियों से कहा कि वे 11 से 14 वर्ष तक की जो भी बच्चियां स्कूल नहीं जा रही हैं उन्हें तुरंत प्रभाव से स्कूल के साथ जोड़ा जाए, ताकि कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित ना रह सके। बैठक में नगराधीश अनुभव मेहता, डीईओ दयानंद सिहाग, सीएमओ डॉ. मनीष बंसल, डीईईओ देवेन्द्र सिंह मौजूद रहे।

Saturday, August 29, 2020

August 29, 2020

मां कोरोना पॉजिटिव आई तो परिवार के सैंपल लेने पहुंची डॉक्टरों की टीम, बेटे वकील ने जमकर गाली-गलौज की और टीम को भगाया।


मां कोरोना पॉजिटिव आई तो सैंपल लेने पहुंची डॉक्टरों की टीम, बेटे वकील ने जमकर गाली-गलौज की और टीम को भगाया।


फतेहाबाद में एक महिला के कोरोना पॉजिटिव मिलने पर उसके परिवार के अन्य सदस्यों का सैंपल लेने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम को विरोध का सामना करना पड़ा। महिला के बेटे ने टीम के साथ जमकर गाली-गलौज की और घर से बाहर निकाल दिया। वह डंडा भी निकाल लाया और पुलिसकर्मियों के साथ होने के बाद भी कोरोना टेस्ट करवाने से साफ मना कर दिया। उसका कहना था कि मर जाउंगा लेकिन टेस्ट नहीं करवाउंगा। अब स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उसके खिलाफ मामला दर्ज करवाया दिया है।मामला फतेहाबाद के गांव धारसूल का है। कुछ दिन पहले एक महिला कोरोना संक्रमित मिली थी। महिला के संक्रमित होने की वजह से स्वास्थ्य विभाग की टीम शुक्रवार को उसके परिवार के अन्य सदस्यों के सैंपल लेने पहुंची। टीम के साथ पुलिसकर्मी भी थे। घर में महिला का बेटा वकील मौजूद था।वह स्वास्थ्य विभाग की टीम को देखते ही जोर-जोर से चिल्लाने लगा और गाली-गलौज करने लगा। डॉक्टर दिनेश ने उसे प्यार से समझाया कि चुपचाप सैंपल दे दें नहीं तो उसके खिलाफ मामला दर्ज करवा दिया जाएगा। इस पर वकील पलटकर बोला कि मैं मर जाउंगा लेकिन सैंपल नहीं दूंगा। तुम्हारे से जो होता है वो कर लो।आरोपी ने स्वास्थ्य विभाग की टीम को घर से खदेड़ दिया।काफी बहस के बावजूद उसने सैंपल नहीं दिया और टीम को घर से खदेड़ दिया। वह लाठी निकाल लाया और जोर-जोर से बोलकर गांववालों को भी इकट्ठा कर दिया। बहसबाजी के बाद भी उसने सैंपल नहीं दिया। मजबूरन स्वास्थ्य विभाग की टीम को वापिस लौटना पड़ा। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो बना लिया। अब उसके खिलाफ थाने में मामला दर्ज करवा दिया गया है।

Friday, August 28, 2020

August 28, 2020

सरेआम गुंडागर्दी:फतेहाबाद में बाइक रुकवाकर 5 युवकों ने बेरहमी से पीटा, पैर तोड़े; वीडियो बनाकर वायरल किया

सरेआम गुंडागर्दी:फतेहाबाद में बाइक रुकवाकर 5 युवकों ने बेरहमी से पीटा, पैर तोड़े; वीडियो बनाकर वायरल किया

फतेहाबाद जिले के बीघड़ रोड पर पांच युवकों ने एक बाइक सवार युवक को रुकवाकर बेरहमी से पीटा। इतना ही नहीं आरोपियों ने इस घटना का वीडियो भी बनाया जो अब वायरल हो रहा है। हालांकि वीडियो में दो आरोपी ही नजर आ रहे हैं लेकिन संख्या 5 बताई जा रही है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मामला पुरानी रंजिश का है।

