Breaking

Showing posts with label Sonipat News. Show all posts
Showing posts with label Sonipat News. Show all posts

Monday, May 3, 2021

May 03, 2021

मजदूरों का पलायन शुरू, बोले यहां रहेंगे तो रोटी भी नही मिलेगी

मजदूरों का पलायन शुरू, बोले यहां रहेंगे तो रोटी भी नही मिलेगी

सोनीपत : प्रदेश सरकार द्वारा एक सप्ताह के लिए पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा के साथ ही प्रवासी मजदूरों ने पलायन शुरू कर दिया है। रविवार को बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर अपना सामान बांधकर बस स्टैंड व रेलवे स्टेशन का रुख करते हुए नजर आए। लॉकडाउन के कारण सवारी न मिलने के कारण प्रवासी मजदूर सिर पर सामान रखकर पैदल ही रेलवे स्टेशन की तरफ जाते दिखाई दिए। प्रवासी मजदूरों ने कहा कि उन्होंने पिछले साल का दंश झेला था, उस समय उन्हें न रोटी मिली थी, ना पानी। इस बार भी कहीं वैसी ही स्थिति पैदा ना हो जाए, इसलिए उससे पहले ही अपने घर जाना चाहते हैं।

वहीं वीकेंड लॉकडाउन के दूसरे दिन शहर की सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। पुलिसकर्मियों ने घर से निकले लोगों से पूछताछ की और सही कारण न बताने पर लोगों को सबक भी सिखाया। पुलिसकर्मियों ने लोगों से कहा कि जरूरी हो तभी घर से निकले। बेवजह घूमने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा। पुलिस की सख्ती का ही नतीजा रहा कि ज्यादातर सड़कों पर सुबह से ही सन्नाटा पसरा रहा। मुख्य मार्गों पर वाहनों की आवाजाही जारी रही। नाकों पर तैनात पुलिस कर्मचारियों ने सभी वाहनों को रुकवाकर घर से बाहर निकलने का कारण पूछा और आईकार्ड की जांच करने के बाद ही वाहनों को जाने की अनुमती प्रदान की। जो लोग बिना वजह ही घरों से बाहर निकल रहे थे, उनके चालान भी किए गए। पुलिस की सख्ती का ही असर रहा कि लोग पुलिस से बचने के लिए गलियों के रास्तों से निकलते हुए नजर आए। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि लॉकडाउन के नियमों की अवहेलना करने वालों के खिलाफ सख्ती बरती जाएगी।

Friday, April 30, 2021

April 30, 2021

टैटू बनाने की दुकान में चल रहा था हुक्का बार, पुलिस ने मारा छापा, देखें फिर क्या हुआ

टैटू बनाने की दुकान में चल रहा था हुक्का बार, पुलिस ने मारा छापा, देखें फिर क्या हुआ

सोनीपत : सिविल लाइन थाना क्षेत्र के गांधी चौक पर टैटू बनाने की दुकान की आड़ में हुक्का बार चलाने का मामला सामने आया हैं। पुलिस ने टीम का गठन कर छापेमारी कार्रवाई करते हुए सात आरोपितों को काबू किया हैं। जिनमें से छह आरोपित हुक्का बार पर हुक्का पी रहे थे। आरोपित कोविड नियमों की अवहेलना करते हुए टैटू की दुकान में चल रहे हुक्का बार को शाम छह बजे के बाद भी खोला गया था। पुलिस ने मामले में हुक्का बार को जारी आदेशों के साथ ही कोविड-19 को लेकर जारी डीसी के आदेशों की अवहेलना का मुकदमा दर्ज कर लिया है। एसआई लोकेश ने सिविल लाइन थाना पुलिस को बताया कि वह टीम के साथ गांधी चौक के पास गश्त कर रहे थे। इसी दौरान सूचना मिली कि गांधी चौक के पास ही न्यू लूक टैटू के नाम से चलाई जा रही दुकान की आड़ में हुक्का बार चलाया जा रहा है। गांव कुमासपुर निवासी सुमित उर्फ टैटू दुकान में टैटू गोदने का काम करता है, लेकिन साथ ही इसकी आड़ में हुक्का बार चला रहा है। प्रदेश में सरकार ने वर्ष 2010 से हुक्का बार पर प्रतिबंध लगा रखा है। साथ ही कोविड संक्रमण के चलते डीसी ने शाम छह बजे के बाद दुकान बंद करने के आदेश दे रखे हैं। उसके बावजूद वह कोविड नियमों की अवहेलना भी कर रहा है। जिस पर एसआई ने उच्च अधिकारियों को अवगत कराकर तुरंत रेड के लिए टीम तैयार की। पुलिस ने रेड की तो सुमित उर्फ टैटू वहीं मिला। वह वहां बैठे युवकों को कह रहा था कि हुक्का पी लो यह बिना निकोटिन के तंबाकू का है। पुलिस ने सुमित समेत छह अन्य युवकों को पकड़ लिया। उनकी पहचान आशीष उर्फ आशी, आशुतोष उर्फ आंशू, साहिल, विक्रम, प्रशांत उर्फ शीलू व आरव के रूप में हुई। पुलिस ने मौके से चार कांच के हुक्के, चार चिलम, हुक्का पाइप, 500 ग्राम निकोटिन तंबाकू मिला। पुलिस ने मामले में धारा 188 के साथ ही 4 (2) पॉयजन एक्ट-1919 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने आरोपितों को जमानत पर छोड़ दिया

Thursday, February 18, 2021

February 18, 2021

जींद में सोनीपत की सीआईए टीम से मारपीट, वर्दी भी फाड़ी

जींद में सोनीपत की सीआईए टीम से मारपीट, वर्दी भी फाड़ी

जींद :  जींद जिले के गांव बुढाखेड़ा भारतीय रिसर्च एंड ब्रडिंग फार्म पर मुकद्दमें में वांछित व्यक्ति को पकड़ने आई सोनीपत की सीआईए वन स्टाफ के साथ आरोपित व उसके साथियों ने हाथापाई की। जिसमे एक पुलिस कर्मी के कपड़े फट गए, हाथापाई का फायदा उठाकर आरोपित फरार होने में कामयाब हो गया। सदर थाना सफीदों पुलिस ने पुलिस पार्टी का नेतृत्व कर रहे सब इंस्पेक्टर की शिकायत पर चार लोगों के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने, पुलिस कर्मियों से मारपीट करने समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।
फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। सोनीपत सीआईए वन के सब इंस्पेक्टर अनिल कुमार के नेतृत्व में पुलिस पार्टी गोहाना थाना में दर्ज मामले में वांछित गांव बुढाखेड़ा निवासी नरेंद्र को पकड़ने के लिए पहुंची थी। सीआईए स्टाफ के साथ रिमांड पर चल रहा आरोपित गांव कासंडी निवासी जसबीर भी था। जिस समय पुलिस पार्टी गांव बुढाखेडा भारतीय रिसर्च एंड ब्रडिंग फार्म पर पहुंची तो नरेंद्र बाहर बैठा हुआ मिला। जब पुलिस कर्मियों ने नरेंद्र को पकड़ा तो उसके द्वारा शोर मचाए जाने पर उसके तीन अन्य साथी आ गए। जिस पर नरेंद्र व उसके साथी पुलिस कर्मियों के साथ हाथापाई पर उतर आए।
एक व्यक्ति ने गाड़ी रास्ते में खड़ी कर पुलिस की गाड़ी के रास्ते को रोक लिया। इसी बीच पुलिस पार्टी ने सदर थाना सफीदों से पुलिस बल भेजने के लिए कहा। जब तक सफीदों पुलिस मौके पर पहुंचती तब तक नरेंद्र व उसके साथी दीवार फांदकर फरार हो चुके थे। सदर थाना सफीदों पुलिस ने सब इंस्पेक्टर अनिल कुमार की शिकायत पर गांव बुढाखेड़ा निवासी नरेंद्र, रविंद्र, राजू तथा धर्मबीर के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने, पुलिस कर्मियों से मारपीट करने समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।सदर थाना सफीदों प्रभारी संजय कुमार ने बताया कि सीआईए वन सोनीपत पुलिस पार्टी का नेतृत्व कर रहे सब इंस्पेक्टर की शिकायत पर चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। आरोपितों की धर पकड़ के लिए छापेमारी की जा रही है।

Sunday, February 7, 2021

February 07, 2021

नौदीप कौर की गिरफ्तारी के पीछे किसान आंदोलन नहीं कुछ और ही है...

नौदीप कौर की गिरफ्तारी के पीछे किसान आंदोलन नहीं कुछ और ही है...

सोनीपत : दलित श्रम अधिकार एक्टिविस्ट और मजदूर अधिकारी संगठन की सदस्य नौदीप कौर की गिरफ्तारी पर लगातार सवाल उठ रहे हैं, लेकिन उनकी गिरफ्तारी का किसान आंदोलन से कोई लेना-देना नहीं है। नौदीप कौर  को जबरन वसूली, दस्तावेज छीनने व पुलिस पर हमला करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। एसपी सोनीपत रणदीप सिंह रंधावा ने इन आरोपों से इंकार किया है। उन्होंने कहा कि यह पहली बार नहीं है, जब नौदीप कौर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया।
इससे पहले भी उनके खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं। नौदीप कौर पर लगाये गये कोई भी आरोप झूठे नहीं हैं। क्योंकि फैक्टरी परिसर से मिले सीसीटीवी फुटेज में नौदीप कौर मारपीट करते हुए देखी गई हैं। वहीं लगभग 25 दिन से जेल में बंद नौदीप कौर  की जमानत याचिका दो बार खारिज कर दी गई है। जमानत के लिये अगली सुनवाई 8 फरवरी को होगी। इस बीच नौदीप कौर  की छोटी बहन राजवीर कौर ने इन आरोपों का खंडन किया है। राजवीर कौर का दावा है कि उनकी बहन को झूठे आरोपों में फंसाया गया है। उन्होंने कहा कि 'मेरी बहन मजदूर और दलित अधिकार कार्यकर्ता है।
वो फैक्टरी में कुछ मजदूरों की मजदूरी दिलाने के लिये गई थीं, लेकिन कारखाना मालिक ने उन पर गोली चलवा दी, इसकी शिकायत करने का प्रयास किया गया, लेकिन सुनवाई नहीं हुई। वहीं अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस की भतीजी मीना हैरिस ने एक ट्वीट में दावा किया  कि पुलिस हिरासत में नौदीप कौर  को यातनाएं और यौन उत्पीड़न किया गया। उन्होंने यह भी दावा किया है कि उन्हें 20 दिनों के लिए जमानत के बिना हिरासत में लिया गया। पंजाब के मुक्तसर साहिब के तहत गांव ग्यानंदर की रहने वाली नौदीप कौर  के पिता का नाम सुखदीप सिंह है।
नौदीप कौर को 12 जनवरी 2021 को आईपीसी की धारा 148, 149, 323, 452, 384 और 506 के तहत गिरफ्तार किया गया था। नौदीप कौर  पर कुंडली पुलिस स्टेशन में इन धाराओं में एफआईआर दर्ज कराई गई थी। ये एफआईआर पीड़ित ललित खुराना की शिकायत के बाद दर्ज की गई थी, जो एक प्राइवेट कंपनी में एकाउंटेंट हैं। पुलिस को दी गई तहरीर में लिखा गया था कि नौदीप कौर  के साथ दो अन्य महिलाओं सहित 50 लोगों ने कंपनी कार्यालय पर धावा बोलते हुए अवैध रूप से पैसे की मांग की।
जब पैसे देने से इनकार किया, तो आरोपी ने हंगामा कर दिया। पुलिस के पास जब फोन किया, तो आरोपियों ने अपने गुर्गों के साथ मिलकर मारपीट  शुरू कर दी। इस दौरान पुलिस जब मौके पर पहुंची, तो पुलिस के साथ भी झड़प हुई. पुलिस के जवान से उसकी बंदूक और दस्तावेज छीनने का प्रयास किया गया। विरोध करने पर पुलिस पर भी हमला कर दिया गया, जिसमें इंस्पेक्टर रवि कुमार और दो कांस्टेबल घायल हो गये। इस मामले में नौदीप कौर को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस अन्य छह आरोपियों की गिरफ्तारी के लिये प्रयास कर रही है। 

Sunday, September 13, 2020

September 13, 2020

जेईई मेन्स की परीक्षा में सोनीपत के छोरे का कमाल, ऑल इंडिया की जनरल कैटेगरी में छठा रैंक

जेईई मेन्स की परीक्षा में सोनीपत के छोरे का कमाल, ऑल इंडिया की जनरल कैटेगरी में छठा रैंक

सोनीपत : जेईई मेन्स की परीक्षा में सोनीपत के हर्षवर्धन अग्रवाल ने प्रदेश का नाम रोशन किया है। हर्षवर्धन ने ऑल इंडिया की जनरल कैटेगरी में 100 प्रर्सेंटाइल प्राप्त कर छठा रैंक हासिल किया है। हर्षवर्धन की उपलब्धि पर परिवार में खुशी का माहौल है। लाडले की उपलबि पर परिजनों का बधाई देने वालों का दिन भर तांता लगा रहा। हर्षवर्धन शहर के जानकीदास स्कूल का छात्र है। वह नौवीं कक्षा से ही इंजीनियरिंग  का सपना संजोए भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) मुंबई में दाखिला लेने के लिए बेहतर पढ़ाई कर रहा है। इसी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए हर रोज 10-12 घंटे पढ़ाई कर रहा है।

जनवरी मास में हुई जेईई मेन की परीक्षा में हर्षवर्धन ने ऑल इंडिया में छठा रैंक प्राप्त किया है। साथ ही इसी माह के अंत में होने वाले जेईई एडवांस की परीक्षा की भी तैयारी कर रहा है, ताकि उसका आइआइटी में दाखिला हो सके। इससे पहले गत वर्ष हर्षवर्धन के बड़े भाई मदन अग्रवाल का आइआइटी में दाखिला हुआ था, उसने जेईई एडवांस में ऑल इंडिया में 14 रैंक प्राप्त किया था। हर्षवर्धन के पिता महावीर प्रसाद अग्रवाल भारतीय संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) में बतौर डीजीएम (डिप्टी जनरल मैनेजर) हैं, जो फिलहाल स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति स्कीम (वीआरएस) ले चुके हैं। इनकी माता सीमा अग्रवाल शहर के हिंदू कॉलेज में प्रोफेसर हैं। बेटे की उपलब्धि माता-पिता फूले नहीं समा रहे। उन्होंने बताया कि हर्षवर्धन शुरू से ही पढ़ाई में अव्वल रहा है।

 इससे पहले एनटीएसई स्टेज-1 में वह हरियाणा टॉपर रहा था। एनटीएसई स्टेज-2 में क्वालिफाइड इन 2017 रहा। केवीपीवाई एसए स्ट्री में 61वां रैंक हासिल किया। आरएमओ 2017, 2018 क्वालिफाइड किया। 2019 में आईएनएओ व आईएनपीएचओ क्वालिफाइड किया। यही नहीं हर्षवर्धन अग्रवाल ने इसराइल में हुए 50वें (आईंपीएचओ)ओलिंपियाड में भारत का प्रतिनिधित्व किया। पांच विद्यार्थियों की इस टीम ने उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए सिल्वर मेडल प्राप्त किया और वैश्विक स्तर पर अपनी पहचान बनाई। इस प्रतियोगिता में 78 देशों से 400 विद्यार्थियों ने भाग लिया था। उनकी इस उपलब्धि के लिए हरियाणा स्टेट कॉउन्सिल फॉर साइंस एंड टेक्नोलॉजी पंचकूला द्वारा 'जैन मंदिर स्कूल, सोनीपत में हुए कार्यक्रम में मुख्य अतिथि द्वारा 3 लाख नकद एवं प्रशस्ति पत्र से उसे सम्मानित किया था। विद्यालय प्रबंधन ने भी हर्षवर्धन को उसकी उपलब्धि पर बधाई दी है।

Thursday, September 3, 2020

September 03, 2020

दिल्ली से सटे मुरथल के सुखदेव व गरम-धरम ढाबे पर 81 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव

दिल्ली से सटे मुरथल के सुखदेव व गरम-धरम ढाबे पर 81 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव

सोनीपत :  दिल्ली से सटे हरियाणा के सोनीपत में मुरथल के दो मशहूर ढाबे कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। सुखदेव ढाबे के 71 कर्मचारी और गरम-धरम ढाबे पर 10 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इन दोनों ढाबों को अगले आदेश तक सील कर दिया गया है। दोनों ढाबे पर कुल 81 कर्मचारी संक्रमित हुए हैं। इन सभी कर्मचारियों का आरटी पीसीआर टेस्ट किया गया था। 

मिली जानकारी के अनुसार, सुखदेव ढाबे पर काम करने बाहर से आए 71 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। किसी में कोई लक्षण नहीं होने के कारण सभी को उनके घरों में क्वारंटाइन कर दिया गया है। मामले की सूचना पर एसडीएम विजय सिंह मौके पर पहुंचे और जरुरी दिशा-निर्देश दिया। 

ढाबे के संचालक ने बताया कि एहतियात के तौर पर ढाबे को दो दिन के लिए बंद कर दिया गया है और उसे सैनिटाइज किया जा रहा है। उप सिविल सर्जन व ग्रामीण क्षेत्र की नोडल अधिकारी डॉ. गीता दहिया ने बताया कि सुखदेव ढाबा पर काम करने वालों के सैंपल की जांच की गई थी। उसमें ढाबे के कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।