आरोपियों ने बुरी तरह पीट-पीटकर विकास के पैर तोड़ दिए।

घटना 26 अगस्त की है। आरोपियों ने बीघड़ रोड पर बन्नावाली गांव के रहने वाले विकास को रोक लिया। विकास बाइक पर जा रहा था। आरोपियों की संख्या 5 थी। उन्होंने विकास पर लाठी-डंडों से बेरहमी से वार करना शुरू कर दिया। विकास बाइक से नीचे गिर गया और फिर आरोपियों ने बुरी तरह से पीटा। विकास के पैर तोड़ दिए। बुरी तरह से खून से लथपथ हो गया। पास खड़ा एक आरोपी इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो बना रहा था। अब यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वहीं विकास को घायल अवस्था में फतेहाबाद के सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां से उसे हिसार के अग्रोहा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। पुलिस ने इस मामले में विनोद, सुनील, अजय, नरेश, सुनील पर मामला दर्ज कर लिया है। आरोपियों की अभी तक गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

Thursday, August 27, 2020

August 27, 2020

बढ़ी चिंता:कोरोना से टोहाना के निजी डॉक्टर व बुजुर्ग महिला की मौत, 50 और मिले पॉजिटिव, अब तक 8 मौतें

बढ़ी चिंता:कोरोना से टोहाना के निजी डॉक्टर व बुजुर्ग महिला की मौत, 50 और मिले पॉजिटिव, अब तक 8 मौतें

टोहाना। कोरोना संक्रमित दो रोगियों की मृत्यु उपरांत उनके अंतिम संस्कार के लिए स्वर्ग आश्रम में व्यवस्था करवाते अधिकारी
डॉक्टर का गुरुग्राम में तो महिला का कोविड हॉस्पिटल अग्रोहा में चल रहा था इलाज, 782 लाेग कोरोना संक्रमित

जिले में कोरोना की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है। इसी के चलते जिले में बुधवार को जहां दो लोगों की मौत हो गई वहीं 50 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिले में संक्रमितों की कुल संख्या 782 हो गई है। इनमें से 228 एक्टिव केस हैं तथा 546 लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं टोहाना में एक चिकित्सक व बुजुर्ग महिला की मौत होने से स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ गई है। जिले में अब तक कोरोना से 8 लोगों की मौत हो चुकी है।

गांव अकांवाली में बीते दिन ही एक बुजुर्ग की मौत हुई थी। बुधवार को संक्रमित मिले लोगों में फतेहाबाद की एक सफाई कर्मचारी सहित 10 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं टोहाना में 11, भट्‌टू में 4, रतिया में 11, धारसूल में 1, भूना में 9 जाखल में 5 सहित कुल 50 लोग शामिल हैं।

विधायक दुड़ाराम की दूसरी रिपोर्ट भी निगेटिव

फतेहाबाद हलके सेे विधायक दुड़ाराम और उनकी पत्नी की दूसरी कोरोना रिपोर्ट भी निगेटिव आई है। वहीं उनके सम्पर्क में आए 15 अन्य लोगों की रिपोर्ट भी निगेटिव आई है।

चिकित्सक काे बुखार और वृद्धा काे थी खासी की दिक्कत

शहर में कोरोना संक्रमित एक चिकित्सक व एक वृद्धा की मौत हो गई है जबकि 11 अन्य लोग पॉजिटिव मिले हैं। मृतकों में कक्कड़ नर्सिंग होम के संचालक 78 वर्षीय डॉ. राजेश कक्कड़ तथा भाटिया नगर की करीब 65 वर्षीय सुषमा देवी शामिल हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने रेलवे लाइन के पास के स्वर्गाश्रम में दोनों मृतकों का एक ही समय में अंतिम संस्कार करवाया। मृतक डॉ. राजेश कक्कड़, जोकि शुगर व बीपी के रोगी थे, 16 अगस्त को खांसी बुखार होने पर हिसार जांच के लिए गए। उसके बाद वे उसी दिन गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में जाकर उपचार लेने लगे। डॉ. राजेश कक्कड़ नागरिक अस्पताल के एसएमओ के रूप में भी अपनी सेवाएं दे चुके थे। वहीं सुषमा देवी को कुछ दिन पूर्व खांसी होने पर जांच की गई। जिसमें उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर अग्रोहा रेफर किया गया था। जहां उसकी मौत हो गई। दोनों मृतकों के परिवार के 3-3 सदस्य भी संक्रमित मिले हैं।