319 कर्मचारियों के लिए गए थे सैंपल

जिले में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। बृहस्पतिवार को भी मुरथल के मशहूर सुखदेव ढाबा पर एकदम से कोरोना विस्फोट हुआ। ढाबा काम करने के लिए आए 71 कर्मचारी व श्रमिक कोरोना संक्रमित पाए गए। उप सिविल सर्जन डॉ. दहिया ने बताया कि एसडीएम के निर्देश पर ढाबा पर काम करने वाले कर्मचारी व श्रमिकों के सैंपल लेने का काम चल रहा था। 31 अगस्त को सुखदेव ढाबा के संचालक ने उन्हें बताया था कि उन्होंने अभी बाहर से भी कुछ कामगार बुलाए हैं। उन्होंने उनके भी सैंपल लेने का अनुरोध किया था। इस तरह ढाबे पर करीब 319 कर्मचारियों के सैंपल लिए गए थे। इनमें 71 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसकी सूचना ढाबा संचालक को दे दी गई है।

ढाबा संचालक ने बताया बिहार से आए थे कर्मचारी

उधर, ढाबा संचालक अमरीक सिंह ने बताया कि उन्होंने चार दिन पहले बिहार से बस के द्वारा करीब 100 कामगारों को बुलाया था। ये कामगार पहले भी उनके पास काम करते थे और लॉकडाउन के दौरान अपने घर चले गए थे। सभी ढाबा के साथ लगते क्वार्टर में ठहरे हुए थे। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग से सभी का कोरोना जांच करने का अनुरोध किया था। इस पर सभी के सैंपल लिए गए थे। इनमें से ही 71 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

हालांकि इनमें किसी प्रकार का कोई लक्षण नहीं है। उन्होंने बताया कि पॉजिटिव आने वालों ने अभी ढाबा पर काम शुरू नहीं किया था। फिर भी सूचना मिलते ही बृहस्पतिवार दोपहर बाद से उन्होंने एहतियात के तौर पर ढाबा को दो दिन के लिए बंद कर दिया है और उसे सैनिटाइज करने का काम शुरू कर दिया है।

Sunday, August 30, 2020

August 30, 2020

पहले छलकाया जाम, फिर गर्दन काट किया काम-तमाम

पहले छलकाया जाम, फिर गर्दन काट किया काम-तमाम

सोनीपत : गांव जुआं में खेतों में गए युवक की गंडासी से गर्दन काटकर हत्या  कर दी गई। युवक अपने परिचित युवकों संग गांव के पास स्थित एक खेत में ट्यूबवेल पर गया था। वहां से पुलिस ने शराब की बोतल व अन्य सामान बरामद किया है।
आशंका है कि शराब पीने के दौरान हुए झगड़े में युवक की हत्या की गई है। पुलिस ने फिलहाल युवक की मां के बयान पर अज्ञात हमलावरों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस हमलावरों का पता लगाने का प्रयास कर रही है।
गांव जुआं का रहने वाला सूरज (23) खेतीबाड़ी करता था। सूरज के पिता की बिजेंद्र की आठ साल पहले मौत हो चुकी है और उसके परिवार में मां, छोटा भाई व बहन हैं। वह शुक्रवार को घर से गया तो वापस नहीं लौटा।

शनिवार की रात करीब दस बजे उसे गांव में देखा गया था। वह एक दुकान से नमकीन लेकर गया था। वह रातभर घर नहीं पहुंचा तो सूरज की मां और भाई ने उसके बारे में आसपास पता किया, लेकिन कोई जानकारी  नहीं मिल सकी। वह मोबाइल नहीं रखता था। परिजनों ने सोचा कि किसी दोस्त के पास चला गया होगा। रविवार तडके करीब पांच बजे ग्रामीणों ने देखा कि गांव के बाहर खेत में ट्यूबवेल के कमरे के बाहर सूरज का शव पड़ा है।
उसकी गर्दन काटकर हत्या की गई थी। उसके पास ही गंडासी भी पड़ी थी। जिस पर खून लगा था। सूचना पर पहुंचे मोहाना थाना प्रभारी श्रीभगवान व उनकी टीम ने जांच की तो वहां पर शराब की बोतल (जिसमें थोड़ी शराब बची थी), गिलास, कोल्ड ड्रिंक्स व नमकीन के पैकेट पड़े थे।

अंदेशा है कि सूरज अपने परिचितों के साथ आया था। रात को उन्होंने शराब पी थी और उसी दौरान हुए झगड़े में उसकी गंडासी से वार कर हत्या कर दी गई। शव के पास ही गंडासी पड़ी मिली। पुलिस ने सूरज की मां रेखा के बयान पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। साथ ही पता लगाया जा रहा है कि सूरज के साथ रात को कौन था। जिससे हत्यारोपियों का पता लगाया जा सके।
वर्जन
युवक की तेजधार हथियार से गर्दन पर वार कर हत्या की गई है। शव के पास ही गंडासी पड़ी मिली है। उस पर खून लगा है। उसे कब्जे में ले लिया गया है। युवक की मां के बयान पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। पता लगाया जा रहा है कि युवक रात को किसके साथ था। जल्द मामले का पटाक्षेप किया जाएगा। - श्रीभगवान सिंह, थाना प्रभारी मोहाना। 
August 30, 2020

हरियाणा के इस स्कूल में लगा कोरोना रोधी सेटअप, देश का पहला...

हरियाणा के इस स्कूल में लगा कोरोना रोधी सेटअप, देश का पहला...  

सोनीपत। देश का पहला ऐसा स्कूल देखने में आया है, जहां विद्यार्थियों के लिए कोरोना संक्रमण रोधी आधुनिक सेटअल लगाया गया है। निकट भविष्य में कोरोना महामारी खत्म नहीं होने की आशंका के चलते स्कूलों को वायरस रोधी सैटअप से लैस किया जाने लगा है। हरियाणा का सोनीपत जिला इस मामले में सबसे आगे निकल गया है।
यहां के एक निजी स्कूल में विद्यार्थियों की सुरक्षा के लिए बेहद आधुनिक सैटअप लगाया गया है। खास बात यह है कि इस सैटअप में चाइनीज प्रोडक्ट्स को दरकिनार करते हुए देसी व मित्र देशों के प्रोडक्ट्स इस्तेमाल किए गए हैं। स्कूल के प्रवेश द्वार पर ही डिजिटल टर्न स्टाइल गेट बनाए गए हैं। ये गेट केवल स्वस्थ विद्यार्थी का ही स्कूल में प्रवेश होने देंगे।
इस तरह का यह देश में पहला सैटअप है। माना जा रहा है कि इससे सीख लेकर दूसरे स्कूल भी इस प्रणाली को अपना सकते हैं। कोविड-19 सुरक्षित परिसर का उद्घाटन 29 अगस्त को सुबह 11 बजे केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल बतौर मुख्यातिथि करेंगे। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि हरियाणा सरकार के शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर होंगे। 
स्कूल के प्रवेश द्वार पर भीतर जाने के लिए टर्न स्टाइल डिजिटल गेट (घूमने वाले दरवाजे) लगाए गए हैं, जिनमें प्रवेश करते ही विद्यार्थी का फोटो वहां लगी एलईडी. पर आ जाएगा और उसका तापमान प्रदर्शित होने लगेगा। यदि विद्यार्थी का तापमान ज्यादा है तो सायरन बजेगा और गेट नहीं खुलेगा। ऐसे में विद्यार्थी को वापस जाना होगा। वहीं हर 100 मीटर पर सैनिटाइजर मशीनें लगाई गई हैं, जो पदचालित हैं। कक्षाओं में ऐसे प्रकाश पुंज लगाए गए हैं, जो वहां मौजूद विषाणुओं व कीटाणुओं को नष्ट कर देंगे।  
स्कूल के चेयरमैन आशीष आर्य ने बताया कि परिसर में मुख्य प्रवेश द्वारों पर थर्मल स्कैनर व टैब्स भी लगे हैं। जगह-जगह पर हैंड सैनिटाइजर, हैंड्स फ्री वाश बेसिन लगाए गए हैं। स्कूल की प्रधानाचार्या आशा गोयल ने बताया कि कक्षाओं में सोशल डिस्टैंसिंग बनाए रखने के लिए फर्नीचर में परिवर्तन किए गए हैं एवं यूवीसी लैंप लगाए गए हैं, जो रात को कमरों को कीटाणु रहित करने में कार्यात्मक होंगे। स्कूल बसों में भी यूवीसी. लाइट स्ट्रिप लगाई गई हैं। पानी के नल पद संचालित कर दिए गए हैं एवं सभी कक्षाओं के दरवाजों पर पैरों से खोलने के लिए पैडल लगाए गए हैं। 

Friday, August 28, 2020

August 28, 2020

दसवीं की छात्रा के साथ छह माह तक दुष्कर्म, गर्भवती होने पर चला पता

दसवीं की छात्रा के साथ छह माह तक दुष्कर्म, गर्भवती होने पर चला पता

सोनीपत : शहर थाना क्षेत्र की रहने वाली दसवीं कक्षा की छात्रा के साथ छह माह तक दुष्कर्म  करने का मामला सामने आया है। अब छात्रा गर्भवती  हुई तो परिजनों को पता लगा। जिस पर पुलिस को अवगत कराया। पुलिस  ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। वहीं आरोपित व उसके परिजनों के रात को भागने के दौरान छात्रा के परिजनों व अन्य लोगों ने उसे पकड़ लिया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। 
सिटी थाना क्षेत्र में किराए पर रहने वाली महिला ने बताया कि उसकी बेटी 10वीं कक्षा की छात्रा है। उसकी बेटी के साथ मूलरूप से मध्यप्रदेश व फिलहाल उनके पड़ोस में रहने वाले युवक सुशील ने दुष्कर्म किया है। महिला ने बताया कि युवक ठेकेदार के पास काम करता है। करीब छह महीने पहले उसने उसकी बेटी को अकेला पाकर उसके साथ दुष्कर्म किया था। आरोपी ने उसकी बेटी को बताया था कि उसकी अश्लील वीडियो बना ली है। वह उसे वायरल करने की धमकी देकर कई बाद दुष्कर्म करता रहा। उसने छात्रा को शादी करने का भी भरोसा दिया। 25 अगस्त को छात्रा की तबियत बिगड़ी तो परिजन उसे लेकर सामान्य अस्पताल में पहुंचे। जहां उसके करीब चार माह की गर्भवती होने का पता लगा। जिस पर छात्रा ने पूरे मामले से परिजनों को अवगत कराया।
आरोप है कि जब युवक के परिजनों को इस बारे में कहा तो उन्होंने 20000 रुपये देने और चुप रहने की धमकी दे डाली। किशोरी की मां ने पुलिस को बताया। पुलिस ने दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कर लिया। इसी बीच रात को आरोपी ने सामान लेकर भागने का प्रयास किया तो लड़की के परिजनों व लोगों ने उसे दबोच लिया। युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

Sunday, August 23, 2020

August 23, 2020

अर्जुन अवॉर्ड की लिस्ट से नाम हटाए जाने पर सवाल उठाने वाली ओलिंपियन साक्षी मलिक से तीखे सवाल, कहा-सरकार ने हकीकत छुपाई है,बड़ी नौकरी बता छोटी ऑफर की

अर्जुन अवॉर्ड की लिस्ट से नाम हटाए जाने पर सवाल उठाने वाली ओलिंपियन साक्षी मलिक से तीखे सवाल, कहा-सरकार ने हकीकत छुपाई है,बड़ी नौकरी बता छोटी ऑफर की

हरियाणा बुलेटिन न्यूज़ :साक्षी मलिक ने केंद्र व राज्य सरकार की मंशा पर सवाल उठाए,खेल मंत्री से पूछा-अर्जुन अवाॅर्ड के लिए कौन सा मेडल जीतकर लाऊं

सोनीपत : देश की पहली ओलिंपिक मेडलिस्ट पहलवान साक्षी मलिक ने अर्जुन अवॉर्ड से उनका नाम बाहर किए जाने के बाद केंद्र व राज्य सरकार की मंशा पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने देश के खेल मंत्री से पूछा है कि अर्जुन अवाॅर्ड के लिए कौन सा मेडल जीतकर लाऊं। वहीं, उन्होंने कहा है कि हरियाणा सरकार ने भी जॉब के नाम पर एमडीयू खेल निदेशक की बात कह कुश्ती की खेल निदेशक बनने का ऑफर देकर गुमराह किया। उन्होंने राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड समेत कई सम्मान मिलने और जॉब का ऑफर मिलने के बावजूद क्यों सवाल उठाए, पढ़िए सवाल जवाब।
Q. आपको जब अर्जुन अवाॅर्ड से बड़ा खेल रत्न मिल चुका है तो सवाल उठाना कितना जायज है?
A. वह मेरे लिए महज एक अवाॅर्ड नहीं है, बल्कि वह ख्वाहिश है जो मैंने खेल जीवन की शुरुआत में की थी।
Q. आपके खिलाड़ी साथियों का कहना है कि कोई एमए के बाद बीए करता है क्या?
A. राजीव गांधी खेल रत्न अवाॅर्ड का अपना महत्व है, लेकिन अर्जुन अवाॅर्ड के मायने ही अलग हैं। सरकार चाहे तो नीति में बदलाव कर सकती है अथवा कहे कि वे इस अवाॅर्ड के लिए और क्या करें। वैसे अवाॅर्ड के लिए तय मापदंड के मुताबिक पदक ताे पहले ही जीत चुकी हूं।
Q. आपका कहना है कि सरकार ने 'न जमीन दी, न नौकरी', जबकि अनिल विज ने कहा है कि आपने ही नौकरी का ऑफर रिफ्यूज की?
A. यह गलत बात है। हकीकत को छुपाया गया। सरकार ने एमडीयू के खेल निदेशक की नहीं बल्कि विवि में कुश्ती खेल की निदेशक की जॉब ऑफर की थी। जबकि कुछ खिलाड़ियों को छोटी प्रतियोगिता में मेडल के बावजूद जाॅब में प्रमोट किया जा रहा है। खेल नीति में साफ है कि ओलिंपिक मेडलिस्ट को पांच सौ गज जमीन दी जाएगी, मैं कई साल से प्रयास कर रही हूं, लेकिन नहीं मिली।
Q. आपका कहना है कि आपकी उपलब्धियों को सरकार नजरअंदाज कर रही है?
A. क्योंकि मेरे साथ निरंतर ऐसा हो रहा है। चाहे बात जॉब की हो या जमीन की अथवा अब अवाॅर्ड की। जब दूसरे खिलाड़ियों को सम्मानित पद दिए जा रहे हैं।
August 23, 2020

गड़बड़ी:7.5 करोड़ के रिटर्न को भेजे 150 करोड़ के फर्जी बिल, डेढ़ माह पहले पकड़ी थी फर्जी बिलिंग

गड़बड़ी:7.5 करोड़ के रिटर्न को भेजे 150 करोड़ के फर्जी बिल, डेढ़ माह पहले पकड़ी थी फर्जी बिलिंग

सोनीपत के फर्म संचालक को दस्तावेजों में हेर-फेर का दोषी माना

रोहतक : साेनीपत जिले के एक कारोबारी ने जीएसटी विभाग में रजिस्ट्रेशन कराने के एक माह में बादाम के तेल का कारोबार कागजों पर 150 करोड़ रुपए दिखाकर साढ़े सात करोड़ की जीएसटी चोरी का प्रयास किया। कारोबारी ने मारुति ट्रेडर्स के नाम से जनवरी 2020 में विभाग में रजिस्ट्रेशन कराया था, लेकिन 5 महीने तक संचालक ने कारोबार की जीएसटी रिटर्न फाइल नहीं की।
छठे महीने जैसे ही संचालक ने फाइल रिटर्न की ताे रोहतक जीएसटी आयुक्तालय की एंटी एवेजन शाखा के उच्चाधिकारियों की ओर से किए जा रहे सर्वे में जुटी टीम की इस पर नजर पड़ गई। टीम काे जीएसटी चाेरी का संदेह हुआ। जांच में जीएसटी चाेरी का भेद खुल गया। उच्चाधिकारियों ने टीम गठित कर सोनीपत के फर्म संचालक की तलाश शुरू कर दी है।
आयुक्तालय के उच्चाधिकारी बताते हैं कि टीम ने सोनीपत में जाकर फर्म के पते की जांच की तो वहां पर कुछ नहीं मिला। साढ़े 7 करोड़ रुपए का इनपुट टैक्स क्रेडिट की राशि फर्म संचालक के खाते में सरकार की ओर से ट्रांसफर की जाती इससे पहले आयुक्तालय के कमिश्नर विजय मोहन जैन के आदेश पर आरोपी के फर्म के नाम पर खुले बैंक खाते फ्रीज कर दिए गए। रोहतक आयुक्तालय की टीम की ओर से फर्जीवाड़ा पकड़ने के बाद आरोपी फर्म संचालक ने ग्रेटर नोएडा में फेक बिल लेने का फर्जीवाड़ा किया है। अब गिरफ्तारी को टीमें गठित की हैं।