रतिया में दो सगे भाइयों समेत 10 लोग मिले संक्रमित

क्षेत्र में दंपती व दो सगे भाइयों सहित 10 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इनमें दो सगे भाई व नहर कालोनी में एक व्यक्ति उसकी पत्नी व बेटा शामिल हैं। नहर कालोनी में 50 वर्षीय व्यक्ति उसकी पत्नी व 11 वर्षीय बेटा कोरोना पॉजिटिव आए हैं। माडल टाउन में 23 व 22 वर्षीय दो सगे भाई संक्रमित मिले है। वार्ड 17 की नहर कालोनी में 24 वर्षीय छात्रा, गांव शहनाल व वार्ड 3 में दो दुकानदार पॉजिटिव आए है। रतिया में कोरोना से पॉजिटिव आने वाले लोगों की संख्या 195 हो गई है।

भट्टूमंडी में एमपी से आए दो मजदूर मिले संक्रमित

बुधवार को भट्टूमंडी की शिव कालोनी में दो प्रवासी मजदूर कोरोना पॉजिटिव आए है। मध्य प्रदेश से 15 वर्षीय और 18 वर्षीय दोनों प्रवासी मजदूर 17 अगस्त को भट्टूमंडी में आए थे। यहां आने के बाद 24 अगस्त को इन दोनों की सैंपलिंग हुई‌ जिनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। दोनों मजदूरों की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उन्हें कोविड केयर सेंटर फतेहाबाद में भर्ती करवाया गया है। जहां उनका उपचार किया जा रहा है।

Sunday, June 7, 2020

June 07, 2020

75 गांवों के गन्ना किसानों की उम्मीद भूना शुगर मिल को लेकर क्या नया चल रहा है, आइए जानते हैं

शुगर मिल का मालिकाना हक वायर एंड सुंदर ग्रुप को सौंप दिया गया है। क्षेत्र के किसान समय समय पर इसे चलाने की गुहार सरकार और जिला प्रशासन से लगा रहे हैं लेकिन किसान शुगर मिल चलने की बाट जोहने वाले धरने प्रदर्शन के बाद में कोरे आश्वासनों के भरोसे बैठे हुए हैं। दूसरी तरह मालिकाना हक लेने वाली कंपनी कुछ और खेल में जुटी है।

हरियाणा के फतेहाबाद जिला अंतर्गत आने वाली भूना शुगर मिल चलने की एक दशक से इंतजार करने वाले लगभग 75 गांवों के किसानों को निराशा हाथ लग रही है। चुनाव के समय ये जरूर एक मुद्दा बनती है लेकिन उसके बाद किसानों को उनके हाल पर छोड दिया जाता है। रोजनेताओं का वोटरों के साथ ये धोखाधडी का सिलसिला कब खत्म होगा कोई नहीं जानता। इसको लेकर खूब आंदोलन भी हो चुके हैं। करीबन हर राजनेता ने मिल के किसानों के साथ घडियाली आंसू बहाकर वोट मांगे हैं लेकिन समाधान आज तक कोई नहीं कर पाया है और गन्ना किसान उम्मीद लगाए बैठे हैं बस। असल में किसानों के साथ राजनीतिक लोगों के धोखे की मिसाल है भूना की शुगर मिल। इस शुगर मिल को निजी हाथों में साैंंपने के बाद भी अब अंदरखाते एक खेल खेलने की तैयारी चल रही है। एक दौर में नामी गिरामी इस मिल को कांग्रेस शासनकाल में निजी हाथों में सौंपा गया था, लेकिन इस मिल को खरीदने वाले भी अब लीपापोती कर इस चलाने की जिम्मेवारी से पल्ला छुडा़ने की तैयारी में हैं। हालांकि इस मिल की बिक्री के समय इसे शर्त के साथ में निजी हाथों में सौंपा गया था। अब जब हरियाणा की मनोहरलाल सरकार फसल विविधिकरण के लिए धान को कम करने की अपील कर रही है, ऐसे में फतेहाबाद भूना क्षेत्र के लगभग 75 गांवों के किसान आज भी इसके चलने के इंतजार में हैं। दूसरी ओर इस मिल को खरीदने वाली पार्टी अब मिल चलाने की शर्त हटवाने के लिए कईं तरह की औपचारिकताएं करने में लगी हुई है।