78 फेक बिलों से कच्चा माल खरीदना दिखाया

आयुक्तालय के जांच अधिकारी बताते हैं कि सोनीपत की फर्म मारुति ट्रेडर्स के संचालक ने एक 78 फेक इनवाइस के जरिए बादाम का तेल तैयार करने के लिए कच्चा माल खरीदना दिखाया। चंद दिनाें में 150 कराेड़ रुपए का कारोबार रिटर्न में दिखा दिया। आरोपी फर्म संचालक सरकार की ओर से दी जाने वाली साढ़े सात करोड़ की इनपुट टैक्स क्रेडिट की राशि पाने के लिए क्लेम करता, इससे पहले की एंटी एवेजन शाखा के उच्चाधिकारियों ने कार्रवाई करते हुए नुकसान से बचा लिया।

जून 2019 में सोनीपत में मिला था 38 करोड़ रुपए की जीएसटी चोरी का केस

सीजीएसटी विभाग की एंटी एवेजन टीम ने जून 2019 में साेनीपत जिले के आरोपी फर्म संचालक को दो बाेगस फर्म शाह इंपैक्स व ऑर्चिड ओवरसीज नाम से सीजीएसटी विभाग में रजिस्ट्रेशन कराकर जीएसटी नंबर लिया था। आरोपी ने दो साल में 18 शहरों में 142 लोगों को फेक इनवाइस जारी कर 254 करोड़ रुपए का टर्न ओवर दिखाया। इसके बाद सरकार से 38 करोड़ रुपए के इनपुट टैक्स क्रेडिट का भुगतान पाने के लिए क्लेम कर दिया। प्रारंभिक जांच में मामला संदेहास्पद लगा, जिस पर सीजीएसटी कमिश्नर विजय मोहन जैन व तत्कालीन अपर आयुक्त महेंद्र सिंह ने एंटी इवेजन टीम के प्रभारी व अपर आयुक्त अनिल रावल को फर्म के पते पर जाकर वेरिफिकेशन करने को कहा। 18 जून 2020 को टीम सोनीपत में फर्म के पते पर पहुंची तो वहां पर एक बैंक्वेट हॉल मिला। आरोपी फर्म संचालक को हिरासत में लेकर पूछताछ करने के बाद सुनारिया जेल भेज दिया था। अब जमानत पर है।

Friday, August 21, 2020

August 21, 2020

गोशाला में बिन ब्याहे दूध दे रही जन्मजात अंधी बछड़ी

सोनीपत : गोशाला में बिन ब्याहे दूध दे रही जन्मजात अंधी बछड़ी

गोशाला के सचिव  राम कुमार गर्ग ने बताया कि बछड़ी एक बार भी ब्याही नहीं है। इस के बावजूद वह सुबह और शाम दूध दे रही है। गोशाला का धारिया शकील 15 अगस्त को तब दंग रह गया जब उसने बछड़ी के नीचे एक नवजात बछड़े को खड़े देखा और वह छोटा बछड़ा बड़े आराम से दूध पी रहा था।

 गोहाना : शहर में देवीनगर स्थित श्रीकृष्ण आदर्श गोशाला में एक जन्मजात अंधी बछड़ी बिन ब्याहे दूध दे रही है। बछड़ी के दूध देने का ज्ञान 5 दिन पहले तब हुआ जब एक गाय मर गई और उसका बछड़ा उक्त 3 साल की बछड़ी (calf) के थनों से दूध पीता मिला। यह बछड़ी वर्तमान में सुबह और शाम, दोनों वक्त डेढ़-डेढ़ लिटर दूध दे रही है।
गोशाला के सचिव राम कुमार गर्ग ने बताया कि बछड़ी एक बार भी ब्याही नहीं है। इस के बावजूद वह सुबह और शाम दूध दे रही है। गोशाला का धारिया शकील 15 अगस्त को तब दंग रह गया जब उसने बछड़ी के नीचे एक नवजात बछड़े को खड़े देखा और वह छोटा बछड़ा बड़े आराम से दूध पी रहा था।
वस्तुत: उस छोटे बछड़े की मां अचानक मर गई थी। शकील ने बछड़ी की थनों के ऊपर की लोटी देखी तो उसे यकीन हो गया कि बछड़ी बिन ब्याहे दूध दे सकती है। गर्ग ने दावा किया कि पहली बार जब बछड़ी को दुहा गया, उसने तब 2.500 लिटर दूध दिया।
उसके बाद से वह दोनों समय सुबह-शाम डेढ़-डेढ़ लिटर दूध दे रही है। पशु विशेषज्ञों से भी सम्पर्क  किया गया, पर कोई यह नहीं बता पाया कि बिन ब्याहे बछड़ी दूध दे कैसे रही है। सचिव ने खुलासा किया कि बछड़ी जन्म से अंधी है तथा कोई व्यक्ति इसे गोााला में छोड़ गया था।

Monday, August 17, 2020

August 17, 2020

TikTok पर वीडियो डालती थी युवती, युवक के कमेंट्स पढ़कर हुआ प्यार, अब थाने में पहुंच गया केस

TikTok पर वीडियो डालती थी युवती, युवक के कमेंट्स पढ़कर हुआ प्यार, अब थाने में पहुंच गया केस

सोनीपत : सोनीपत में एक युवती TikTok पर वीडियो बनाकर डालती थी, जिसके बाद युवती को दिल्ली के एक युवक से प्यार हो गया। युवती को युवती ने शादी का झांसा दिया और दुष्कर्म करता रहा। अब आरोपी दिल्ली निवासी आकाश मुकर गया, जिसके बाद युवती ने पुलिस थाने में शिकायत दी है।

युवती सोनीपत में किराये के मकान में रहती है और चाइनीज एप Tiktok पर वीडियो बनाकर डालती थी। युवती के वीडियो पर दिल्ली का एक युवक कमेंट करने लगा, जिसके बाद धीरे-धीरे दोनों की दोस्ती हो गई। कुछ ही समय में दोस्ती प्यार में बदल गई और दोनों ने एक साथ जीने मरने की कसमें खाने लगे।
युवती का आरोप है कि दिल्ली निवासी आकाश ने उसे मिलने के लिए बुलाया था। जिसके बाद आकाश ने उसे शादी करने का वादा किया और उसके साथ दुष्कर्म किया। युवती का आरोप है कि आरोपी आकाश ने उसे एक सप्ताह तक घर में रखा था और दुष्कर्म करता रहा, जिसके बाद उसने घर से निकाल दिया।

पीड़िता ने मामले की शिकायत पुलिस को दी। पुलिस ने इस संबंध में आरोपित के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया हैं। पुलिस में युवती का मेडिकल करवाकर कोर्ट में बयान दर्ज करवाएं हैं। पुलिस आरोपित की तलाश कर रही हैं।
पुलिस ने बताया कि युवती ने शिकायत दी है कि दिल्ली के आकाश नामक युवक के साथ उसकी दोस्ती टिकटोक पर हुई थी, जिसके बाद आकाश ने उसे दिल्ली बुला लिया था और उसके साथ एक हफ्ते रहा और दुष्कर्म किया।

जांच अधिकारी एसआई उषा ने बताया कि पीड़िता के बयान पर आरोपितों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया। मामले में कार्यवाही करते हुए पीड़िता का मेडिकल करवाकर अदालत में बयान दर्ज करवाए। मुकदमा दर्ज कर लिया शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने की शिकायत मिली थी।
आरोपित के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया हैं। मामले की गंभीरता से जांच की जा रही हैं। जल्द आरोपित को काबू कर आगामी कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।

Tuesday, August 11, 2020

August 11, 2020

बरोदा उपचुनाव में जात-पात की राजनीति करने वालों को सिखाऐंगे सबक : छाबड़ा

बरोदा उपचुनाव में जात-पात की राजनीति करने वालों को सिखाऐंगे सबक : छाबड़ा


सोनीपत। बरोदा उपचुनाव को लेकर बढ़ती सरगर्मियों में सोनीपत शहर की कार्यकारिणी भी सक्रिय हो गई है। मंगलवार को शहरी कार्यकारिणी की एक बैठक सुभाष चौक स्थित कांग्रेस भवन में वरिष्ठ नेता व पूर्व नगर परिषद के चेयरमैन अशोक छाबड़ा की अध्यक्षता में आयोजित हुई। बैठक में बरोदा उपचुनाव को लेकर जिम्मेदारी सौंपते हुए छाबड़ा ने कार्यकर्ताओं से मजबूत व अलर्ट रहने का आह्वान किया। पूर्व चेयरमैन अशोक छाबड़ा ने भाजपा को विकास विरोधी पार्टी बताते हुए कहा कि भाजपा की सरकार अपने 6 साल प्रदेश में पूरे करने वाली है, लेकिन सोनीपत शहर में ऐसा कोई कार्य नहीं किया, जिसके लिए भाजपा की सराहना की जा सके। उन्होंने कहा कि जब भी चुनाव नजदीक आते हैं, तभी इस पार्टी के नेता बड़ी-बड़ी घोषणा करनी शुरू कर देते हैं। उसी का नतीजा है कि आज गरीब आदमी पेट भरने के लिए सडक़ पर रोजगार ढूंढ़ रहा है। कर्मचारियों से उनका रोजगार छिना जा रहा है, सुविधा का नाम देकर हर तरह के टैक्स बढ़ाए जा रहे हैं। छाबड़ा ने कार्यकर्ताओं को नसीहत देते हुए कहा कि साफ सुथरी राजनिति करें न कि भाजपा की तरह जात-पात की। भाजपा ऐसे ही जात-पात की राजनीति करती रही तो उसे सबक सिखाने का काम करेंगे। गठबंधन सरकार पर निशाना साधते हुए छाबड़ा ने कहा कि लोगों को उम्मीद थी कि गठबंधन सरकार गरीब की आवाज बनकर काम करेगी, लेकिन जिस तरह से गठबंधन सरकार में घोटाले सामने आ रहे हैं, इससे साफ होता है कि इस सरकार ने चंद पैसे के लिए काफी घोटाले किए हैं। प्रदीप गौतम ने कार्यकर्ताओं को कहा कि वे बरोदा उपचुनाव को लेकर तैयार रहे। बैठक के दौरान सीमा गोयल ने महिलाओं को बरोदा उपचुनाव में सहयोग की जिम्मेदारी सौंपते हुए कहा कि वे पूरी मजबूती से मैदान में उतरें और कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए महिलाओं को पार्टी की विचारधारा से प्रेरित करें। प्रदीप गौतम, भूपेन्द्र गहलावत, प्रेमनारायण व अनुज छाबड़ा आदि ने भी बैठक के दौरान अपनी बात रखी।

Wednesday, July 22, 2020

July 22, 2020

डीएसपी व एसआई लगवाने का झांसा दे 1.18 करोड़ ठगे,केंद्रीय मंत्री का बताया रिश्तेदार

डीएसपी व एसआई लगवाने का झांसा दे 1.18 करोड़ ठगे,केंद्रीय मंत्री का बताया रिश्तेदार

सोनीपत। शहर के हलवाई हट्टा की रहने वाली महिला ने चंडीगढ़ के व्यक्ति पर  परिचितों को पुलिस में नौकरी लगवाने के नाम पर एक करोड़ 18 लाख रुपए ठगने का आरोप लगाया है। महिला ने बताया कि 16 रिश्तेदारों को डीएसपी,एसआई,  चपरासी की नौकरी लगवाने का झांसा देकर यह ठगी की गई। आरोपी ने खुद को एक केंद्रीय मंत्री का रिश्तेदार बताया। साथ ही उन्हें बताया कि वह चंडीगढ़ विधानसभा में उच्च पद पर नियुक्त है। लेकिन आरोपी की असलियत का पता चला तो वह दंग रह गए। पुलिस ने तीन के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

महिला सुनीता हलवाई हट्टा शहर सोनीपत ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि पंचकूला निवासी चैन सिंह ने नौकरी लगवाने के नाम पर उनके साथ एक करोड़ 18 लाख की ठगी की है। आरोपी ने झांसा दिया कि वह किसी भी राज्य में पुलिस महकमे में गारंटी के साथ भर्ती करा देगा। महिला ने बताया कि उसने अपने परिचितों और रिश्तेदारों को भर्ती कराने के लिए कागजात आरोपी को सौंप दिए थे। लेकिन रकम लेने के बाद भी आरोपी ने काम नहीं किया। 

डीएसपी लगवाने के नाम पर 40 लाख, एसआई के नाम पर 20 लाख रुपए लिए

महिला ने बताया कि आरोपी ने उनसे डीएसपी लगवाने के नाम पर  40 और एसआई के लिए 20 लाख रुपए लिए। जबकि चपरासी के लिए चार लाख और क्लर्क के लिए आठ लाख रुपए। 

16 लोगों को लगवाने के नाम पर की ठगी

शिकायतकर्ता सुनीता के बताया कि आरोपी ने उसके रिश्तेदारों व परिवार के 16 लोगों को भर्ती करवाने का झांसा देकर ठगी की है।  आरोप लगाया कि चैन सिंह के साथ उसके दो बेटे भी इस ठगी को करने में शामिल हैं।

पीड़िता ने कहा- आरोपी के खिलाफ ठोस सबूत महिला ने दावा किया उनके पास आरोपी की ऑडियो रिकार्डिंग के ठोस सबूत हैं। आरोपी ने खुद को केंद्रीय मंत्री का रिश्तेदार बताने के साथ ही प्रदेश के एक मंत्री से भी अच्छे संबंध होने की बात कही थी। पुलिस अब इन सबूतों की भी जांच करेगी।
सोनीपत के  सिटी थाना प्रभारी संदीप ने कहा कि मामले में शिकायत मिलने के बाद केस दर्ज कर लिया है। जल्दी ही मामले की गहनता से जांच कर सच्चाई का पता किया जाएगा। महिला ने जो आरोप लगाए हैं उसमें एक करोड़ 18 लाख ठगने का आरोप है। नौकरी लगवाने के नाम पर यह ठगी की गई।

Tuesday, July 7, 2020

July 07, 2020

घर से चार दिन से लापता लड़की का शव बरामद

सोनीपत। तीन जुलाई से लापता 20 वर्षीय मानसी का शव तालाब से बरामद किया गया है। सूचना मिलने पर पुलिस को घटना की जानकारी दी गई। जानकारी मिलने के बाद पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई और शव को तालाब से बाहर निकालकर पोस्टमार्टम के लिए शव गृह में रखवा दिया है। साथ ही घटना की जानकारी परिजनों को दे दी है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सोनीपत के गोहाना इलाके के बीधल गांव की 20 वर्षीय मानसी बीए प्रथम वर्ष में पढ़ती थी, जोकि तीन जुलाई को किसी काम से बाहर गई थी। काफी देर बाद न लौटने पर परिजनों ने उसकी तलाश की तो वह नहीं मिली। परिजनों ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवा दी।

Wednesday, July 1, 2020

July 01, 2020

खाकी पर हमला / रात में गश्त पर निकले दो पुलिस कर्मियों की हत्या, पुलिस ने वारदात स्थल पर एक्टिव फोन नंबरों को ट्रेस कर जींद में एक बदमाश को मार गिराया

खाकी पर हमला / रात में गश्त पर निकले दो पुलिस कर्मियों की हत्या, पुलिस ने वारदात स्थल पर एक्टिव फोन नंबरों को ट्रेस कर जींद में एक बदमाश को मार गिराया

गोहाना :बदमाशों के हमले में मारे गए एसपीओ कप्तान सिंह बुटाना पुलिस चौकी से 800 मीटर दूर वारदात के बाद पुलिस ने जींद में किया एनकाउंटर एसपीओ व कांस्टेबल की हत्या करने वाले बदमाशों से जींद में मुठभेड़, एक की मौत, 4 पुलिस कर्मी घायल मुठभेड़ में दो इंस्पेक्टर सहित 4 पुलिसकर्मी भी घायल, एक इंस्पेक्टर की हालत गंभीर

सोनीपत. गोहाना के बुटाना पुलिस चौकी से गश्त पर निकले एसपीओ कप्तान व सिपाही रवींद्र से बदमाशों का शराब पीने को लेकर विवाद हुआ था। बताया गया कि बदमाश रास्ते में शराब पी रहे थे। टोकने पर विवाद हुआडंडा लेकर निकले दोनों सिपाहियों ने धारदार हथियारों से लैस बदमाशों से बहादुरी से संघर्ष किया। पुलिस को मौके से शराब की बोतले भी मिली है। सिपाही रवींद्र के दाएं हाथ पर एक गाड़ी का नंबर लिखा मिला है। यह नंबर हरियाणा का ही है।
कप्तान और रविंद्र बुटाना चौकी में करीब डेढ वर्ष से कार्यरत थे। मौके पर पहुंचे डीजीपी मनोज यादव के आदेश पर हत्यारों की तलाश के लिए 8 टीमें गठित की गई। शाम तक पुलिस जींद के रोहतक रोड स्थित भगवान नगर से बदमाशों दो बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया और एक बदमाश अमित को मार गिराया। इसमें चार पुलिस कर्मी भी घायल हो गए। ये बदमाश पहले से ही अपराधी हैं।

एसपी जश्नदीप सिंह रंधावा ने बताया कि एसपीओ व सिपाही ने शराब पी रहे अमित व इसके साथियों को देख लिया था। दोनों ने आरोपियों को शराब पीने से मना किया तो बदमाशों ने तेजधार हथियार से हत्या कर दी। देर शाम पुलिस ने इनकी गिरफ्तारी को लेकर रेड की। तभी आरोपियों ने पुलिस पर हमला कर दिया। पुलिस ने भी बचाव में गोली चलाई, जिसमें आरोपी अमित की मौत हो गई। जबकि संदीप को पकड़ लिया गया। आरोपी अमित जो मारा गया, यह अपराधी था।