भरोसेमंद उच्चपदस्थ सूत्रों का कहना है कि सरकार की ओर से इस शुगर मिल का मालिकाना हक वायर एंड सुंदर ग्रुप को सौंप दिया गया है। क्षेत्र के किसान समय समय पर इसे चलाने की गुहार सरकार और जिला प्रशासन से लगा रहे हैं लेकिन किसान शुगर मिल चलने की बाट जोहने वाले धरने प्रदर्शन के बाद में कोरे आश्वासनों के भरोसे बैठे हुए हैं। दूसरी तरह मालिकाना हक लेने वाली कंपनी कुछ और खेल में जुटी है। सूत्र बताते हैं कि चीन मिल चलाने की शर्त पर मिल खरीदने वाली निजी पार्टी अब इसका स्थायी इलाज करने के मूड में हैं। इसके लिए फाइल और लोग घूम रहे हैं। निजी मिल संचालक अब इस इलाके में किसी भी सूरत में शुगर मिल चलाने के मूड में नहीं है। जिसके लिए फाइल पर ग्राउंड तैयार की जा रही है। दूसरी तरफ भूना और फतेहाबाद क्षेत्र के 75 गांवों की पंचायतों ने लिखित में गन्ने की बुआई करने का प्रस्ताव हरियाणा के सरकारी अफसरों के पास लिखित में भेजा है। यहां पर बता दें कि लंबे अर्से से भूना शुगर मिल वाहेद एडं सुंदर ग्रुप को दी थी। पूर्व कांग्रेस सरकार के शासनकाल में इस मिल को इस शर्त के साथ ग्रुप को सौंपा गया था कि वह शुगर मिल को चलाएंगे ताकि क्षेत्र के गन्ना किसानों की फसल शुगर मिल में खरीद हो सके। शुगर मिल प्राइवेट हाथों में सौंपने से लेकर अब तक लगभग डेढ़ दशक का समय निकल गया है उसके बावजूद सरकार और किसानों के हाथ खाली हैं। पंजाब में शुगर मिलों का बड़ा कारोबार करने वाले इस ग्रुप में हरियाणा की भूना शुगर मिल को चलाने की बजाय आप इसकी बिक्री के लिए फाइल चला दी है।


भरोसेमंद उच्च पदस्थ सूत्र बताते हैं कि प्राइवेट पार्टी द्वारा प्रयास किया जा रहा है की लीपापोती कर यह बताया जा सके कि इस क्षेत्र में गन्ने का उत्पादन ही नहीं होता है, जिसके कारण मिल को चलाना बेहद ही मुश्किल बात है। तमाम आंकड़ों और किसानों के प्रस्तावों को दरकिनार करते हुए अब इस मिल को को संचालित नहीं करने और करोड़ों की कीमती जमीन का उपयोग अपने हिसाब से बिक्री करने के लिए ग्रुप के संचालकों ने प्रयास शुरू कर दिए। भूना शुगर मिल छेत्र के 7580 गांवों में आज भी लगभग 3000 हेक्टेयर में गन्ने की फसल पिछले सीजन में लगाई थी। खास बात यह है कि फतेहाबाद भूना क्षेत्र के गन्ने की खेती करने वाले किसान मजबूरी में अपनी गन्ने की फसल को महम और जींद शुगर मिलों में बेचने के लिए ले जाते हैं। इस काम में उनका समय और पैसा दोनों बर्बाद होते हैं, जबकि छोटे किसान अपने गन्ने को ठेकेदारों को जूस की बिक्री के लिए बेचते हैं। एक दौर में अपना अलग मुकाम हासिल करने वाली चीनी मिल आज अपने हाल में पर आंसू बहा रही है। खास बात यह है कि निजी ग्रुप के लोग फतेहाबाद जिले की गुना क्षेत्र की बेशकीमती जमीन को अपने हिसाब से इस्तेमाल करना चाहती है, उनकी मंशा है कि शुगर मिल नहीं चलाई जाए। इसके लिए वे तमाम तरह की औपचारिकताएं और फाइलों में लीपापोती वह जुगाड़ में जुटे हुए हैं।

Saturday, June 6, 2020

June 06, 2020

सोनाली की गिरफ्तारी की मांग के साथ प्रदेशभर में मार्केट कमेटी के अधिकारी और कर्मचारीओ की हड़ताल, बिनैन खाप भी आई समर्थन मे

प्रदेश भर में टिकटॉक स्टार और भाजपा नेत्री सोनाली फोगाट द्वारा मार्केट कमेटी के सचिव सुल्तान सिंह की पिटाई किए जाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। शनिवार को बीजेपी नेत्री के खिलाफ पलवल, फतेहाबाद, हिसार, भिवानी, सिरसा, नारनौल आदि जिलों में मार्केट कमेटी के दफ्तरों के बाहर जोरदार प्रदर्शन हुआ।
Haryana-Bulletin-News-Arrest-Sonali