*पुलिस चौकी से मात्र 800 मीटर दूर वारदात*

वारदात बुटाना पुलिस चौकी से 800 मीटर दूर हुई। आरोपियों ने एसपीओ कप्तान की छाती, गर्दन, सिर पर वार किए। जबकि सिपाही रविंद्र की गर्दन व सिर पर वार कर रखे हैं। दोनों के शव एक दूसरे से 20 कदम दूर पड़े थे। एसपीओ का शव पीठ के बल तो सिपाही का शव सीधे मुंह पड़ा था।

*4 घंटे पहले एसपीओ ने बेटे से बात की थी*

एसपीओ कप्तान के बेटे अंकित गांव कलावती सफीदों ने बताया उसके पापा पहले औद्योगिक सुरक्षा बल में थे। 25 जुलाई 2017 एसपीओ के पद पर नियुक्त हुए। पिता ने सोमवार रात फोन पर उसे कहा था कि वह मंगलवार को घर आएंगे। अंकित ने बताया पिता ने खेत में सिंचाई करने की बात भी कही थी। परिजनों ने बताया कप्तान इकलौता पुत्र था। उसकी चार बहनें हैं। अंकित भी कप्तान की इकलौती संतान है।
सिपाही का पिता बेटे के शव को देख चीख पड़ा : सिपाही रविंद्र के पिता भीम सिंह बुढ़ा खेड़ा सफीदों जींद ने बताया वह इकलौता पुत्र था। उसकी दो बहनें हैं। रविंद्र की शादी अभी नहीं हुई थी। उस पर पूरे परिवार की जिम्मेदारी थी। यह कहकर भीम सिंह चीख पड़ा।

*पुलिस के हाथ बस यह एक सबूत*

सिपाही रवींद्र का खून जहां पड़ा था, वहां से हत्यारों ने गाड़ी निकाली। गाड़ी के टायर खून से सन गए। खून से सने टायर के निशान छोटी कार के हैं। यह गाड़ी आरोपियों ने गोहाना शहर की तरफ मोड़ रखी है।
हरियाली सेंटर के बंद गेट के सामने एक कोल्ड ड्रिंक डयू की बोतल, पानी की बोतल व दो शराब की बोतल ब्लंडर प्राइज के रैपर मिले हैं। एसपीओ कप्तान का मोबाइल हाथ में मिला है। शायद वह फोन से किसी को सूचना देना चाह रहा था, लेकिन सिपाही रवींद्र का मोबाइल नहीं मिला।
रविंद्र ने अपने हाथ पर एक गाड़ी का नंबर लिख रखा था, वह गाड़ी हरियाणा की थी, यह गाड़ी बदमाशों की हो सकती है।

*इसलिए पड़े कमजोर : गश्त के दौरान नहीं थे हथियार*

दोनों की बदमाशों से झड़प होने के निशान भी मिले हैं। लेकिन डंडे के दम पर पुलिस कर्मी बदमाशों का मुकाबला नहीं कर पाए। रात के समय गश्त के दौरान पुलिस कर्मियों के पास हथियार नहीं था। रविंद्र के शव के पास एक डंडा पड़ा था। पुलिस अधिकारियों का कहना है की सामान्य गश्त के दौरान पुलिस कर्मियों को हथियारों की आवश्यकता नहीं होती है।

कांस्टेबल का मोबाइल भी नहीं मिला, नंबर के आधार पर निकाली लोकेशन

सूत्रों के अनुसार कांस्टेबल रविंद्र ने अपने हाथ पर एक गाड़ी का नंबर लिख रखा था। रविंद्र का मोबाइल भी नहीं था। पुलिस ने घटना स्थल पर वारदात के समय एक्टिव फोन नंबरों को ट्रेस किया तो लोकेशन जींद में मिली। सोनीपत साइबर व सीआईए-2 की टीम को जींद के रोहतक रोड स्थित भगवान नगर में एक मकान में छिपे चार बदमाशों की लोकेशन मिली। टीम ने घेराबंदी की तो बदमाशों ने चाकू व हथियारों से हमला कर दिया।

 शाम करीब साढ़े छह बजे जींद के रोहतक रोड स्थित भगवान नगर में हुई मुठभेड़ में पुलिस की गोली से जींद के भिवानी रोड निवासी अमित घायल हो गया था, जिसकी बाद में मौत हो गई।

पुलिस को बचाव में फायरिंग करनी पड़ी। इस दौरान पुलिस की गोली से जींद के भिवानी रोड निवासी अमित की मौत हो गई। जींद के बीबीपुर निवासी संदीप व एक अन्य को पकड़ लिया। जबकि विकास भाग निकला। इस मुठभेड़ में इंस्पेक्टर प्रशांत व अनिल, एसआई मंदीप व सिपाही राजेश घायल हो गए। इनको सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया। इंस्पेक्टर अनिल की गंभीर हालत को देख उन्हें रोहतक पीजीआई रेफर किया गया है। गिरफ्तार बदमाशों से पूछताछ की जा रही है।

Friday, June 19, 2020

June 19, 2020

गला दबाकर की गई थी महिला की हत्या ,पोस्टमार्टम में हुआ खुलासा

सोनीपत : खरखौदा थाना क्षेत्र के गांव बिधलान के पास रिढाऊ माइनर में मिले महिला की शव का पोस्टमार्टम पुलिस ने करवाया हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में महिला की गला दबाकर हत्या  करने का खुलासा हुआ हैं। महिला के गले में चुनरी बंधी हुई मिली थी। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज  कर लिया हैं। पुलिस शव  की तलाश के प्रयास कर रही हैं। पुलिस व्हाट्सएप ग्रुप व अन्य चौकी थानों में गुमशुदगी की दर्ज हुई शिकायतों की जांच कर रही हैं। ताकि महिला के शव की शिनाख्त हो सके। गत रविवार को बिधालान के पास रिढाऊ माइनर में महिला का शव पड़ा देखकर लोगों ने पुलिस को सूचना दी थी। पुलिस मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में ले लिया था। महिला के गले में चुनरी बंधी हुई थी, जिसकी उम्र करीब 30 वर्ष लग रही है। पुलिस ने उसकी पहचान के लिए आसपास के लोगों को बुलाकर पूछताछ की थी, लेकिन पहचान नहीं हो सकी थी। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाया तो उसकी गला दबाकर हत्या किए जाने की पुष्टि हुई है। जिस पर पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस को आशंका है कि उसके गले में बंधी मिली चुनरी से ही उसकी हत्या की गई है। पुलिस शव की पहचान के लिए प्रयास में जुट गई है। पुलिस आसपास के थानों में पता लगा रही है कि महिला की गुमशुदगी की रिपोर्ट तो दर्ज नहीं की गई है। पुलिस ने गांव रिढाऊ के ऋषिपाल के बयान पर मुकदमा दर्ज किया है। शव की शिनाख्त नहीं हो सकी शव का पोस्टमार्टम करवाया गया हैं। पोस्टमार्टम में महिला की गला दबाकर हत्या करने की पुष्टि हुई हैं। शव की शिनाख्त नहीं हो सकी हैं। जिसके चलते अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया हैं। जल्द शिनाख्त कर आगामी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। - धर्मेंद्र, प्रभारी फरमाणा चौकी।

Wednesday, June 3, 2020

June 03, 2020

बाजार क्षेत्रों में सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए हरियाणा सरकार ने नगरपालिका सीमाओं को जारी की मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी)


(मनोज)चंडीगढ़, 3 जून- हरियाणा सरकार ने 30 जून, 2020 तक नगरपालिका सीमाओं के भीतर बाजार क्षेत्रों में सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की है।

प्रात: 9 बजे से सायं 7 बजे खुलेगी दुकाने

शहरी स्थानीय निकाय विभाग के एक प्रवक्ता ने आज इस संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि रात्रि 9 बजे से सुबह 5 बजे तक लोगों के आवागमन के संबंध में लगाए गए रात्रि कफ्र्यू का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक वस्तुओं के अलावा सभी अनुमत दुकानें प्रात: 9 बजे से सायं 7 बजे तक खुलेंगी। ऐसे सभी बाजार क्षेत्रों में आने वाले सभी लोगों अर्थात् दुकानदारों के साथ-साथ आगंतुकों या ग्राहकों को बाजार क्षेत्रों में सामाजिक दूरी (दो गज की दूरी) सुनिश्चित करनी होगी। उन्होंने बताया कि दुकानदारों को हाथ के संपर्क से बचने के लिए दस्ताने और मास्क पहनने होंगे और मानव संपर्क में आने वाले सभी बिंदुओं जैसे कि दरवाजे, हैंडल आदि को बार-बार सेनेटाइज करना होगा।

दुकान में एक समय पर दुकानदार, हेल्पर और ग्राहक सहित 5 से अधिक व्यक्ति न हो 

उन्होंने बताया कि दुकानदारों को अपनी दुकानों पर कम से कम स्टाफ को बुलाना होगा ताकि दुकानों पर भीड़ न हो और वे अपने स्टाफ को वैकल्पिक रूप से पारियों में बुला सकते हैं। बड़े प्रवेश बिंदुओं और एसी दुकानों पर सुरक्षा गार्ड को सैनेटाइजर और थर्मल स्कैनर उपलब्ध किया जाना चाहिए। उन्होंने बताया कि दुकानदार और सेल्समेनस को ग्राहकों को अटेंड करते हुए हमेशा मास्क पहनना होगा और यह सुनिश्चित करना होगा कि कोई भी ग्राहक थर्मल स्कैनिंग, सैनेटाइजेशन और मास्क के बिना दुकान में प्रवेश न करे। यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि दुकान में एक समय पर दुकानदार, हेल्पर और ग्राहक सहित 5 से अधिक व्यक्ति उपस्थित नहीं हों।
प्रवक्ता ने बताया कि ग्राहकों या आगंतुकों को मास्क पहनना होगा और उन्हें आपस में कम से कम छ: फीट की दूरी रखते हुए कतार में खड़े होने को कहा जाएगा। दुकानों के बाहर नियमित आधार पर आवश्यक दूरी पर गोले बनाए जाएंगे ताकि ग्राहक या आगंतुक वहां खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार कर सकें। उन्होंने बताया कि बाजार के प्रवेश और निकास बिंदुओं पर थर्मल स्केनिंग प्रणाली के साथ अस्थायी अवरोधक बनाए जाएं ताकि ग्राहकों या आगंतुकों के आवागमन के दौरान सामाजिक दूरी सुनिश्चित की जा सके।

खुले या बाजार क्षेत्रों में थूकने पर चालान

उन्होंने स्पष्ट किया कि नगरपालिका के कर्मचारी ऐसे बाजार स्थलों या क्षेत्रों की दिन और रात के समय नियमित अंतराल पर उचित सफाई और स्वच्छता सुनिश्चित करेंगे। इसके अलावा, खुले या बाजार क्षेत्रों में थूकने पर चालान किया जाएगा। जन साधारण या ग्राहकों को जागरूक करने के लिए दुकानदारों या स्ट्रीट वेंडर्स को ‘आरोग्यसेतु मोबाइल एप’ डाउनलोड करने के लिए एक पब्लिक नोटिस लगाना होगा और वे उन्हें एप डाउनलोड करने और नियमित रूप से इस एप पर अपनी स्वास्थ्य स्थिति को अपडेट करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। इसके अलावा, दुकानदार यह सुनिश्चित करेंगे कि उनके सभी कर्मचारी आरोग्यसेतु मोबाइल एप इंस्टॉल करें और उसका नियमित रूप से उपयोग करें।

प्रवक्ता ने बताया कि यदि किसी नगर निगम के अधिकार क्षेत्र में भीड़भाड़ वाले बाजारों में केन्द्रीय गृह मंत्रालय द्वारा निर्धारित किए गए सामाजिक दूरी बनाए रखने के मानदंडों को लागू करना संभव नहीं है तो संबंधित उपायुक्त द्वारा संबंधित नगर निगम के आयुक्त के परामर्श से बाजारों आदि में 50 प्रतिशत दुकाने खोलने जैसे प्रोटोकॉल को अधिसूचित करने के लिए आवश्यक उपाय किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि बाजार खोलने के दौरान सभी नगर पालिका क्षेत्रों (नगरनिगमों/परिषदों /समितियों) में सामाजिक दूरी के साथ-साथ स्वच्छता बनाए रखने के सभी मानकों का पालन करना आवश्यक होगा।

होम डिलीवरी का कार्य रात्रि 8.30 बजे तक

उन्होंने बताया कि फूड रेस्तरां और फूड एग्रीगेटर्स जैसे ज़ोमेटो, स्विगी आदि को खाद्य पदार्थों की होम डिलीवरी के लिए रसोई संचालित करने की अनुमति है। रसोई चलाने की अधिकतम समय सीमा सायं 8 बजे होगी और सभी माध्यमों से होम डिलीवरी का कार्य रात्रि 8.30 बजे या इससे पहले पूरा किया जाना सुनिश्चित करना होगा ताकि कोई भी डिलीवरी बॉय रात्रि 9 बजे के बाद बाहर सडक़ों पर न हो। ऐसी रसोइयों में खाना बनाते समय स्वच्छता के सभी मानकों का पालन सुनिश्चित करना होगा, जिसमें मास्क, दस्ताने, टोपी आदि पहनना  शामिल है। यह भी सुनिश्चित करना होगा कि रसोई में काम करने वाले स्टाफ या डिलीवरी बॉयज़ को कोई बीमारी या सर्दी-जुकाम का कोई लक्षण नहीं है। उन्होंने बताया कि मालिक द्वारा दैनिक आधार पर स्टाफ की थर्मल स्कैनिंग और नियमित आधार पर मेडिकल चैकअप किया जाना भी सुनिश्चित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि होम डिलीवरी के दौरान डिलीवरी बॉयज़ के लिए दस्ताने और मास्क पहनना अनिवार्य होगा। साथ ही, वस्तुओं की डिलीवरी करते समय उन द्वारा ग्राहकों के हस्ताक्षर या अंगूठे का निशान नहीं लिया जाएगा। अदायगी के लिए ऑनलाइन इलेक्ट्रॉनिक मोड पर बल दिया जाएगा ताकि संपर्क से बचना और सामाजिक दूरी बनाए रखना सुनिश्चित किया जा सके। इसके अलावा, नगर पालिकाओं को भी इन दिशानिर्देशों का प्रचार-प्रसार करने का प्रयास करना चाहिए ताकि दुकानदार या रेहड़ीवालों या फल और सब्जी विक्रेताओं आदि को सामाजिक दूरी बनाए रखने के बारे में जागरूक किया जा सके।
नगरपालिकाएं ई-मेल suda.haryana@yahoo.co.in पर दैनिक 
उन्होंने बताया कि इन दिशा-निर्देशों को लागू करने के लिए उपायुक्त द्वारा गठित संयुक्त टीमें जारी निर्देशों के अनुसार व्यापक जाँच करेंगी और उल्लंघनकर्ताओं का चालान करना सुनिश्चित करेंगी। नगरपालिकाएं ई-मेल suda.haryana@yahoo.co.in पर दैनिक समेकित रिपोर्ट भेजेंगी।
प्रवक्ता ने बताया कि नाई एवं मिठाई की दुकानों और बैंक्वेट या मैरिज हॉलस के संबंध में पहले से जारी दिशा-निर्देश ही लागू रहेंगे। ऐसे बाजार, जहां दैनिक आधार पर दुकानें खोलने पर कोई प्रतिबंध नहीं है, वहां लॉकडाउन से पहले प्रचलित साप्ताहिक बंद प्रणाली लागू होगी। हालांकि, भीड़भाड़ वाले बाजार, जहां दुकानों को रोजाना खोलने पर प्रतिबंध है, वहां 22 मई, 2020 के निर्देशों में साप्ताहिक बंद की शर्त को शामिल किया गया है।
उन्होंने बताया कि एसओपी का अनुपालन करते हुए केन्द्रीय गृह मंत्रालय द्वारा 30 मई, 2020 को जारी लॉकडाउन संबंधी दिशानिर्देशों का भी पूरी तरह से पालन करना होगा और इनमें कोई छूट नहीं दी जाएगी। सभी नगरपालिकाओं द्वारा इनका व्यापक प्रचार-प्रसार करने की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने बताया कि अब तक ये निर्देश दुकानों को खोलने से संबंधित हैं और इन्हें खोले रखने की अवधि आवश्यक वस्तुओं की दुकानों पर लागू नहीं होगी।
प्रवक्ता ने बताया कि केन्द्रीय गृह मंत्रालय द्वारा कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन की अवधि को 30 जून,2020 तक बढ़ा दिया गया है और कंटेनमेंट जोन के बाहर के क्षेत्रों में चरणबद्ध ढंग से (अनलॉक-1) निषिद्ध गतिविधियों को फिर से खोला जाएगा। इसके अलावा, जिला प्रशासन द्वारा कंटेनमेंट जोन में दुकानों आदि को बंद करने से संबंधित लगाए गए प्रतिबंध आगामी आदेशों तक लागू रहेंगे।