बीजेपी नेत्री सोनाली फोगाट(Sonali Phogat) द्वारा मार्केट कमेटी सचिव की पिटाई मामले के विरोध में पूरे प्रदेश में मार्केट कमेटी अधिकारी और कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं और सोनाली की गिरफ्तारी की मांग को लेकर धरना(strike) शुरू कर दिया है। मार्केट कमेटी स्टाफ का कहना है जब तक सोनाली फोगाट को गिरफ्तार नहीं किया जाता तब तक अनिश्चितकालीन धरना जारी रहेगा। बीजेपी नेत्री खिलाफ हिसार,भिवानी, नारनौल, सिरसा,फतेहाबाद, कुरुक्षेत्र, झज्जर आदि जिलों में मार्केट कमेटी के दफ्तरों के बाहर जोरदार नारेबाजी हुई। कर्मचारी संगठन भी मैदान में उतर गए हैं और सोमवार से तमाम विभागों में हड़ताल करने का अल्टीमेटम दिया है।
रोहतक में सोनाली फोगाट की गिरफ्तारी की मांग को लेकर मार्केट कमेटी के कर्मचारियों ने प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा है। वहीं हरियाणा की सियासी पार्टियों ने भी इस मामले को तूल देना शुरू कर दिया है। इस मुद्दे को लेकर विपक्ष ने सत्तारूढ़ पार्टी भाजपा पर सवाल खड़ने करने शुरू कर दिए हैं। वहीं हिसार के बालसमंद में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भी प्रदर्शन किया।
भिवानी मेंं सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के नेता सुख दर्शन व मार्केट कमेटी के नेता योगेश कुमार ने कहा कि मार्केट कमेटी के कर्मचारी व अधिकारी कोरोना योद्धा के रूप में सेवा करने का काम कर रहे हैं और बीजेपी नेत्री के द्वारा एक कोरोना योद्धा पर इस प्रकार से हमला करना निंदनीय है। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार तुरंत प्रभाव के साथ सोनाली फोगाट को पार्टी से बाहर निकाल कर ,उनके खिलाफ मामला दर्ज कर और जल्द गिरफ्तार करने का काम करें। अन्यथा सभी कर्मचारी संगठन विरोध स्वरूप सड़कों पर होंगे।

मार्केट कमेटी सचिव सुल्तान सिंह के समर्थन में उतरी बिनैन खाप।


सर्वजातीय बिनैन खाप के अध्यक्ष दादा नफे सिंह नैन की अध्यक्षता में हुई बिनैन खाप की बैठक, सरकार को दिया 72 घंटे का अल्टीमेटम, भाजपा नेत्री सोनाली फौगाट को गिरफ्तार करे प्रशासन, वरना सरकार के खिलाफ बड़ा आंदोलन करेगी बिनैन खाप।


Friday, June 5, 2020

June 05, 2020

बदमाशों ने दिखाया पुलिस को कोरोना का डर आप भी जाने कैसे ?

बदमाशों ने दिखाया पुलिस को कोरोना का डर आप भी जाने कैसे ?

(संजय)फतेहाबाद- कोरोना का डर हर किसी को सता रहा है, लेकिन अब कुछ बदमाश इसे अपना हथियार समझकर इस्तेमाल करने से बाज नहीं आ रहे हैं। ताजा मामला फतेहाबाद से सामने आया है, जहां पहले तो एक बदमाश पुलिस की गिरफ्त से भागने की कोशिश करता है और जब पकड़ा जाता है तो थूकते हुए पुलिस को कोरोना का डर दिखाता है।
दरअसल, पुलिल ने गांव खारा खेड़ के पास से ब्रेजा गाड़ी में सवार तीन बदमाशों को 90 ग्राम हेरोइन के साथ काबू किया था। जिसके बाद पुलिस इन सभी को अस्पताल ले गई, लेकिन वहां से एक बदमाश चकमा देकर फरार हो गया। हालांकि पुलिस ने उसे दोबारा पकड़ लिया, लेकिन जिप्सी में बंद करते समय वो थूकने लगा और पुलिस को करोनो का डर दिखाने लगा। जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया।
फिलहाल इन सभी बदमाशों के खिलाफ पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है और न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। पुलिस ये भी जानकारी जुटा रही है कि इस गोरखधंधे में और कितने लोग शामिल हैं।